Sign In
  • हिंदी

नवरात्रि से पहले दिल्ली सरकार ने कोरोना दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करते हुए 15 अक्टूबर तक धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति दी

दिल्ली सरकार ने 15 अक्टूबर तक धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति दी

नवरात्रि से पहले दिल्ली सरकार ने कोरोना दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करते हुए 15 अक्टूबर तक धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति दी....

Written by Anshumala |Updated : October 1, 2021 6:45 PM IST

Delhi Religious Places will open: नवरात्रि उत्सव (Navratri 2021) से ठीक एक सप्ताह पहले दिल्ली सरकार (Delhi government)  ने कोविड-19 दिशानिर्देशों (covid-19 guidelines) का कड़ाई से पालन करते हुए धार्मिक स्थलों को शुक्रवार से 15 अक्टूबर तक फिर से खोलने (Religious places to open till October 15 in Delhi) की अनुमति दी है। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) द्वारा गुरुवार को जारी ताजा कोविड -19 दिशानिर्देशों (covid-19 guidelines in Delhi during Navratri) के अनुसार, मेलों, रैलियों और जुलूसों के साथ बड़ी सभाओं की अनुमति नहीं होगी।

राजधानी में सभी धार्मिक स्थल अप्रैल से थे बंद

महामारी की दूसरी लहर (Covid-19 second wave) के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में सभी धार्मिक स्थलों को अप्रैल से बंद कर दिया गया था। सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा समारोह पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है और लोगों को सलाह दी गई है कि वे अपने घरों में इस उत्सव को मनाएं। डीडीएमए ने इस साल रामलीला, दशहरा और दुर्गा पूजा पंडालों को भी अनुमति दी है, लेकिन मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) का सख्ती से पालन करते हुए त्योहार मनाना है।

उत्सव के आयोजन के लिए डीएम से लेनी होगी अनुमति

आदेश के अनुसार, सभी कार्यक्रम आयोजकों को पहले से उत्सव के आयोजन के लिए संबंधित जिलाधिकारियों से अपेक्षित अनुमति लेनी होगी और सभी आयोजन स्थल की क्षमता क्षेत्र और सामाजिक दूरी के मानदंडों पर निर्भर करेगी। ये आदेश 15 अक्टूबर मध्यरात्रि तक जारी रहेंगे। दुर्गा पूजा और दशहरा दोनों उत्सव एक ही दिन होंगे।

Also Read

More News

1 नवंबर से चरणबद्ध तरीके से खुल सकते हैं स्कूल

पिछले साल, जहां दुर्गा पूजा समितियों को पंडाल बनाने से रोक दिया गया था, वहीं रामलीला समितियों को लाइव स्ट्रीमिंग के लिए जाने के लिए कहा गया था। दशहरे के दौरान पुतले जलाने पर प्रतिबंध लगाया गया था। इस बीच, डीडीएमए ने यह भी कहा है कि वह नर्सरी से आठवीं कक्षा तक के स्कूलों को त्योहारी सीजन के बाद फिर से खोलने पर फैसला करेंगे।

एक अधिकारी के अनुसार, एक नवंबर से चरणबद्ध तरीके से स्कूल खोले जा सकते हैं। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को पिछले 24 घंटों में 47 नए कोविड मामले दर्ज किए और कोई नई मौत नहीं हुई।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on