Advertisement

शादीशुदा जिंदगी को हेल्दी बनाना है, तो कुछ ऐसा करें

एक-दूसरे के व्यक्तित्व और बातों को इज्जत दें। दोस्तों और परिवार के साथ भी रिश्ता मेंटेन करके चलें।

परफेक्ट रिलेशनशिप की चाहत सभी शादीशुदा लोगों में होती है पर रिश्ते इतने नाजुक होते हैं कि जरा सी लापरवाही से पल में टूट भी जाते हैं। इसलिए रिश्तों में प्यार और विश्वास दो अहम कड़ियों को हमेशा बनाए रखने की जरूरत होती है। जितनी आपके रिश्ते में सच्चाई होगी और रिलेशन हेल्दी होगा जिंदगी उतनी ही हसीन, खूबसूरत और प्यार भरी होगी। फिर भी, कभी-कभी ऐसा होता है कि किसी न किसी कारण से रिश्तों में खटास, दूरियां आ जाती हैं। रिश्ता अनहेल्दी न होने पाए उसके लिए इन बातों पर गौर करें-

क्या है हेल्दी रिलेशनशिप

जब दो लोग एक-दूसरे के प्रति म्यूचुअल रिस्पेक्ट, विश्वास, ईमानदारी, समानता, एक-दूसरे की पहचान को इज्जत करें, बेहतर कम्युनिकेशन, स्नेह, झुकाव, आपस में आनंद महसूस करें तो ऐसा रिश्ता ही हेल्दी होता है। यह तमाम बातें रिश्ते को हेल्दी बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। हालांकि, किसी भी रिश्ते में हेल्दी और अनहेल्दी पहलू शामिल होते हैं पर यह आप पर निर्भर करता है कि इसे आप किस तरह से हैंडल करते हैं। यह बात सिर्फ शादीशुदा लोगों के लिए ही लागू नहीं होती बल्कि वर्क रिलेशनशिप, दोस्तों के साथ रिश्ता, पारिवारिक रिश्ते पर भी लागू होती है। रिश्ता जितना हेल्दी होगा खुशियां उतनी ही बढ़ेंगी और तनाव कम होगा।

Also Read

More News

अनहेल्दी रिलेशनशिप के लक्षण

जब पति-पत्नी एक-दूसरे की बातों से सहमत ना हों, ऐसे में रिश्ता टूटने के प्रति चिंता भी बढ़ने लगती है।

एक-दूसरे के प्रति भावनाओं की कमी महसूस होना।

दिन ब दिन प्यार कम होना।

एक-दूसरे की बातों को न सुनना और अपनी मनमानी करना।

आपके कहीं भी जाने, घूमने, किसी से मिलने पर सवाल-जवाब किया जाए।

सेक्सुअल रिलेशनशिप में मन न लगना, जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाना।

प्राइवसी में दखल देना। किसी भी चीज को शेयर करने के लिए फोर्स करना।

बहस के दौरान गाली-गलौज, चिल्लाने लगना, हाथ उठा देना।

एक-दूसरे के प्रति चालाकी से काम लेना।

एक-दूसरे के साथ समय व्यतीत करने में आनाकानी करना।

एक-दूसरे के परिवार, दोस्तों का इज्जत न करना।

कैसे करें हेल्दी रिलेशनशिप मेंटेन

एक-दूसरे के व्यक्तित्व और बातों को इज्जत दें। दोस्तों और परिवार के साथ भी रिश्ता मेंटेन करके चलें।

दोनों एक-दूसरे को इतना स्पेस दें कि रिश्ता बोझिल ना लग, पजेसिव न हों। आत्म-सम्मान बनाए रखें।

एक दूसरे की पसंद-नापसंद का ख्याल रखें और रुचि में दिलचस्पी दिखाएं।

एक-दूसरे पर विश्वास करें, शक को मन में घर न करने दें। एक-दूसरे की प्राइवसी में दखल ना दें।

सेक्सुअल बाउंडरीज को भी इज्जत दें।

न्यायपूर्ण व निष्पक्ष तरीके से लड़ाई-झगड़ा समाप्त करें। लड़ाई-झगड़ा किसी भी रिश्ते में आम बात है पर जरूरी यह है कि आप उसे किस तरह से हैंडल करती हैं। न्यायपूर्ण होकर झगड़ा करना हेल्दी रिलेशनशिप मेंटेन करने में मदद करता है।

क्या करें

यदि आपके रिश्ते में यह बातें दिख भी रहीं हैं तो इसका यह अर्थ नहीं कि रिश्ता खत्म होने की कगार पर है। इसे अपनी सूझ-बूझ से आप दोनों साथ मिलकर भी दूर कर सकते हैं। यदि आप दोनों के मन में अब भी थोड़ा सा प्यार, अहसास, भावनाएं बाकी हैं तो रिश्ते को हेल्दी बनाने के लिए किसी काउंसलर से मिलें। जब लगे कि आप इस रिश्ते से खुश नहीं हैं पर फिर भी यह तय नहीं कर पा रही हैं कि इस रिश्ते को स्वीकार करें, इसे सुधारने, संवारने की कोशिश करें या नहीं, रिश्ता तोड़ने का मन बना लिया हो, फिर भी इस रिश्ते में खुद को घिरा या बंधा हुआ महसूस कर रहे हैं, यदि आप किसी मजबूरी, डर, गिल्ट या अकेले हो जाने के कारण भी रिश्ते में हैं तो इन सभी परिस्थितियों में काउंसलर की सलाह लें। इससे आप अपने रिश्ते में आए तमाम चैलेंजेज को दूर कर हेल्दी रिलेशन दोबारा पा सकते हैं।

चित्रस्रोत: Shutterstock.

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on