Advertisement

अंडे का पोषक तत्व मिल रहा है या नहीं ?

अंडे का अगर सही तरीके से इस्तेमाल न किया जाय तो इसके पोषक तत्व नष्ट भी हो सकते हैं और यह शरीर को कोई फायदा नहीं पहुंचाएगा।

अंडे में ढ़ेर सारे पोषक तत्व होते हैं लेकिन वो आपके शरीर में पहुंच रहे हैं या नहीं ? ठंड के मौसम में अंडों का उपयोग भी बढ़ जता है। अंडे में कैलोरी कम होती और पोषक तत्व ज्यादा होते हैं इसलिए यह अच्छे हेल्थ के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। अंडे में प्रोटीन, विटामिन, मिनरल्स और हेल्दी फैट पाया जाता है। अंडे का अगर सही तरीके से इस्तेमाल न किया जाय तो इसके पोषक तत्व नष्ट भी हो सकते हैं और यह शरीर को कोई फायदा नहीं पहुंचाएगा। स्वाद के लिए कई बार अंडे से ऐसी डिश बनायी जाती है जो हेल्थ के लिए बेकार होती हैं। अंडे का पोषक तत्व नष्ट न हो इसके लिए हम आपको कुछ खास उपाय बता रहें हैं। आइए जानते हैं.......

अंडे खाने का सही तरीका

कच्चे अंडों में कई तरह के बैक्टीरिया हो सकते हैं इसलिए अंडों को पकाकर खाना ज्यादा अच्छा होता है। अंडों में कुछ ऐसे पोषक तत्व भी होते हैं, जो कच्चे होने पर ठीक से नहीं पचते हैं इसलिए पकाकर खाने से अंडे में मौजूद सभी पोषक तत्व शरीर को मिलते हैं, जैसे- प्रोटीन। ये भी पढेंः कहीं आप खराब अंडे तो नहीं खा रहे ? ऐसे करें चेक अंडा ताजा है या खराब।

Also Read

More News

कच्चे अंडे को खाने से अंडे में मौजूद कुल प्रोटीन का सिर्फ 51% आप अवशोषित करते हैं जबकि पकाकर खाने पर आपके शरीर को 91% तक प्रोटीन मिलता है। इसका कारण यह है कि तापमान बढ़ने पर अंडों में मौजूद प्रोटीन का स्ट्रक्चर बदल जाता है, जिससे ये आसानी से पच जाते हैं। इसके अलावा कच्चे अंडे में बायोटिन नामक खास पोषक तत्व भी नहीं पाया जाता है, जो कि मेटाबॉलिज्म के लिए जरूरी है। बायोटिन को विटामिन बी-7 या विटामिन एच भी कहते हैं। ये भी पढ़ेंः हार्ट की बीमारियां से बचाएगा सिर्फ एक अंडा, जानें कैसे ?

अंडे पकाने का सही तरीका

हालांकि पके हुए अंडे सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं मगर इन्हें ज्यादा तापमान पर नहीं पकाना चाहिए। ज्यादा तापमान में पकाने से अंडों में मौजूद प्रोटीन तो आपको मिलता है मगर कई दूसरे पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। रिसर्च में पाया गया है कि अंडों को ज्यादा गर्म तापमान में पकाने से इसमें मौजूद विटामिन ए 17% से 20% तक कम हो जाता है। ज्यादा आंच में अंडो में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स भी घट जाते हैं। कुल मिलाकर अंडों में ज्यादा देर तक और बहुत तेज आंच में नहीं पकाना चाहिए। कम समय तक मीडियम आंच में पके हुए अंडों में पोषक तत्वों की मात्रा अच्छी होती है। ये भी पढ़ेंः गर्मी में बच्चों को अंडा खिलाना ठीक है या नहीं ?

ऐसे अंडा बन सकता है ज्यादा पोष्टिक

  • उबले हुए या पॉच्ड अंडे खाएं क्योंकि इनमें कैलोरी की मात्रा कम होती है और पौष्टिक तत्व ज्यादा होते हैं।
  • अंडों को ज्यादा पौष्टिक बनाने के लिए इसकी डिश बनाते समय इसमें ज्यादा से ज्यादा सब्जियों का प्रयोग करें।
  • अंडों को ऐसे तेल में फ्राई करें जो हाई टेम्परेचर पर स्टेबल रहते हैं, जैसे- एक्सट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल, बटर और कोकोनट ऑयल आदि।
  • सफेद की जगह देसी अंडों का प्रयोग ज्यादा सेहतमंद होता है।
  • अंडों को कम तापमान में कम समय के लिए पकाएं। ज्यादादेर पकाने से इनमें मौजूद गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा घट जाती है।

ये भी पढ़ेंः वेट लिफ्टिंग से हार्ट होता है मजबूत और डायबिटीज भी रहता है दूर, जानें अन्य फायदे।

ये भी पढ़ेंः सर्दी के मौसम में छोटे बच्चों का कैसे रखें ख्याल ? जानें एक्सपर्ट्स टिप्स। 

ये भी पढ़ेंः सर्दी के मौसम में वजन कम करने में सहायक हैं ये 5 मसाले।

ये भी पढ़ेंः दिल की बीमारी और डायबिटीज से रहना है दूर तो रोजाना करें यह एक्सरसाइज।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on