Advertisement

डॉक्टरों ने बच्चे के शरीर में छोड़ी 2 सेमी की सुई, वाडिया अस्पताल, मुंबई में सफल ऑपरेशन

टीका लगाते हुए डॉक्टर ने छोड़ दी 3 दिन के बच्चे के शरीर में सुई।

टीका लगाते समय नवी मुंबई के एक अस्पताल में डॉक्टर एक 3 दिन के बच्चे के शरीर में सुई निकालना भूल गए। यह घटना पनवेल की है जहां एक डॉक्टरों ने एक नवजात बच्चे की कमर में 2 सेंटीमीटर की सुई छोड़ दी। सुई की वजह से होनेवाली तकलीफ के चलते बच्चा रोता था, लेकिन उसके माता-पिता को समझ नहीं आया कि बच्चे के साथ कितना बुरा हुआ है। डॉक्टरों की लापरवाही का पता मां-बाप को तब चला जब बच्चा 19 दिन का हो गया। दरअसल बच्चे की कमर के आसपास के हिस्से में सूजन होने लगी, तब जांच करने पर बच्चे की तकलीफ का कारण पता चल सका।

बच्चे के माता-पिता जयराज और आस्था, बुखार होने पर बच्चे को डॉक्टर के पास ले गए। पीडियाट्रीशन के पास एक्स-रे और अल्ट्रासाउंड में पता लगा कि बच्चे के कूल्हे की हड्डी में इन्फेक्शन हो गया है। हालांकि, डॉक्टर सुई होने की बात पता नहीं कर सके। डॉक्टर ने बच्चे को परेल, मुंबई के वाडिया अस्पताल भेज दिया।

वाडिया अस्पताल में बच्चे का बुखार कम न होने पर डॉक्टरों ने बच्चे का सीटी स्कैन किया और तब जाकर पता चला कि बच्चे के शरीर में एक सुई रह गयी है। डॉक्टरों ने कई एक्स-रे करके सुई की स्थिति का पता लगाया। अब सर्जरी करके सुई को बाहर निकाला जाएगा।

Also Read

More News

बाई जेरबाई वाडिया हॉस्पिटल में पीडियाट्रिक सर्जन, डॉ. प्रद्न्या बेंद्रे ने बताया कि “ पिछले 19 दिनों से टूटी हुई सुई बच्चे के शरीर में थी। बच्चे के माता-पिता की मंज़ूरी लेकर हमने बच्चे की सर्जर की। इंट्रा-ऑपरेटिव सर्जरी की मदद से यह मुश्किल सर्जरी की गयी। सुई की सही स्थिति का पता लगाना मुश्किल था इसीलिए कई बार एक्स-रे किया गया। सुई निकालने में 2 घंटे का समय लगा। बच्चे ले बाएं हिप ज्वाइंट में 2सेमी की सुई अटकी पड़ी थी जिसे सफलतापूर्वक निकाल दिया गया है।”

चित्रस्रोत: Press Release.

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on