Advertisement

एलोवेरा जेल के फायदे ही नहीं, होते हैं इसके कई नुकसान भी

एलो जेल के सेवन से उन्हें भी बचना चाहिए, जिन्हें आंतों से संबंधित कोई समस्या जैसे क्रॉन्स डिजीज, अल्सरेटिव कोलाइटिस हो।

एलोवेरा अपने हर्बल गुणों के लिए जाना जाता है। लंबे समय से इसका एक हर्बल दवा के रूप में उपयोग किया जा रहा है। वैज्ञानिक अध्ययनों से यह भी पता चला है कि पौधे में एंटीडाइबेटिक प्रभाव होते हैं, जो रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है। इसे स्किनकेयर ट्रीटमेंट जैसे एक्जीमा, डैंड्रफ और सोरायसिस जैसी स्थितियों में देखभाल के लिए उपचार में शामिल किया जाता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज इसे मुंहासे और अन्य त्वचा संबंधित समस्याओं से लड़ने के लिए एक उपयोगी घटक बनाते हैं।

ऐसा भी माना जाता है कि एलोवेरा डिटॉक्सिफिकेशन और वजन घटाने में मदद करता है। आंवला और एलोवेरा जूस को इम्यून बूस्टिंग जूस माना जाता है, जो एंटीऑक्सीडेंट्स और पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इससे पाचन तंत्र मजबूत होता है, लेकिन एलोवेरा के भी कुछ नुकसान होते हैं। इसमें कुछ हानिकारक प्रभाव होते हैं, जिन्हें आपको जानने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें- सलाद के ये 15 फायदे जानते हैं आप ?

Also Read

More News

एलोवेरा के भी होते हैं नुकसान

यदि आप किसी भी चीज का सेवन अधिक करते हैं, तो उसका परिणाम भी नकारात्मक ही होता है। किसी भी चीज का इस्तेमाल संतुलित रूप से करना चाहिए। ठीक इसी तरह, एलोवेरा का भी अधिक सेवन आपके लिए अच्छा नहीं है। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐलोवेरा अपने प्राकृतिक रूप में सबसे बेहतर और फायदेमंद होता है। सामग्री जैसे एलोवेरा, आंवला, और नीम का सेवन दवाइयों की तरह करना चाहिए, लेकिन बहुत अधिक इन्हें बतौर दवाओं की तरह खाना भी सेहत के लिए खराब हो सकता है। केवल उन्हीं लोगों को इन चीजों को बतौर सप्लीमेंट्स के रूप में लेना चाहिए जिन्हें किसी चीज की कमी है।

एलो जेल से किडनी फेलियर

1 एक अध्ययन के अनुसार, त्वचा पर दवा या कॉस्मेटिक के रूप में एलोवेरा जेल लगाना सुरक्षित है लेकिन एलो लैटेक्स या जेल की अधिक मात्रा का सेवन करना असुरक्षित हो सकता है। एलो जेल के कुछ साइड एफेक्ट्स जैसे पेट दर्द और ऐंठन आदि उत्पन्न हो सकते हैं। इसकी बड़ी मात्रा में दीर्घकालिक उपयोग से दस्त, गुर्दे की समस्याएं, मूत्र में रक्त, कम पोटैशियम, मांसपेशियों की कमजोरी, वजन कम होने और दिल की गड़बड़ी हो सकती है। इसके उच्च खुराक से आपको किडनी फेलियर भी हो सकता है।

2 कई रिपोर्ट्स में यह भी बात सामने आई है कि एलो लीफ एक्सट्रैक्ट के सेवन से लोगों में लीवर की समस्याएं भी हो सकती हैं। हालांकि, यह उन लोगों में अधिक होता है, जो एलो के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं।

यह भी पढ़ें- वजन कम करना है, तो डायट में शामिल करें डायटरी फाइबर

3 एलो जेल या लैटेक्स गर्भवती या ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं के लिए भी असुरक्षित हो सकती है, यदि इसका सेवन किया गया तो। यह गर्भपात (miscarriage) और जन्म दोषों (birth defects) से भी संबंधित है।

4 बच्चों के मामले में, त्वचा पर एलो जेल लगाना सुरक्षित है, लेकिन एलो लैटेक्स और एलो लीफ एक्सट्रैक्ट या अर्क का सेवन करना संभवतः उनके लिए असुरक्षित हो सकता है। 12 साल से कम उम्र के बच्चों को पेट दर्द, ऐंठन और दस्त हो सकता है, इसके सेवन से।

5 एलो जेल के सेवन से उन्हें भी बचना चाहिए, जिन्हें आंतों से संबंधित कोई समस्या जैसे क्रॉन्स डिजीज, अल्सरेटिव कोलाइटिस, क्योंकि यह आंतों की समस्या को बढ़ाता है।

चित्रस्रोत: Shutterstock.

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on