Advertisement

Heart Attack के बाद एक्टर दिनेश फडणीस वेंटिलेटर पर, लड़ रहे हैं मौत और जिंदगी के बीच जंग, पढ़ें डिटेल्स

57 वर्षीय अभिनेता दिनेश को फिलहाल वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। हालांकि, शनिवार को उनकी हालत में सुधार होने की बात कही जा रही थी।

Written By Sadhna Tiwari | Updated : December 3, 2023 10:38 AM IST

Dinesh Phadnis Heart Attack:  टीवी सीरियल सीआई (CID) फेम अभिनेता दिनेश फडणीस को हार्ट अटैक आने के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया है। शो में फ्रेडरिक्स की भूमिका निभाने वाले दिनेश की हालत गम्भीर है और उन्हें वेंटिलेटर पर  (CID Fame actor Dinesh Phadnis on Ventilator support) रखा गया है। बता दें कि 27 साल से अधिक समय से सीआईडी सीरियल में दिनेश फडणीस की भूमिका को भी खूब पसंद किया गया। 57 वर्ष की उम्र में  एक्टर दिनेश फडणीस के अस्पताल में भर्ती होने की खबर  की पुष्टि 1 दिसंबर को की गयी।

मिली जानकारी के अनुसार टीवी के दिनेश फडणीस को हार्ट अटैक (Dinesh Phadnis heart attack) आने के बाद मुंबई के तुंगा हॉस्पिटल (Tunga Hospital, Mumbai) में भर्ती कराया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उनकी स्थिति गम्भीर है और उनका इलाज चल रहा है। दिनेश को फिलहाल वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है। हालांकि, शनिवार को उनकी हालत में सुधार होने की बात कही जा रही थी।

Advertisement

Also Read

More News

सर्दियों में क्यों बढ़ जाते हैं हार्ट अटैक के कारण (Heart attack in winter causes)

तापमान गिरने और ठंड बढ़ने के साथ हार्ट अटैक का रिस्क बढ़ने लगता है। चूंकि, ठंड के कारण हार्ट से जुड़ी मांसपेशियों सिकुड़ने लगती हैं। इससे ब्लड सर्कुलेशन धीमा होने लगता है और ब्लड प्रेशर बढ़ने लगता है। इन सबके कारण हार्ट पर दबाव बढ़ने लगता है और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ने लगता है।

Advertisement

सर्दियों में हार्ट अटैक से बचने के लिए क्या करना चाहिए ? (How to prevent heart attack in winters)

ऐसे लोग जिन्हें हार्ट से जुड़ी कोई बीमारी है या जिन्हें पहले हार्ट अटैक आ चुका है उनके लिए ठंड का मौसम अधिक मुश्किलभरा हो सकता है। ऐसे लोगों को सर्दियों में खुद को ठंड से बचाने की कोशिश करनी चाहिए। साथ ही इन बातों का भी ध्यान रखें-

ठंड में ना निकलें घर से बाद

सर्दियों में हार्ट को सुरक्षित रखने के लिए आप ठंड में बाहर जाने से बचें। ऐसे लोग सुबह जल्दी बिस्तर से निकलने से बचें। आप स्वेटर, मोजे और अन्य गर्म कपड़े पहनें। इसी तरह मॉर्निंग वॉक पर जानें से बचें। दरअसल, ठंड में शरीर को गर्म रखने के लिए दिल को अधिक मेहनत करनी पड़ती है और ठंडे मौसम में बाहर निकलने से आपके हार्ट को अधिक मेहनत करनी पड़ सकती है जो हार्ट अटैक का कारण बन सकता है।

बहुत पानी पीने से बचें

हृदय रोग से पीड़ित लोगों को सर्दियों में जरूरत से ज्यादा पानी पीने से बचना चाहिए। दरअसल, शरीर में पानी की मात्रा अधिक होने पर हार्ट को रक्त को पम्प करने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ सकती है। जिससे हार्ट पर प्रेशर बढ़ता है और हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ सकता है।

कम करें नमक का सेवन

सोडियम ब्लड प्रेशर बढ़ा सकता है जो हार्ट के लिए नुकसानदायक है। सोडियम शरीर में पानी को जमा करने में मदद करता है जिससे हार्ट को अधिक मेहनत करनी पड़ती है और हार्ट अटैक का रिस्क बढ़ जाता है। इसीलिए, सर्दियों में नमक का सेवन कम करना चाहिए। (side effects of consuming salt)