Advertisement

Covid Vaccination New Guidelines: 21 जून से बदल जाएंगे टीकाकरण के नियम, केंद्र सरकार जारी की नयी गाइडलाइंस

केंद्र की तरफ से एडवाइज़री बनायी गयी हैं और इसमें कोविड वैक्सीन्स की खरीद, डिस्ट्रीब्यूशन और टीके लगाने से जुड़ी नयी गाइडलाइंस दी गयी हैं। (Covid Vaccination New Guidelines)

Covid Vaccination New Guidelines: भारत में कोविड टीकाकरण कार्यक्रम से जुड़े नियमों में बदलाव किया गया है। केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन से जुड़ी नयी एडवाइजरी की घोषणा की हैं। ये सभी गाइडलाइंस 21 जून से लागू हो जाएंगी। बता दें कि इससे पहले  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना वैक्सीनेशन से जुड़े नियमों में बदलाव की बात कही थी । (Covid Vaccination New Guidelines in Hindi) केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गयी जानकारी के मुताबिक, कई राज्य सरकारों की तरफ से सुझाव दिए गए थे कि राज्यों की ज़रूरत के आधार पर वैक्सीन के टीके खरीदने के नियमों को सरल और लचीला बनाया जाए।

बता दें कि 1 मई से लागू किए गए नियमों के अनुसार अब तक भारत सरकार उत्पादित वैक्सीन का 50% खरीद रही थी और प्राथमिकता के आधार पर राज्यों को इन्हें बांटा जा रहा था। जबकि, राज्य सरकारें और प्राइवेट हॉस्पिटल्स भी बाकी 50% वैक्सीन सीधे वैक्सीन निर्माता से  खरीदने का अधिकार प्राप्त कर चुके थे।  केंद्र की तरफ से एडवायज़री बनायी गयी हैं और इसमें कोविड वैक्सीन्स की खरीद, डिस्ट्रीब्यूशन और टीके लगाने से जुड़ी नयी गाइडलाइंस दी गयी हैं।

21 जून से वैक्सीनेशन के ये नियम होंगे लागू-

  • स्वदेशी वैक्सीन निर्माता कम्पनियों द्वारा बनाए गए 75% डोज़ केंद्र सरकार को दिए जाएंगे और इन खरीदी गयी खुराकों को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को मुफ्त उपलब्ध कराया जाएगा।
  • प्राथमिकता के आधार पर टीकों उपलब्ध कराए जाएंगे। जैसे, हेल्थकेयर वर्कर, फ्रंट लाइन वर्कर्स और 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन के टीके पहले दिए जाएंगे।
  • कोविड वैक्सीन की पहली खुराक ले चुके लोगों को दूसरी खुराक सरकार द्वारा मुफ्त लगायी जाएगी।
  • इसी तरह 18 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को प्राथमिकता मिलेगी। हालांकि, राज्य सरकार की तरफ से 18+ आयुवर्ग के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए विभिन्न समूहों में बांटने का निर्णय लिया जा सकता है।
  • केंद्र सरकार राज्य की आबादी, वहां मिले कोविड इंफेक्टेड लोगों की संख्या और टीकाकरण की गति जैसे मापदंड़ों पर वैक्सीन लगवाएगी।
  • टीके की बर्बादी ना रोक पाने वाले राज्यों में होगी नेगेटिव मार्किंग और उन्हें कम खुराकें दी जाएंगी।

प्राइवेट हॉस्पिटल्स में टीका लेना हुआ और भी आसान

  • अब, प्राइवेट हॉस्पिटल्स या क्लिनिक्स में वैक्सीन लेना लोगों की जेब पर बहुत भारी नहीं पड़ेगा। नयी एडवाइज़री के अनुसार, लोगों से कोविड वैक्सीन की एक डोज़ के लिए 150 रुपये से अधिक पैसे नहीं लिए जाएंगे।
  • प्राइवेट अस्पतालों के लिए वैक्सीन निर्माता कम्पनी प्रति डोज़ कीमत की घोषणा करेगी और इसमें होनेवाले किसी भी बदलाव की भी जानकारी देगी।
  • राज्य सरकारें निजी अस्पतालों में टीकाकरण पर कड़ी नज़र बनाए रखेंगी।
  • वॉक-इन और ऑनसाइट रजिस्ट्रेशन जैसी सुविधाएं सभी वैक्सीनेशन सेंटर्स पर उपलब्ध कराने की ज़िम्मेदारी राज्य सरकारों की होगी और उन्हें इसके लिए ज़रूरी उपाय करने होंगे।
  • इसी तरह वैक्सीन बुकिंग के लिए राज्य सरकारों को कॉमन सर्विस सेंटर और कॉल सेंटर स्थापित करने के भी निर्देश दिए गए हैं।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on