Sign In
  • हिंदी

लक्षण नहीं होने पर भी घर में फैल सकता है कोरोना! स्टडी में बताया गया घर की किन जगहों पर ज्यादा खतरा

लक्षण नहीं होने पर भी घर में फैल सकता है कोरोना! स्टडी में बताया गया घर की किन जगहों पर ज्यादा खतरा

एक शोध में पाया गया है कि अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं तब भी वह कमरे की इन 4 जगहों पर वायरस फैला सकता है। लेख में जानें कौन सी जगह पर फैल सकता है कोरोना।

Written by Jitendra Gupta |Published : December 3, 2020 1:57 PM IST

कोरोनावायरस  (covid-19 or coronavirus) को लेकर रोजाना तमाम तरह के अध्ययन सामने आ रहे हैं, जिसमें वायरस के प्रसार से जुड़े अध्ययन भी शामिल हैं। हाल ही में हुए एक नए अध्ययन से ये पता चला है कि बिना लक्षण वाले कोरोना रोगी अपने आसपास के वातावरण को दूषित कर सकते हैं और संभावित रूप से स्वास्थ्य कर्मियों में ये बीमारी फैला सकते हैं।

पहले हुए कुछ अध्ययनों से हालांकि यह मालूम हो चुका है कि कुछ वस्तुओं, जैसे कपड़े और फर्नीचर पर वायरस के प्रसारित होने की संभावना हैं लेकिन इस बात पर अध्ययन नहीं किया गया था कि क्या COVID-19 वाले लोग अपने कमरे को दूषित कर सकते हैं?

चीन के चेंगदू स्थित सिचुआन विश्वविद्यालय के वेस्ट चाइना अस्पताल में संक्रमण नियंत्रण विभाग (department of infection control) के एमबीबीएस, पीएचडी डॉक्टर जीहोंग जोंग के अनुसार, इस बात पर गौर करना जरूरी है कि नेगेटिव  (covid-19 or coronavirus) आए मरीज भी कमरे में कभी-कभी सुरक्षा की झूठी भावना ला सकता है।

Also Read

More News

हालांकि, उनकी टीम द्वारा किए गए अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि अस्पताल के कर्मचारियों की सुरक्षा में इन क्षेत्रों की सावधानीपूर्वक सफाई भी बहुत जरूरी है।

अध्ययन में क्या पाया गया (What the study found on covid-19 or coronavirus)

जोंग और उनकी टीम ने छह नेगेटिव प्रेशर रूम में मरीजों के परिवेश के साथ-साथ हवा से भी नमूने लिए। इन कमरों में 13 COVID-19 रोगी रह रहे थे, जिसमें से 2 बिना लक्षण वाले रोगी भी शामिल थे।

शोधकर्ताओं ने मरीजों के कमरे से उनके बिस्तर और बेड रेल, सिंक और शौचालय के साथ-साथ बेडसाइड टेबल, लाइट स्विच, दरवाजे के हैंडल, टॉयलेट फुट पेडल, फर्श, बेल्ट, और एयर एक्जॉस्ट सहित कई प्रकार की सतहों का नमूना लिया। कमरे की हवा तक की भी जांच की गई।

सभी सैंपल का आरटी-पीसीआर द्वारा टेस्ट किया गया। यह टेस्ट वायरस (covid-19 or coronavirus) से जुड़ी आनुवंशिक सामग्री की उपस्थिति का पता लगा सकता है। सतह के 112 नमूनों में से 44 (39.3 प्रतिशत) SARS-CoV-2 वायरस से पॉजिटिव पाए गए।

जोंग और उनकी टीम के अनुसार, इसके अलावा कमरे में मौजूद जिन रोगियों में कोरोना का कोई लक्षण नहीं था या फिर हल्के लक्षण थे उनका रूम भी "बड़े पैमाने पर दूषित" पाया गया। एक रोगी के कमरे में, जो कि बिना लक्षण वाला था, उसके बिस्तर की रेल, बेडशीट और तकिया और कमरे का एक्जॉस्ट सहित चार जगह पर पॉजिटिव लक्षण पाए गए। हालांकि, हवा के नमूने में वायरस का पता नहीं लगा।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on