Advertisement

Bird Flu in Bihar : बिहार के सुपौल में बर्ड फ्लू की पुष्टि, एक किलोमीटर के दायरे में मुर्गियों और बत्तख को मारा जाएगा

बिहार के सुपौल में बर्ड फ्लू की पुष्टि, एक किलोमीटर के दायरे में मुर्गियों और बत्तख को मारा जाएगा

बिहार के सुपौल जिले में एक मृत बत्तख के अंदर बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद अधिकारियों ने जानकारी दी है। मामले की शुरुआत 31 मार्च को छपाकी गांव में बत्तख के मृत पाए जाने से हुई थी।

देश में बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच एक बार फिर से बर्ड फ्लू का खतरा मंडराने लगा है। बिहार के सुपौल जिले में एक मृत बत्तख के अंदर बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद अधिकारियों ने जानकारी दी है। बिहार स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए पर्याप्त कदम उठाए जा रहे हैं। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला।

इस जिले में जारी किया गया हाई अलर्ट

बिहार के सुपौल जिले में गुरुवार को हाई अलर्ट जारी किया गया है। दरअसल जिले में एक मृत बत्तख में एवियन इंफ्लूएंजा (H5N1) की मौजूदगी की पुष्टि हुई है। इस मृत बत्तख का सैंपल 31 मार्च को भोपाल के वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट में भेजा गया था, जहां इस बत्तख के बर्ड फ्लू होने की पुष्टि हुई है।

बर्ड फ्लू की हुई पुष्टि

सुपौल जिला अधिकारी कौशल कुमार ने भी बर्ड फ्लू की पुष्टि की है और कहा है कि उन्होंने पशुपालन विभाग को संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कदम उठाने का निर्देश दे दिया है। ये निर्देश भारत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अंतर्गत जारी किया गया है।

एक किलोमीटर के दायरे में की जाएगी कार्रवाई

उन्होंने कहा कि इलाके के एक किलोमीटर के दायरे में जहां भी पक्षी मृत पाए गए हैं, उस जगह पर बत्तख और मुर्गियों को मारा जाएगा।

क्या है मामला

मामले की शुरुआत 31 मार्च को छपाकी गांव में बत्तख के मृत पाए जाने से हुई थी, जिसके बाद प्रशासन ने बत्तख प्रजाति के इस पक्षी की मौत का सैंपल लेकर भोपाल टेस्टिंग के लिए भेज दिया था।

पर्याप्त कदम उठाए जा रहे

सुपौल के डिविजलन वन अधिकारी सुनील कुमार शरण का कहना है कि गुरुवार को H5N1 एवियन इंफ्लूएंजा की पुष्टि होने की रिपोर्ट सामने आई है। इसके साथ ही संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पर्याप्त कदम उठाए जा रहे हैं।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on