Advertisement

Prithvi mudra in hindi : कैसी भी हो थकान पलभर में हो जाएगी जब 5 मिनट निकालकर करेंगे ये योगासन! जानें करने का तरीका और फायदे

कैसी भी हो थकान पलभर में हो जाएगी जब 5 मिनट निकालकर करेंगे ये योगासन! जानें करने का तरीका और फायदे

योग मुद्रा, जिसे आप ‘पृथ्वी मुद्रा’ के नाम से भी जानते हैं, ये आपको बहुत ज्यादा थकान से निजात दिलाती है। जब स्टैमिना और एनर्जी की कमी महसूस होती है तब इस मुद्रा को ट्राई करना न भूलें ।

 Prithvi mudra in hindi :  योग में स्ट्रैचिंग और डीप ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ के अलावा भी काफी कुछ आता है। मुद्रा योग का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है जो आपके मानसिक, भावनात्मक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। ऐसी ही एक योग मुद्रा ‘पृथ्वी मुद्रा’ है, जो आपको बहुत ज्यादा थकान से निजात दिलाती है। जब स्टैमिना और एनर्जी की कमी महसूस होती है तब इस मुद्रा को ट्राई करना न भूलें ।

ये मुद्रा आपको समय से पहले बाल सफेद होने की समस्या और तनाव के कारण होने वाले हाइपरटेंशन में भी राहत दिलाती है। पृथ्वी मुद्रा एकाग्रता भी बढ़ाती है जिसकी वजह से उच्चतर आध्यात्मिक प्रैक्टिस में मदद मिलती है।

पृथ्वी मुद्रा करने का तरीका

  • सुखासन में आराम से बैठ जाएं। अपनी हथेलियों को जांघों पर रखें और सांस पर ध्यान लगाएं।
  • अब अपनी अनामिका (रिंग फिंगर) को अंगूठे के टिप से जोड़ें। बहुत अधिक दबाव न डालें। ऐसा दोनों हाथों से करें।
  • बाकी की उंगलियों को सीधा रखें।
  • 10-15 मिनट के लिए इसी मुद्रा में बैठें, और धीरे-धीरे सांस लेते रहें।
  • आप दिन के किसी भी वक्त इस मुद्रा का अभ्यास कर सकते हैं। आप इसे हर रोज़ 30-40 मिनट तक करें। इसका अभ्यास हर रोज़ करेंगे तो आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे।

सावधानी

  • अगर आपको कफ़ दोष है तो इस मुद्रा को अधिक समय के लिए न करें।
  • इस मुद्रा का अभ्यास शुरू करने से पहले, किसी योग एक्सपर्ट से उचित सलाह लें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on