Advertisement

क्या Cardio workouts से बेहतर होता है HIIT workouts?

जानिए Cardio और HIIT workouts को लेकर एक्सपर्ट्स की क्या राय है!

मैं 24 वर्षीय पुरुष हूं। मैंने वजन कम करने के लिए हाल ही में जिम जॉइन किया है। मेरे दोस्तों का कहना है कि वजन कम करने के लिए नॉर्मल कार्डियो वर्कआउट से बेहतर एचआईआईटी है, क्या यह सच है? एचआईआईटी क्या है? क्या यह वजन घटाने में मदद करता है? क्या यह नियमित कार्डियो से बेहतर है? कृपया उत्तर दीजिये।

इस सवाल का जवाब मुंबई के कल्याण स्थित फोर्टिस हॉस्पिटल में हेड फिजियोथेरेपिस्ट डॉक्टर अमित पानजा दे रहे हैं।

हाई-इंटेंसिटी इंटरवल ट्रेनिंग (एचआईआईटी) एक छोटा ट्रेनिंग मॉड्यूल है, जो आमतौर पर 20 मिनट से अधिक नहीं किया जाता। इस वर्कआउट में बॉडी को इंटेंसिटी के हाई लेवल पर ले जाना होता है जिससे हड्डियों का घनत्व बढ़ता है, दिल के कामकाज में सुधार होता है और फैट कम होता है। इससे रेगुलर मसल्स एक्सरसाइज की तुलना में फैट तेजी से कम होता है और बॉडी को टोन मिलता है। यह तेजी से लोकप्रिय हो गया है क्योंकि यह मेटाबोलिज्म बढ़ाता, हार्ट रेट बढ़ाता है, कैलोरी बर्न करता है और दुबली मांसपेशियों के टिश्यू का निर्माण करता है।

Also Read

More News

एचआईआईटी के फायदे

  • अन्य एक्सरसाइज के मुकाबले 25 से 30 फीसदी अधिक कैलोरी बर्न होती है।
  • मेटाबोलिज्म बढ़ाता है, एक्सरसाइज़ के बाद मेटाबोलिज्म रेट कई घंटों के लिए बढ़ जाती है।
  • फैट बर्न होता है और स्टेमिना बढ़ता है।
  • यह ऑक्सीजन खपत को बढ़ाता है।
  • हार्ट रेट और ब्लड प्रेशर कम होता है
  • ब्लड शुगर लेवल कम होता है
  • वजन कम करने में मदद मिलती है

इस बात का रखें ध्यान

यह बात कहने में कोई अति नहीं होगी कि इस वर्कआउट से आपको बेहतर परिणाम मिलते हैं। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि इसे करने से पहले एक बार एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। हार्ट डिजीज से पीड़ित लोग इसे करने से एक्सपर्ट से जरूर सलाह लें।

Read this in English

अनुवादक – Usman Khan

चित्र स्रोत - Shutterstock

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on