Advertisement

दुनिया भर के देशों को डरा रहे हैं ये 2 ओमीक्रोन वेरिएंट्स, चीन और दक्षिण अफ्रीका के बाद अब सिंगापुर हुआ शिकार

BA.4 and BA.5 Omicron subvariants : कोरोना के दो वेरिएंट्स चीन के बाद सिंगापुर और दक्षिण अफ्रीका में तेजी से फैल रहा है। ऐसे में भारत को भी सर्तक रहने की जरुरत है।

Latest covid news: भारत में कोरोना वायरस फिलहाल कंट्रोल में है। पिछले 24 घंटे की बात (covid news updates india) करें तो, कोरोना वायरस के 2202 मामले ही सामने आए हैं जो कि कल की तुलना मं 11.5 फीसदी कम है। इस तरह इस समय देश में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या 524,241 है और पिछले 24 घंटों में 27 लोगों की मौत हुई है। पर दुनियाभर के कई देश हैं जिसकी स्थिति सही नहीं है। दरअसल, कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट्स के दो सबवेरिएंट्स (BA.4 and BA.5 Omicron subvariants) अब चीन के बाद सिंगापुर और दक्षिण अफ्रीका में फैल रहा है। इन दोनों ही देशों में इसे लेकर एक डर का माहौल है।

सिंगापुर में मिले ओमीक्रोन वेरिएंट्स के  3 मामले

सिंगापुर में नए ओमाइक्रोन सबवेरिएंट के साथ तीन सामुदायिक मामलों (Singapore detects three COVID-19 cases) का पता चला है। जिसमें दो मामले BA.4 सबवेरिएंट्स से संक्रमित थे और एक स्थानीय मामला BA.5 वेरिएंट्स से संक्रमित था। बता दें कि सिंगापुर ये पहले सामुदायिक मामले हैं जिनके BA.4 और BA.5 वेरिएंट से संक्रमित होने की पुष्टि की गई है। वहा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, COVID-19 स्थिति की सक्रिय निगरानी के तहत इन मामलों का पता लगाया। एमओएच ने कहा कि सिंगापुर में मामलों का पता पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन (पीसीआर) के सकारात्मक नमूनों के परीक्षण के माध्यम से लगाया गया और पूरे जीनोम अनुक्रमण (डब्ल्यूजीएस) के माध्यम से पुष्टि की गई।

दक्षिण अफ्रीका में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना

दक्षिण अफ्रीका (South Africa Covid Cases) में अप्रैल में रोजाना औसतन 300 संक्रमण के नए मामले आ रहे थे, जिनकी संख्या मई में बढ़कर आठ हजार हो गई है। दरअसल, दक्षिण अफ्रीका में पाए जाने वाले कोरोना के ये सारे मामले ओमीक्रोन सबवेरिएंट्स BA.4 और BA.5 के हैं। यहां के एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये सारे कोरोना के मामले ओमीक्रोन के हैं जो कि जीनोम के स्तर पर थोड़ा अलग है।

Also Read

More News

बूस्टर डोज के बाद भी हो रहा है कोरोना

सिंगापुर में मिले कोरोना के सभी मामले संक्रामक हैं जिनसे पीड़ित लोगों में बुखार, खांसी, नाक बहना और गले में खराश जैसे हल्के लक्षण देखे गए हैं। खास बात ये है कि इन लोगों को कोरोना का टीका लगाया गया है और उन्हें पहले उनकी बूस्टर डोज मिल चुकी है। इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका में जिन लोगों को कोरोना हो रहा है वो भी अपना टीकाकरण करा चुके और उन्हें पहले भी कोरोना हुआ था और उन्होंने इसके खिलाफ इम्यूनिटी पा ली थी। हालांकि, इन लोगों में कोरोना के हल्के लक्षण सामने आ रहे हैं, पर ये वेरिएंट्स अति संक्रामक है और इसलिए बहुत तेजी से लोग इसके शिकार हो रहे हैं।

वहीं, यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाल ही में इसे लेकर अपनी चिंता भी जाहिर की है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अप्रैल में ही BA.4 और BA.5 को अपनी सूची में जोड़ा था और इसे अतिसंक्रामक बताया था।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on