Advertisement

खुद से करें ये पांच सवाल और जानें क्‍या आपका लाइफ पार्टनर आपका सोलमेट भी है

जो बिना कहे ही आपकी हर बात समझ जाए, जिसकी बातें आपके हर सुख-दुख में काम आएं, वो होता है सोलमेट पर लाइफ पार्टनर में जरूरी नहीं है कि यह सब भी हो।

हर लड़की चाहती है कि उसका होने वाला पति सिर्फ उसका लाइफ पार्टनर ही न हो, बल्कि सोलमेट भी हो। जिसके साथ वह जीवन ही नहीं, मन का हर भाव भी शेयर कर सके। पर लोगों में सोलमेट और लाइफ पार्टनर के बीच अंतर को लेकर काफी गलतफहमी रहती है। दरअसल कोई ऐसा शक्स जो आपको सीख देता है, सशक्त बनाता है और आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है, सोलमेट है। आप जिसका साथ जीवनभर देने का विचार रखते हैं और विश्वास करते हैं, वह शक्स लाइफ पार्टनर है। हम बता रहे हैं वे खास बातें जो आपको यह परखने में मदद करेंगे कि आपका लाइफ पार्टनर क्‍या आपका सोलमेट भी है !

यह भी पढ़ें - चाहिए हेल्दी लाइफ, तो सोते समय रखें इन चार बातों का ध्यान

1- आपका कोई रिश्तेदार, दोस्त, परिवार का सदस्य या प्रेमी सोलमेट हो सकता है। कई बार एक समय के बाद सोलमेट आपके जीवन से बाहर हो जाता है। हालांकि उसकी कई बातें जीवन में बनी रहती हैं और वे आगे बढ़ने में सहायक होती हैं। वहीं लाइफ पार्टनर जीवनभर आपके साथ रहता है और मश्किल समय में साथ देता है।

Also Read

More News

यह भी पढ़ें - बुढ़ापे में और जवां हो जाता है प्‍यार : शोध

2- सोलमेट से दिल का रिश्ता बहुत मजबूत होता है। कई बार यह रिश्ता दिल टूटने के साथ खत्म होता है, लेकिन वहां से बहुत कुछ सीखने को मिलता है। कुछ वजहों से हो सकता है कि सोलमेट से अलग होना पड़े, लेकिन एक अच्छी सीख हमेशा काम आती है। वहीं जीवनसाथी तब आता है जब आप खुद को स्वीकार करते हैं और प्यार करते हैं। जब आप किसी खालीपन को भरने की कोशिश नहीं करते हैं और पूरे जीवन के बारे में विचार करते हैं।

यह भी पढ़ें- स्‍पर्म के बारे में ये सवाल, जो ज्‍यादातर कपल जानना चाहते हैं

3- जब आप किसी से मिलते हैं और लगता है कि एक दूसरे को हमेशा से जानते हैं। आप एक जैसा सोचते हैं। आपके बचपन की कहानियां एक जैसी होती हैं। आप एक दूसरे को आकर्षित करते हैं। लेकिन आगे चलकर ऐसे रिश्तों में वास्तविकता का अहसास होता है और कई बार संबंध टूट जाते हैं। वह आपका सोलमेट होता है। जीवनसाथी अलग-अलग बैकग्राउंड से हो सकते हैं। वे एक दूसरे के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानने की कोशिश करते हैं। धीरे-धीरे में उनमें दोस्ती का भाव आता है और साथ रहते-रहते प्यार बढ़ता रहता है।

यह भी पढ़ें - आपका एक्‍साइटमेंट आपकी पार्टनर पर पड़ सकता है भारी

4- सोलमेट आपकी भावनाओं को ज्यादा समझता है। वे कई बार खुद की समझ जाते हैं कि आपके मन में किस तरह के विचार चल रहे हैं और आप किसी परेशानी में तो नहीं हैं। लेकिन लाइफ पार्टनर के साथ जरूरी नहीं है कि ऐसा हो। ऐसे में दोनों को अपने विचार रखने पड़ते हैं। और इससे एक दूसरे को समझने में मदद मिलती है।

5- सोलमेट के साथ संबंध में उतार-चढ़ाव ज्यादा होते हैं। कई बार संबंध टूट भी जाते हैं, लेकिन जीवनसाथी के साथ जीवन आसान होता है। इसमें बहुत ज्यादा प्रयास की जरूरत नहीं होती है। हो सकता है कि आपका सोलमेट, लाइफ पार्टनर भी हो या जो लाइफ पार्टनर है उसे आप सोलमेट भी समझ सकें। अच्छे रिश्ते के लिए इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on