Advertisement

वर्ल्ड हार्ट डे 2018: दिल को स्वस्थ रखना है, तो आजमाएं ये 5 स्मार्ट उपाय

अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए, प्रत्येक दिन व्यायाम करना महत्वपूर्ण है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि धमनियों में लचीलापन रहे, 30-45 मिनट की अवधि के लिए किसी भी शारीरिक गतिविधि के रूप में दैनिक व्यायाम महत्वपूर्ण है।

दुनिया भर में हृदय रोग मौत के सबसे बड़े कारणों में से एक है। वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन के मुताबिक, एक साल में हृदय रोग के कारण लगभग 1.75 करोड़ लोगों की मौत हो जाती है। इनमें से करीब 67 लाख लोगों की मौत स्ट्रोक से होती है जबकि कोरोनरी हृदय रोग के कारण 74 लाख लोग अपनी जान गंवाते हैं। हर साल 29 सितंबर को ''विश्व हृदय दिवस'' के रूप में मनाया जाता है, ताकि हृदय की कई समस्याओं के बारे में जागरूकता फैल सके और हृदय की देखभाल सम्बन्धी जानकारी मिल सके। अवीवा लाइफ इंश्योरेंस की मुख्य ग्राहक विपणन और डिजिटल अधिकारी अंजली मल्होत्रा ने व्यस्त जीवन में हृदय समस्याओं को रोकने के लिए पांच सरल और स्मार्ट तरीके सुझाए हैं, जानें कौन-कौन से हैं वे तरीके...

नियमित रूप से व्यायाम करना 

अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए, प्रत्येक दिन व्यायाम करना महत्वपूर्ण है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि धमनियों में लचीलापन रहे, 30-45 मिनट की अवधि के लिए किसी भी शारीरिक गतिविधि के रूप में दैनिक व्यायाम महत्वपूर्ण है। अध्ययनों से पता चला है कि तेज चलने से कुछ वयस्कों की जीवन अवधि में लगभग दो घंटे जुड़ सकते हैं। जीवनशैली में कुछ बदलाव जैसे एलेवेटर के बदले सीढ़ियों से चढ़ना, पार्किंग स्थल के अंतिम भाग में पार्किंग करना और अपने दोपहर भोजन के समय में से थोड़ी देर के लिए कार्यालय से ब्रेक लेकर पैदल चलने से न केवल शरीर को दुरुस्त रखने में मदद मिलती है बल्कि स्वस्थ जीवन की एक आदत भी बनती है।

Also Read

More News

इसे भी पढ़ें- जानिए, महिलाओं में कब हार्ट अटैक होने की संभावना रहती है अधिक

स्वास्थ्यवर्धक आहार का सेवन

यह एक अच्छी तरह से स्थापित तथ्य है कि सही और स्वास्थ्यवर्धक आहार स्वस्थ हृदय और स्वस्थ जीवन जीने की कुंजी है लेकिन हममें से अधिकांश इसे अनदेखा करते हैं। व्यक्ति जो खाता है, वह सीधे उसके दिल को प्रभावित करता है इसलिए हरी और पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें। चीनी और गैस युक्त पेय से परहेज करें, जितना संभव हो मीठे पेय पदार्थों को पानी से बदल दें और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों और परिष्कृत आटे का सेवन स्वस्थ जीवन और स्वस्थ दिल के लिए कम करें।

वजन कंट्रोल करना 

अत्यधिक शरीर के वजन दिल के लिए खतरनाक है। वजन पर नजर रखें क्योंकि यह उच्च कोलेस्ट्रॉल की संभावना को बढ़ाता है, जिससे मधुमेह, धमनी रोग का खतरा और रक्तचाप हो सकता है। बीएमआई (बॉडी मास इंडेक्स) पर भी नजर रखें और इसे उचित स्तर तक बनाए रखें।

इसे भी पढ़ें- पेट के मोटापे के शिकार दिल्ली के 69 % लोगों को है हृदय रोग का खतरा: सर्वे

धूम्रपान और शराब पर नियंत्रण रखें

धूम्रपान और शराब के सेवन से हृदय रोग होने का जोखिम बढ़ेगा। इन आदतों को रक्तचाप बढ़ाने के लिए जाना जाता है, जिसके कारण दिल की धड़कन अनियमित होती है और स्ट्रोक्स होते हैं। इतना ही नहीं, यह दिल की सामान्य क्रियाकलाप में व्यवधान पैदा करते हैं इसलिए यह सलाह दी जाती है कि दोनों का सेवन न करें या इसे कम करते- करते खत्म करें।

तनाव स्तर की जांच करना

ऐसे कई अध्ययन हुए हैं जिन्होंने स्थापित किया है कि तनाव दिल की समस्याओं का सबसे बड़ा कारण है। इससे दर्द और तकलीफ हो सकती है, चिंता और अवसाद की भावनाएं पैदा हो सकती हैं और आपकी ऊर्जा कम कर सकता है। तनाव को दूर रखने का प्रयास करें। काम के अलावा अन्य गतिविधियों की तलाश करें जो तनाव के स्तर को नीचे रखने में मदद करें। एक शौक या एक सकारात्मक आत्म-चर्चा करें, संगीत सुनें या अच्छी किताब पढ़ें या ध्यान करें। इन तकनीकों ने तनाव कम करने और काम और जीवन के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित करने में मदद की है।

स्रोत : आईएएनएस हिंदी

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on