Advertisement

उपवास में सेहतमंद रहने के लिए एक्सपर्ट की सलाह

व्रत में क्या खायें और क्या न खायें!

नवरात्री में अगर हम संतुलित भोजन लें तो यह उपवास हमारे शरीर के लिए अधिक फायदेमंद हो सकता है।डाक्टरों का कहना है की हमें बस इस बात पर ध्यान देना चाहिए की व्रत में क्या और कब खाना है।

अपोलो अस्पताल के वरिष्ठ सलाहकार डॉ. अनूप धीर जोर देते हैं कि व्रतधारियों को तला-भुना या तैलीय खाना नहीं खाना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से शरीर में कैलोरी की मात्रा बढ़ेगी और परिणामस्वरूप चर्बी बढ़ेगी।उन्होंने आईएएनएस को बताया, नवरात्रि के दौरान कुट्टू के आटा का उपभोग सबसे आम है, जिसमें बहुत ज्यादा कैलोरी होती है। नवरात्र के दौरान आलू को भी एक मुख्य सब्जी के रूप में देखा जाता है और इसे खाने का मतलब उच्च मात्रा में कार्बोहाइड्रेट की खपत है। लोगों को इन्हें कम से कम मात्रा में खाना चाहिए। व्रत या उपवास उसी सूरत में ठीक हैं, जब उन्हें कुछ सावधानियों के साथ किया जाए।

राजधानी दिल्ली के 'हेल्थ केयर एट होम इंडिया' की वरिष्ठ पोषण विशेषज्ञ कनिका मल्होत्रा ने आईएएनएस को बताया, नियमित अंतराल पर थोड़ा-थोड़ा खाना, तरल या पेय चीजें लेते रहना और जरूरत से ज्यादा न खाना उपवास को स्वास्थ्यकर बनाने के मुख्य उपाय हैं। कनिका ने कहा, व्रत रखने से हमारे पाचनतंत्र को आराम मिल सकता है, लेकिन व्रत को वजन घटाने का शॉर्टकट नहीं बनाना चाहिए, क्योंकि भूखे रहने से शरीर का चयापचय (मेटाबलिज्म) पर बुरा असर पड़ सकता है। पढ़ें - नवरात्र को स्वस्थ तरीके से मनाने के 5 तरीके

Also Read

More News

सेलिब्रिटी शेफ इज्जत हुसैन के अनुसार, व्रत के दौरान तले और प्रसंस्कृत उत्पादों से बचना चाहिए और ताजा फलों व जूस का सेवन करना चाहिए।इज्जत ने कहा, रमजान के दौरान हम यही करते हैं। हम शाम तक रोजा रखते हैं और शरीर को उर्जावान बनाए रखने के लिए सिर्फ पौष्टिक खाना और फल खाते हैं।उन्होंने कहा, उपवास अगर सही तरीके से किया जाए, तो यह अतिरिक्त चर्बी घटाने में एक कारगर व प्रभावी तरीका हो सकता है। पढ़ें - हेल्दी उपवास रेसिपी: स्वीट पोटाटो खीर

नवरात्रि के दौरान कुछ व्रतधारी निर्जला उपवास भी रखते हैं। साउथेंड फर्टिलिटी एंड आईवीएफ सेंटर की निदेशक सोनिया मलिक ने सलाह देते हुए कहा, गर्भवती महिलाओं को कभी भी लंबी अवधि के लिए उपवास नहीं रखना चाहिए, क्योंकि भ्रूण के विकास के लिए उनके शरीर को ढेर सारे पोषक तत्वों की जरूरत होती है। व्रतधारी दही, घर में बना पनीर, मूंगफली, ताजा सब्जियों व फलों का जूस ले सकते हैं।सोनिया ने कहा, 'पेय में वे लस्सी, नारियल पानी, घर में बने सूप, नींबू पानी और ग्रीन टी का चयन कर सकते हैं।

अगर लोग यही तरीके से व्रत रखें तो यह पूरी सेहत के लिए कमाल के साबित हो सकते हैं।'

स्रोत- IANS Hindi

चित्र स्रोत:  Shutter Stock


हिन्दी के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिए हमारा हिन्दी सेक्शन देखिए। स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिए न्यूजलेटर पर साइन-अप कीजिए।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on