Advertisement

क्या माइक्रोवेव में खाना पकाना सेफ होता है?

माइक्रोवेव में खाना कैसे सेफ तरीके से पकाना चाहिए?

ज्यादातर लोगों का ये मानना होता है कि माइक्रोवेव में खाना पकाने से पौष्टिकता बनी रहती है वह नष्ट नहीं होती है। लेकिन सच तो ये है कि खाना चाहे आप गैस पर पकाये, स्टोव पर, माइक्रोवेव पर या तो कोयले के चुल्हे पर पकाये वह कुछ भी मायने नहीं रखता। यानि खाने पकाने का जरिया नहीं खाना पकाने का समय और आंच पर सब निर्भर करता है। खाने में पौष्टिकता तभी बनी रहती है जब आप कम समय में, काम आंच में और कम पानी में पकायेंगे। न्यूट्रिशनिस्ट  प्रिया कथपाल का कहना है कि माइक्रोवेव में खाना पकाना एक तरफ से सेफ है क्योंकि इसमें कम समय में और कम आंच में खाना पक जाता है। जिससे खाने का वाटर सोल्युब्ल न्यूट्रिएन्ट बच जाते हैं क्योंकि ज्यादा समय तक पकाने पर ये नष्ट हो जाते हैं। यहां तक जल्दी पक जाने के कारण माइक्रोवेव का खाना विटामिन सी जैसे न्यूट्रिएन्ट्स को सुरक्षित रख पाता है।

यहां तक कि मीट और मछली को माइक्रोवेव में ग्रील्ड करने से कार्सिनोजेनिक केमिकल बढ़ नहीं पाता है, जिससे कि प्रोस्टेट और पैनक्रियाटिक कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है।

अगर आपने इन टिप्स को फॉलो नहीं किया तो माइक्रोवेव में खाना पकाने से ये प्रॉबल्म हो सकता है-

Also Read

More News

  • खाने को प्लास्टिक रैप से कवर करके गर्म करें, इससे कैंसर होने की संभावना कम हो जाती है।
  • माइक्रोवेव में खाना ज्यादा देर तक न पकायें, इससे पौष्टिकता कम हो जाती है।
  • परंपरागत धातू के कूकवेयर में खाना न पकायें, इससे हिट बर्तन से बाहर नहीं जा पाता।

Read this in English.

अनुवादक: Mousumi Dutta

चित्र स्रोत: Shutterstock

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on