Advertisement

मधुमेह के रोगी कौन-से फल खा सकते हैं?

मधुमेह के रोगी(diabetic patient) के लिए सबसे ज़रूरी होता है उनके अपने खान-पान और जीवन शैली पर ध्यान देना। खान-पान ऐसा होना चाहिए कि वह पौष्टिकता से पूर्ण हो यानि खाद्द में विटामिन, मिनरल, एन्टीऑक्सिडेंट्स (antioxidants), फाइटोनूट्रीअन्ट्स (phytonutrients) आदि सब कुछ भरपूर मात्रा में हो। लेकिन साथ ही एक बात पर ध्यान देना ज़रुरी होता है कि फल और सब्जी जो भी खायें उससे शरीर में ब्लड-शुगर का स्तर नहीं बढ़ना चाहिए। पढ़े: 5 सामान्य तरीकों से मधुमेह (डाइबीटिज) को नियंत्रित करें

फल के बारे में एक अच्छी बात यह है कि इसमें लो-ग्लिसेमिक इन्डेक्स ( यह व्यक्ति के शरीर में ब्लड-ग्लुकोज़ के स्तर को आकलित करने की एक संख्या है) होता है जो ब्लड-शुगर के स्तर को नियंत्रित मात्रा में रखने में मदद करता है। फल चाहे स्वाद में कितना भी मीठा हो उसके ग्लिसेमिक इन्डेक्स(glycemic index) की मात्रा चॉकलेट, मिठाई से कम ही होता है। यहाँ तक कि स्नैक्स में, तले हुए खाने में भी कार्बोहाइड्रेड की मात्रा सबसे ज़्यादा होती है। इसलिए समझबुझकर मधुमेह के रोगी को खाद्द का चयन करना चाहिए। पढ़े: मधुमेह के रोगी के लिए शारीरिक व्यायाम क्यों ज़रूरी होता है

मधुमेह के रोगी को ऐसे फल का चुनाव करना चाहिए जो ऊर्जा और पौष्टिकता से भरपूर होने के साथ शरीर में ब्लड-शुगर के स्तर को नियंत्रित भी रखे-

Also Read

More News

स्ट्रॉबेरी: यह एक ऐसा फल है जिसको एक कटोरी तक खा लेने पर भी ग्लिसेमिक इन्डेक्स कम ही रहता है और यह देर तक पेट को संतृप्त रखने में मदद करता है। यह ऊर्जायुक्त तो होता ही है साथ ही ब्लड-शुगर को नियंत्रित रखता है। यह शरीर को फ्री-रैडिकल्स के क्षति से बचाता है जिसके कारण कैंसर को रोकने में भी मदद करता है।

सेब: यह मधुमेह के रोगी के लिए आदर्श स्नैक्स होता है। यह पेक्टिन नामक घुलनशील फाइबर का मूल स्रोत होता है जो कोलेस्ट्रोल के मात्रा को कम करने के साथ-साथ ब्लड-शुगर को भी नियंत्रित करने में पूरी तरह से मदद करता है। इसका एन्टी-इन्फ्लैमटॉरी (anti-inflammatory) गुण मधुमेह रोगी को किसी भी प्रकार के संक्रमण से राहत दिलाने में मदद करता है। सेब का क्वेरोसेटीन एन्टीऑक्सिडेंट गुण टाइप-2 मधुमेह के खतरे को कम करने में भी मदद करता है।

पीच: यह गर्मियों में मधुमेह रोगी के लिए पौष्टिकता से भरपूर फल होता है। इसमें फाइबर, विटामिन, एन्टी-ऑक्सिडेंट्स, विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होते हैं । इस फल को ताजा खाना ही अच्छा होता है।

नाशपाती: इसमें ग्लिसेमिक इन्डेक्स कम होता है लेकिन साथ ही फाइबर, मिनरल और विटामिन से भरपूर होते हैं जो ब्लड-शगुर के स्तर को नियंत्रित करने के साथ-साथ कोलेस्ट्रोल को कम करता है और हजम शक्ति को उन्नत करता है।

संतरा या नारंगी: इसमें विटामिन ए, बी-कॉम्प्लेक्स और विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होते हैं। विटामिन सी शरीर के प्रतिरक्षी तंत्र (immune system) को उन्नत करने में बहुत मदद करता है। शरीर को किसी भी प्रकार के संक्रमण से जल्दी राहत दिलाने में सहायता करने के साथ-साथ ब्लड-शुगर के स्तर को नियंत्रित रखता है।

अमरूद: आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि अमरूद में विटामिन सी की मात्रा संतरे से ज़्यादा होता है। यह फल मधुमेह के रोगी के लिए बहुत अच्छा होता है। इसमें ग्लिसेमिक इन्डेक्स कम होने के साथ-साथ ऊर्जा भरपूर मात्रा में होता है। इसलिए यह भी ब्लड-शुगर के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद करता है।

चित्र स्रोत: Getty images


लेटेस्ट अप्डेट्स के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो कीजिए।स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिए न्यूजलेटर पर साइन-अप कीजिए।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on