Sign In
  • हिंदी

डब्ल्यूएचओ की चेतावनी: दुनिया में तेजी से फैल रहे हैजा से मर रहे 3 गुना ज्यादा लोग, ध्यान नहीं दिया तो स्थिति हो सकती है भयावह

Cholera outbreak: दुनियाभर के कई देशों में हैजा का खतरा लगातार बढ़ रहा है और डब्ल्यूएचओ ने चिंता जताई है कि अगर समय रहते स्थिति को नियंत्रित नहीं किया गया तो स्थिति भयावह हो सकती है।

Written by Mukesh Sharma |Updated : October 1, 2022 10:32 AM IST

cholera outbreak in the world: कोरोना और मंकीपॉक्स जैसी बीमारियों के बीच कई अलग-अलग बीमारियों के फैलने का खतरा बना हुआ है। लेकिन इस दौरान ऐसी खतरनाक बीमारी फैल रही है, जिससे 3 गुना ज्यादा लोगों की मौत हो रही है। दरअसल दुनिया के कई हिस्सों में लगातार फैल रहे हैजा ने डब्ल्यूएचओ को चिंता में डाल दिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन का मानना है कि सालों तक नियंत्रित रहे हैजा के मामले अब फिर से बढ़ने लगे हैं, जो काफी चिंताजनक स्थिति पैदा कर सकते हैं। डबल्यूएचओ के एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर तेजी से फैल रहे हैजा को कंट्रोल नहीं किया गया है, तो इससे स्थिति काफी भयावह हो सकती है और बाद में इसे नियंत्रित करना भी थोड़ा मुश्किल हो सकता है।

कई देशों में फैल चुकी बीमारी

रायटर की वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक डब्ल्यूएचओ का मानना है कि पिछले कुछ ही सालों के भीतर यह बीमारी 20 से भी कम देशों में फैला हुआ था, लेकिन अब इसके मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, जो संकेत देते हैं कि यह अन्य कई देशों में फैल चुका है।

Also Read

More News

मृत्यु दर में तेजी से वृद्धि

डब्ल्यूएचओ में कोलेरा-डायरिया टीम के लीड ऑफिसर फिलिप बारबोजा का मानना है कि 2021 में जिन लोगों की मृत्यु हैजा के कारण हुई है, उनकी संख्या पिछले 5 सालों में हैजा से मरने वालों की संख्या से 3 गुना ज्यादा है। इसका मतलब यह है कि हैजा इतनी तेजी से फैल रहा है और गंभीर हो रहा है कि इससे मरने वालों की संख्या में 3 गुना वृद्धि हो गई है।

जानलेवा बीमारी है हैजा

हैजा को अंग्रेजी में कोलेरा (Cholerta in hindi) के नाम से जाना जाता है, जो कोलेरेइ नामक बैक्टीरिया (cholerae bacteria) के कारण होती है। इस बीमारी में व्यक्ति को गंभीर दस्त लगते हैं और साथ ही उसके शरीर में पानी की कमी हो जाती है। समय पर देखभाल न करने पर इस बीमारी से व्यक्ति की मौत भी हो सकती है।

बारिश के समय में फैलने का ज्यादा खतरा

हैजा आमतौर पर दूषित पानी पीने या भोजन करने से होता है। बारिश के मौसम में पानी व भोजन दूषित होने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है। यही कारण है कि जिन क्षेत्रों में बारिश ज्यादा होती है या साफ सफाई की कमी होती है उन क्षेत्रों में बारिश का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on