Advertisement

जानें कैसे हृदय, डायबिटीज़ जैसे गैर संचारी (NCD) रोगों को हेल्दी लाइफस्टाइल से करेंगे कंट्रोल

क्या आपको पता है कि लिफ़्ट के बजाय सीढ़ियों से चढ़ने उतरने से ब्लड ग्लूकोज किया जा सकता है कंट्रोल!

क्या आपने एन.सी.डी या गैर संचारी रोगों के बारे में सुना है? नहीं न! असल में एनसीडी रोगों के अंतगर्त दिल के रोग, कैंसर, डायबिटीज़, हाइपरटेंशन, अल्जाइमर, ऑस्टियोपोरोसिस जैसे रोग आते हैं। आंकड़ों के अनुसार, भारत में लगभग 61 प्रतिशत मौतें गैर-संचारी रोगों यानी एनसीडी के कारण हो रही हैं। इसके अतिरिक्त, इनमें से लगभग 23 प्रतिशत लोग इन रोगों के साथ-साथ समय से पहले मृत्यु के खतरे में भी जी रहे हैं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अनुसार, देश में इन गंभीर परिस्थितियों के खिलाफ काम में खास प्रगति नहीं हुई है। तेजी से शहरीकरण के कारण, भारत में गैर-संचारी रोग पैटर्न बढ़ रहा है।

एनसीडी के बोझ के लिए जिम्मेदार चार जोखिम वाले कारक तंबाकू, दूषित आहार, शारीरिक निष्क्रियता और शराब की अत्यधिक खपत है। कुछ अन्य प्रमुख कारकों में मोटापा, रक्तचाप, रक्त शर्करा और रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि शामिल हैं। ये सभी व्यवहार जोखिम कारक हैं और जीवनशैली में बदलाव से बदले जा सकते हैं।

आईएमए के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, "आधुनिक और उन्नत तकनीक निश्चित रूप से हमारे लिए जीवन आसान कर रही है। इनमें ऑनलाइन शॉपिंग, ऑनलाइन भुगतान, सूचना का उपयोग, ऐसे काम जो सभी हमारे घर से आराम से किए जा सकते हैं। इनका दुष्प्रभाव यह हुआ है कि हमारे स्वास्थ्य की कीमत पर प्रौद्योगिकी ने यह सब क्या किया है। हम अब शारीरिक रूप से कम सक्रिय हैं।"

Also Read

More News

डॉ. अग्रवाल ने कहा, "कंप्यूटर पर काम करते हुए लंबे समय तक एक डेस्क पर बैठे रहते हैं, स्मार्टफोन पर सोशल मीडिया का उपयोग कर टीवी देखते हैं। ये सभी गतिविधियां गतिहीन व्यवहार को बढ़ावा देती हैं। खुली जगह की कमी के कारण, सभी आयु समूहों में शारीरिक गतिविधि का स्तर कम हो गया है।"

उन्होंने कहा कि एनसीडी को नियंत्रित करने और शारीरिक गतिविधि को बढ़ावा देने के लिए आईएमए ने 'मूव मूव मूव' नामक एक अभियान का प्रस्ताव रखा है। नियमित व्यायाम करने के अतिरिक्त लोगों को दिनभर में अधिक बार घूमना फिरना चाहिए।

एचसीएफआई द्वारा आयोजित किए जाने वाले आगामी परफेक्ट हेल्थ मेला में चर्चा के मुख्य विषयों में यह विषय भी शामिल रहेगा। मेला चार से आठ अक्टूबर तक नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा।

कुछ उपयोगी टिप्स :

* जितनी बार हो सके सीढ़ियों पर चढ़ें उतरें

* बस स्टॉप से बाहर निकल कर बाकी रास्ते पैदल चलें

* ड्राइविंग के बजाए पास की दुकान तक पैदल जाएं

* फोन पर बात करते समय खड़े होकर घूमें फिरें

सौजन्य: IANS Hindi

चित्र स्रोत: Shutterstock

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on