Sign In
  • हिंदी

कोरोना की दूसरी लहर का खतरा बढ़ा! सिर्फ 8 राज्यों से ही सामने आए 85 फीसदी कोरोना के नए मामले, यहां होने जा रही सख्ती

कोरोना की दूसरी लहर का खतरा बढ़ा! सिर्फ 8 राज्यों से ही सामने आए 85 फीसदी कोरोना के नए मामले, यहां होनी जा रही सख्ती

आंकड़ों के मुताबिक, रोजाना दर्ज हो रहे मामलों में से करीब 85 फीसदी मामले 8 राज्यों के हैं। यह स्थिति भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के आने का मजबूत संकेत दे रही है।

Written by Jitendra Gupta |Updated : March 17, 2021 7:54 PM IST

देश में कोरोना का प्रकोप एक फिर से सिर उठाने लगा है। साल 2021 के शुरुआती महीनों में कोरोना के मामलों में खासी गिरावट देखी गई थी लेकिन मार्च के महीने में एक बार फिर से कोरोना का आकार बढ़ने लगा है। शुरुआत में ऐसा लग रहा था कि सिर्फ महाराष्ट्र और पंजाब में ही कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं लेकिन अब दूसरे राज्यों में भी कोरोना का ग्राफ काफी तेजी से बढ़ा है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना के रोजाना दर्ज हो रहे मामलों में से करीब 85 फीसदी मामले कुल 8 राज्यों से सामने आ रहे हैं। इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर जल्द ही दस्तक दे सकती है।

इन राज्यों में होगी और ज्यादा सख्ती

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान टियर 2 और 3 राज्यों में टेस्टिंग, क्लिनकिल केयर सुविधाओं को और मजबूत बनाने के लिए कहा है। बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने बताया था कि कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी मार्च से ही शुरू हुई, जबकि साल के शुरुआती 2 महीने में पूरे देश में मामलों में गिरावट दर्ज की गई थी।

क्या कहते हैं आंकड़े

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि सिर्फ मार्च के दूसरे हफ्ते में ही देश में 1 लाख से ज्यादा नए मामले दर्ज हुए हैं, जो साफ तौर पर दूसरी लहर की ओर इशारा कर रहा है। बता दें कि बीते साल इसी समय पूरे देश में लॉकडाउन लगाया गया था।

Also Read

More News

क्या है अभी कोरोना का हाल

आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार को देश में 28,903 मामले दर्ज हुए, जिनमें से 17,864 मामले केवल महाराष्ट्र के थे, जो कि कुल मामलों का 60 फीसदी से ज्यादा थी। यह दैनिक मामलों में इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा था। नए मामलों की वृद्धि में भारत ने अमेरिका और ब्राजील को भी पीछे छोड़ दिया है। वहीं मंगलवार को घातक वायरस के कारण हुई 188 मौतों में से 87 महाराष्ट्र के और 38 पंजाब के थे।

देश में अब तक कितने मामले

देश में अब तक 1.14 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमण का शिकार हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, नए मामलों के 78 फीसदी से ज्यादा मामले महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और तमिलनाडु के हैं। बता दें कि 11 मार्च के बाद से भारत में रोजाना 20 हजार से ज्यादा दैनिक मामले दर्ज हो रहे हैं। इससे पहले पिछले साल 20 दिसंबर को देश में 26,624 दैनिक मामले दर्ज हुए थे, जो 31 जनवरी तक घटकर 13,052 पर आ गए थे।

रिकवरी रेट भी हुआ कम

जिस तरह से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं ठीक उसी तरह 17 मार्च को रिकवरी रेट भी घटकर 96.6 फीसदी हो गया, जो कि 4 हफ्ते पहले 97.3 प्रतिशत था। देश में अब एक्टिव केस की संख्या भी बढ़कर 2.34 लाख से अधिक हो गई है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on