Sign In
  • हिंदी

COVID-19 Vaccine: मार्केट में आने से पहले ही कोविड वैक्सीन पर मंडराने लगा ब्लैक मार्केटिंग का खतरा!

स्पुतनिक-5 से 2 साल तक सुरक्षा मिलने की संभावना, वैज्ञानिकों ने किया दावा

कोरोनावायरस का टीका अभी मार्केट में आया नहीं है, मगर उसकी ब्‍लैक मार्केटिंग होने का अंदेशा गोवा के डीजीपी ने जताया है।

Written by Atul Modi |Updated : December 6, 2020 11:08 PM IST

गोवा के पुलिस महानिदेशक मुकेश कुमार मीणा ने रविवार को कहा कि एक बार कोविड-19 टीकाकरण जब पूरे भारत में शुरू हो जाएगा तो, इस बात का डर है कि कोविड-19 वैक्सीन की कालाबाजारी हो सकती है। इस तरह की स्थिति में पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका होने वाली है। होम गार्ड और नागरिक सुरक्षा संगठन के 58 वें स्थापना दिवस के मौके पर यहां पुलिस मुख्यालय में एक समारोह में बोलते हुए, मीणा ने कहा कि पुलिस को कोविड-19 वैक्सीन के सुचारू और कुशल प्रबंधन के लिए 'बड़ी भूमिका' निभानी होगी।

मीणा ने कहा, "अब टीकाकरण के बारे में बहुत सारी बातचीत चल रही है। टीकाकरण के दौरान, सरकार को पुलिस, होमगार्ड और नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवकों की सेवाओं की आवश्यकता होगी, क्योंकि वे योजना बना रहे हैं कि यह कैसे वितरित किया जाएगा, इस कार्यक्रम को कैसे लागू किया जाएगा।"

उन्होंने कहा, "एक बार जब यह (वैक्सीन) आ जाएगी है, तो पुलिस को परिवहन सहित हर जगह इसके वितरण में एक भूमिका निभानी होगी। इस बात का भी डर है कि टीकाकरण के दौरान कालाबाजारी हो सकती है। अगर ऐसा होता है तो पुलिस को बड़ी भूमिका निभानी होगी।

Also Read

More News

--आईएएनएस

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on