Sign In
  • हिंदी

14 साल की बच्ची के लिए डिओडोरेंट बना ‘जहर’, जानिए कितनी खतरनाक है डिओ से निकलने वाली गैस

Deodorant Side Effects : 14 साल की बच्ची का डिओडोरेंट की वजह से मौत हो गई। आइए जानते हैं इस विषय के बारे में विस्तार से-

Written by Kishori Mishra |Published : January 28, 2023 9:52 AM IST

Deodorant Side Effects : आधुनिक समय में डिओडोरेंट का इस्तेमाल काफी सामान्य हो चुका है। कई लोग इसका अंधाधुंध इस्तेमाल करते हैं। ज्यादातर डिओडोरेंट पर कीप आउट ऑफ रीच ऑफ चिल्ड्रन लिखा रहता है, लेकिन फिर भी बच्चे इसका काफी ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं। हाल ही में एक चौंका देने वाली दुर्घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि ब्रिटेन में एयरोसोल डिओडोरेंट सूंघने के बाद एक 14 साल की बच्ची का कार्डियक अरेस्ट से मृत्यु हो गई। बच्ची की मौत के बाद उसके माता-पिता ने लोगों को डिओडोरेंट से होने वाली संभावित खतरों के बारे में लोगों को आगाह किया है। साथ ही इसके लिए सावधानी बरतने की अपील की है। 

क्या है पूरी घटना?

ब्रिटेन में एक 14 साल की बच्ची का डिओरोरेंट छिड़कने के बाद मौत हो गई। बच्ची का नाम जॉर्जिया ग्रीन है। बताया जा रहा है कि बच्ची को सोने पहले से पहले कंबल में डिओडोरेंट छिड़कना काफी ज्यादा पसंद था, ऐसा करने से उसे अच्छी नींद आती थी। मृत्यु से पहले बच्ची ने अपने कंबल में डिओडोरेंट का छिड़काव किया, जिसके बाद उसे कार्डियक अरेस्ट हुआ था। कहा जा रहा है कि जॉर्जिया पूरी तरह से स्वस्थ थी, उसे किसी भी तरह की स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानी नहीं थी।डियोडोरेंट की वजह से जॉर्जिया की मई 2022 में मौत हो गई थी। 

इसके बाद से उसके माता-पिता लोगों को डिओडोरेंट के इस्तेमाल के संभावित खतरों से बचने की सलाह ले रहे हैं। बच्ची के पिता पॉल का कहना है कि उसकी बच्ची को कंबल में डिओडोरेंट छिड़कना पसंद था, क्योंकि उसे ऐसा करने से सुकून भरी नींद आती थी। 

Also Read

More News

चेतावनी पर कई लोग नहीं देते हैं ध्यान

जॉर्जिया ग्रीन के माता-पिता का कहना है कि लोग डिओडोरेंट के बोतल पर छपी चेतावनी पर ध्यान नहीं देते हैं। यह उनके लिए काफी खतरनाक हो सकता है। इसलिए आपको इन चेतावनी पर ध्यान देने की जरूरत है। खासतौर पर बच्चों को इसका इस्तेमाल बिल्कुल भी न करने दें। इससे उनको कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। 

क्यों हुई बच्ची की मौत?

बताया जा रहा है कि बच्ची सुबह बेडरूम में बेसुध पड़ी हुई थी। उनके माता-पिता का कहना है कि दरवाजा खुला था, ऐसे में इत बात कि संभावना काफी कम है कि बच्ची की मौत घुटन की वजह से हुई है। जब बच्ची के मौत की चांज की गई तो सामने आया कि उनकी मौत एरोसोल इन्हेल करने की वजह से हुई है। बच्ची के डेथ सर्टिफिकेट में भी  डिओडोरेंट के बजाय इनहेलेशन ऑफ एयरोसोल का जिक्र किया गया है। 

डिओडोरेंड का अधिक इस्तेमाल हो सकता है घातक ( Spraying Deodorant Side Effects )

कुछ रिपोर्ट्स में बताया गया है कि अधिक डिओडोरेंट के इस्तेमाल से कई लोगों की मौत हुई है। ऐसे में इसे आपको पूरी तरह से सुरक्षित मान लेना सही नहीं है। डिओडोरेंट की वजह से आपको कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं, जिसमें सांस लेने में कठिनाई, दिल की धड़कने तेज होना इत्यादि शामिल है। 

कई डॉक्टर्ट का कहना है कि डिओडोरेंट की एरोसोल में टॉक्सिक और जहरीले केमिकल्स होते हैं। इसके साथ ही इसमें मौजूद गैस भी घातक होता है। ऐसे में डियो आपके लिए जानलेवा साबित हो सकता है। यह घटना सिर्फ बच्चों तक सीमित नहीं है। कई युवाओं को भी इससे परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए इसके प्रति लोगों में जागरुकता फैलाना बहुत ही जरूरी है। वहीं, डिओ के बजाय टेलकम पाउडर का इस्तेमाल अधिक सुरक्षित है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on