Sign In
  • हिंदी

प्रोटीन पाउडर क्‍यों, कब, कैसे और कितना खाना है ज़रूरी

क्‍या आपको अपनी रोजाना के डायट से आवश्‍यक प्रोटीन नहीं मिल रहा है?

Written by Editorial Team |Updated : January 5, 2017 12:13 PM IST

Read this in English.

बेहतर स्वास्थ्य के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी है। यह दुबली मांसपेशियों को मजबूत बनाता है, इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत करता है, डैमेज सेल और टिसू को रिपेयर करता है और ये ऊर्जा का एक मुख्‍य स्‍त्रोत है। अंडे, डेयरी प्रॉडक्‍ट, मांस, प्रोटीन सप्‍लीमेंट और प्रोटीन पाउडर प्रोटीन के मुख्‍य स्‍त्रोत हैं। खाने में प्रोटीन सप्‍लीमेंट शामिल करने से पहले आपको ये जानना बेहद ज़रूरी है कि ये क्‍या होता है, कैसे बनता है, कितना खाना चाहिए और कब। तो देर किस बात की आइए जानते हैं। पढ़ें- व्हे प्रोटीन के साइड इफ़ेक्ट

प्रोटीन पाउडर क्‍या है?

Also Read

More News

प्रोटीन पाउडर दूध, छाछ, कैसिइन और सोया से बना एक सूखा पाउडर होता है। हालांकि अब मटर से भी प्रोटीन बनाया जा रहा है।

प्रोटीन पाउडर क्‍यों खाया जाता है?

जब आप प्राकृतिक खाद्य पदार्थों से आवश्‍यक प्रोटीन नहीं ले पाते हैं, तो उसकी मात्रा को पूरा करने के लिए पाउडर का इस्‍तेमाल किया जाता है। ये टेस्‍टी होता है और आसानी से पच जाता है।

फिटनेस के लिए कौन-सा सबसे अच्‍छा प्रोटीन पाउडर है?

प्‍योर व्‍हे प्रोटीन अच्‍छा माना जाता है। ये आपको सभी आवश्यक अमीनो एसिड प्रदान करता है। इसके अलावा इसका जल्‍दी से अवशोषण हो जाता है जिस वजह इसे वर्कआउट के बाद लेना अच्‍छा माना जाता है। इसमें दूध और कार्बोहाइड्रेट मिलाने से इसका अवशोषण धीरे-धीरे होता है।

एक बार में कितना प्रोटीन पाउडर खाएं?

मांसाहारी लोग प्रतिदिन एक से दो चम्‍मच पाउडर खा सकता है। लेकिन ये इस बात पर निर्भर करता है कि आपको अपने खाने से कितना प्रोटीन मिल रहा है। कुछ लोग दो से अधिक और कुछ लोग केवल एक चम्‍मच पाउडर खा सकते हैं। एथलीट और बॉड़ीबिल्‍डर अपनी आवश्‍यकतानुसार इसे खा सकते हैं।

इसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभ क्‍या हैं?

इससे आपको प्रोटीन मिलता है और आपकी इम्‍यूनिटी और शक्ति बढ़ाता है। आपकी मांसपेशियों को बढ़ाता है और लंबे समय तक आपको भूख नहीं लगने देता।

ज्‍यादा मात्रा में लेने से क्‍या होगा?

इसमें कोई दो राय नहीं है कि कोई भी पोषक तत्‍व लंबे समय तक ज्‍यादा मात्रा में लेना हानिकारक हो सकता है और प्रोटीन भी इनमें से एक है। आपको ये ध्‍यान रखना होगा कि आपको अपने खाने से कितना प्रोटीन मिलता है। उसी के आधार पर आप प्रोटीन पाउडर ले सकते हैं।

मांस और डेयरी प्रॉडक्‍ट प्रोटीन की दैनिक आवश्यकता को पूरा कर सकते हैं?

अगर आप नियमित रूप से चिकन, मछली, मांस, अंडे और डेयरी उत्पादों का उपभोग करते हैं तो आपको इसकी जरूरत नहीं है। इसका सेवन आपकी गतिविधी पर निर्भर करता है। अगर आप ज्‍यादा मेहनत वाला काम करते हैं तो आपको इसकी ज़रूरत होती है।

इसे खाने का सही समय क्‍या है?

ये विभिन्‍न बातों पर निर्भर करता है। उदाहरण के लिए व्‍हे प्रोटीन वर्कआउट और ट्रेनिंग के बाद लिया जाता है। जबकि कैसिइन रात के समय और वर्कआउट के बाद लिया जाता है।

क्‍या ये शाकाहारी लोगों के लिए सही है?

ये मट्ठा, दूध और दूध उत्पादों केसीन, सोया और मटर से बना होता है। इसलिए शाकाहारियों के लिए एक उपयुक्त विकल्प है।

मूल स्रोत -How to select a protein powder

अनुवादक – Usman Khan

चित्र स्रोत - Shutterstock


हिन्दी के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिए हमारा हिन्दी सेक्शन देखिए। स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिए न्यूजलेटर पर साइन-अप कीजिए।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on