Sign In
  • हिंदी

इन 9 कारणों से मक्का या कॉर्न ज़रूर खायें

बरसात के मौसम में भुट्ठे का लुत्फ़ उठाते हुए सौन्दर्य को निखारने का नायाब तरीका।

Written by Editorial Team |Updated : April 19, 2017 4:37 PM IST

Read this in English.

शायद कम लोगों को ही पता होता है कि मक्का या कॉर्न में छिपा होता है सेहत का खज़ाना। वैसे तो इसके बारे में बात करते ही बरसात के मौसम में ठेले के पास खड़े होकर भूट्ठा खाने की बात याद आ जाती है। साथ ही इसका स्वाद मुँह में पानी ला देता है। लेकिन इसके फायदों के बारे में जानते ही आप आश्चर्य में पड़ जायेंगे। चलिये जानते हैं, वे कौन-से हैं?

कोलेस्ट्रोल को कम करता है

Also Read

More News

आजकल तो कोलेस्ट्रोल का प्रोबलेम आम हो गया है। इसमें विटामिन सी, बायोफ्लेवोनॉयड (bioflavinoids), कैरोटेनॉयड (bioflavinoids) और फाइबर होता है जो कोलेस्ट्रोल को कम करके धमनियों के ब्लॉक होने से रोकता है। इस तरह यह हृदय को भी स्वस्थ रहने में सहायता करता है।

कैंसर के संभावना को कम करता है

कॉर्न में जो एन्टी-ऑक्सिडेंट और फ्लेवानॉयड होता है वह कैंसर होने के खतरे को कुछ हद तक कम करता है। एन्टीऑक्सिडेंट का गुण फ्री-रैडिकल्स से होने वाले क्षति को रोकता है। कॉर्न में फेरूलिक एसिड (ferulic acid) होता है जो ब्रेस्ट और लीवर के ट्यूमर के साइज़ को कम करने में मदद करता है।

त्वचा में निखार लाता है

चेहरे पर उम्र के साथ जो झुर्रियों की समस्या उत्पन्न होने लगती है, वह फ्री रैडिकल्स के कारण होता है। कॉर्न में जो विटामिन ए, विटामिन सी और एन्टी-ऑक्सिडेंट का गुण होता है वह झुर्रियों को आने से रोकता है। कॉर्न खाने का मजा लुटते हुए अपने त्वचा में निखार लाइए।

हड्डियों को मजबूत बनाता है

क्या आपको पता है कि कॉर्न जिन्क, फॉस्फोरस, मैग्नेशियम और आयरन होता है, जो हड्डियों को मजबूती प्रदान करने में अहम् भूमिका निभाता है। यहाँ तक कि गठिया या अर्थराइटिस जैसे रोगों के संभावना को भी कम करता है।

आँख को स्वस्थ रखता है

कॉर्न में बीटा-कैरोटीन होता है जो विटामिन ए के उत्पादन में सहायता करता है। यह आँख संबंधी समस्या को कम और दृश्य-शक्ति को उन्नत करता है। साथ ही बढ़ते उम्र में होने वाली रतौंधी (night blindness) या मैक्युलर डिजनरेशन (macular degeneration) के संभावना को कम करता है।

एनर्जी प्रदान करता है

कार्बोहाइड्रेड एनर्जी का स्रोत होता है। कॉर्न में कार्बोहाइड्रेड प्रचुर मात्रा में होता जो शरीर को भरपूर मात्रा में एनर्जी तो देता ही है साथ ही पेट को देर तक भरा हुआ रखता है।

कब्ज़ को दूर करता है

कब्ज़ से कौन नहीं राहत पाना चाहता है! कॉर्न में जो फाइबर होता है वह मलाशय या कोलन में जमे हुए खाद्द पदार्थों को निकालने में सहायता कर कब्ज़ के कष्ट से राहत दिलाता है।

एनिमिया को ठीक करता है

शरीर में आयरन के कमी के कारण एनिमिया की बीमारी होती है। कॉर्न आयरन के सबसे अच्छे स्रोतों में एक है। यहाँ तक कि उबला हुआ कॉर्न अपने डायट में शामिल करने से आयरन की कमी पूरी करने में मदद करने के साथ-साथ एनिमिया होने के संभावना को कम करता है। पढ़े- अनीमिया का जोखिम कम करने के लिए अपनाएं ये 7 घरेलू उपाय

गर्भवती महिलाओं के पौष्टिक आहार

कॉर्न में जो विटामिन बी9 और फॉलिक एसिड होता है वह गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।

इन सब महत्वपूर्ण जानकारी के अलावा कॉर्न एक ऐसा हेल्दी स्नैक्स है जो वज़न को कंट्रोल करने के साथ-साथ आपको हेल्दी और फिट एण्ड फाइन बनाता है।

मूल स्रोत: Top 9 reasons why corn or bhutta is an ideal snack!

अनुवादक : Mousumi Dutta

चित्र स्रोत : Shutterstock images


Total Wellness is now just a click away.

Follow us on