Advertisement

प्रोटीन पाउडर लेना चाहिए या नहीं, क्या हैं इसके फायदे, जानने के लिए पढ़ें यह खबर

प्रोटीन पाउडर लेने से क्या वाकई वजन भी कम होता है, जानने के लिए पढ़ें यह लेख...

प्रोटीन पाउडर (protein powder) और अन्य न्यूट्रिशन सप्लीमेंट को लेकर लोगों में आमतौर पर कई दुविधाएं रहती हैं। ज्यादा प्रतिशत लोगों का यह मानना है कि ये प्रोडक्ट फिटनेस के दीवानों और बाॅडी-बिल्डर्स के लिए हैं। यह गलत-फहमी पीढ़ी-दर-पीढ़ी चली आ रही है, जिससे ऐसे प्रोडक्ट की नकारात्मक छवि बन गई है। अधिकांश लोगों में यह गलत धारणा है कि आवश्यक पोषण केवल कुदरती तकनीकियों से मिलना चाहिए। वे डरते हैं कि केमिकल्स और प्रिजर्वेटिव जो ऐसे प्रोडक्ट बनाने में इस्तेमाल किए जाते हैं, वे सेहत के लिए अच्छे नहीं, बल्कि नुकसानदायक होते हैं। इस संबंध में यह भी उल्लेखनीय है कि भारतीय बाजार में लोग खुद अपनी मर्जी से दवा दुकान से लेकर दवाइयों का (प्रोटीन पाउडर) सेवन करते हैं और घरेलू उपचार करने में अधिक विश्वास रखते हैं। पर ऐसा नहीं है, प्रोटीन पाउडर (Benefits of protein powder) भी सेहत के लिए काफी लाभदायक है।

लोग बीमारियों को हल्के में लेते हैं और डाॅक्टर के पास जाने से बचते हैं। सोचते हैं कि समस्या अपने-आप दूर हो जाएगी। इन वजहों से भी प्रोटीन पाउडर (Health Benefits of protein powder) और वेलनेस सप्लीमेंट का महत्व कम हो गया है। ओएसओएए की फाउंडर संचिता जिंदल बता रही हैं, प्रोटीन पाउडर के फायदों के बारे में...

प्रोटीन पाउडर का सेवन करने से पहले जान लें 5 बातें

Also Read

More News

अधिक सेहतमंद मांसपेशियां

शरीर की मांसपेशियां हमेशा तनाव सहती हैं। खास कर एथलीट और गर्भवती महिलाओं में यह ज्यादा होता है, इसलिए शरीर को प्रोटीन चाहिए ताकि मांसपेशियों की त्रुटि दूर हो और उनमें नई जान आ जाए। दरअसल यह एक अनिवार्य प्रक्रिया है जो इंसान की सेहत और तंदुरुस्ती को बढ़ावा देती है। प्रोटीन पाउडर का सेवन निजी जरूरत के आधार पर नियंत्रित रखना जरूरी है।

मजबूत हड्डियां

स्वस्थ जीवन का आनंद लेने के लिए हड्डियों का मजबूत होना जरूरी है। हड्डियां भंगुर और कमजोर हों तो कई समस्याएं होंगी और ऐसे में लोगों का जीवन सामान्य नहीं रह जाता है। हड्डियों को अधिक मजबूत और सेहतमंद बनाने में प्रोटीन की सदैव महत्वपूर्ण भूमिका होती है। इसलिए खास कर हड्डी की बीमारियों से परेशान महिलाओं के लिए प्रोटीन पाउडर का सेवन अनिवार्य है।

हार्मोन के कार्य पर नियंत्रण

हार्मोन का सही से काम करना कई गतिविधियों के लिए अनिवार्य है। इन गतिविधियोें का आरंभ करने और नियंत्रण रखने में हार्मोन की विशेष भूमिका है जो शरीर की तंदुरुस्ती सुनिश्चित करती है। प्रोटीन रिसेप्टर का काम करता है जिसकी इस प्रक्रिया में सक्रिय भूमिका है। प्रोटीन पाउडर इन गतिविधियों में शरीर को आवश्यक पोषण प्रदान करता है।

बॉडी बिल्डिंग के लिए करते हैं प्रोटीन पाउडर का अधिक सेवन, तो जान लें इसके नुकसान

वजन बढ़ने पर नियंत्रण

वजन बढ़ना बहुत-से लोगों की आम समस्या है। मोटापा के मुख्य कारण हैं सेहत के लिए हानिकारक आधुनिक जीवनशैली की आदतें और मेटोबाॅलिज्म में कमी। मेटाबाॅलिज्म में कमी का अर्थ शरीर आहार से प्राप्त कैलोरी का सही से इस्तेमाल नहीं कर रहा है। इस वजह से लोग ज्यादा खाते हैं और आलस्य में रहते हैं। यह भी मुमकिन है कि हम थकान को भूख समझ लें और थकान-भूख का यह चक्र चलता रहे। प्रोटीन पाउडर मेटाबाॅलिज्म बढ़ाता है और थकान-भूख का यह चक्र नहीं बनने देता है।

और भी हैं प्रोटीन पाउडर के कई लाभ

इसके कई अन्य लाभ (Benefits of protein powder) भी हैं, जैसे ब्लड प्रेशर सही रखना, बाल बढ़ने, त्वचा में कोमलता और नमी बढ़ने में सहायक होता है। इंसान का शरीर प्रोटीन का भंडार बनाने और दुबारा इस्तेमाल करने में सक्षम नहीं है, इसलिए आप जो प्रोटीन का सेवन करते हैं, उसका जल्द इस्तेमाल कर लें नहीं तो वह फैट बन जाएगा, जिससे कई अन्य समस्याएं होंगी। ऐसे में प्रोटीन के सेवन पर नजर रखना जरूरी है। पर यह भी जरूरी है कि आप हर दिन प्रोटीन का सेवना करें, ताकि आप स्वस्थ और सक्रिय रहें। हालांकि, ज्यादा प्रोटीन लेने से लंबे समय में वजन बढ़ सकता है, इसलिए शरीर को सही मात्रा में प्रोटीन देने और स्वास्थ्य समस्याएं रोकने का असरदार विकल्प प्रोटीन पाउडर (protein powder benefits on health) का सेवन करना है।

प्रोटीन शेक कब लेना चाहिए ? प्रोटीन पाउडर के फायदे और नुकसान

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on