Sign In
  • हिंदी

हेमोचरोमाटोसिस बीमारी क्या है ? जानें लक्षण और कारण

हेमोचरोमाटोसिस बीमारी, लक्षण और कारण। ©Shutterstock.

रक्तवर्णकता एक ऐसी बीमारी है जो एक बार किसी को हो जाये तो वह उसकी आने वाली संतानों को भी हो सकती है।

Written by akhilesh dwivedi |Updated : January 5, 2019 9:23 PM IST

हेमोचरोमाटोसिस एक बीमारी है जिसमें बहुत ज्यादा लोहे आपके शरीर में जमा होता है। आपके शरीर में लोहे की जरूरत है, लेकिन इसके बारे में बहुत ज्यादा विषैला होता है। आप रक्तवर्णकता है, तो आप और अधिक लोहे की तुलना में आप की जरूरत को अवशोषित।

आपके शरीर में कोई प्राकृतिक तरीका अतिरिक्त लोहे से छुटकारा पाने के लिए किया है। यह शरीर के ऊतकों, विशेष रूप से जिगर, दिल, और अग्न्याशय में यह भंडार। अतिरिक्त लौह अपने अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है। उपचार के बिना, यह अपने अंगों को विफल करने के लिए पैदा कर सकता है।

रक्तवर्णकता कितने प्रकार की होती है ?

Also Read

More News

हेमोचरोमाटोसिस के दो प्रकार के होते हैं। प्राथमिक रक्तवर्णकता एक विरासत में मिला बीमारी है। माध्यमिक रक्तवर्णकता आमतौर पर इस तरह एनीमिया, थैलेसीमिया, यकृत रोग, या रक्ताधान के रूप में कुछ और, का परिणाम है।

इन बीमारियों के हो गये शिकार तो आपकी आने वाली संताने भी रहेंगी परेशान।

हेमोचरोमाटोसिस के कई लक्षण अन्य बीमारियों के उन लोगों के लिए समान हैं। हर कोई नहीं लक्षण है। यदि आप करते हैं, आप जोड़ों के दर्द, थकान, सामान्य कमजोरी, वजन घटाने, और पेट दर्द हो सकता है।

आपका डॉक्टर अपने चिकित्सा और परिवार के इतिहास, एक शारीरिक परीक्षा, और परीक्षण और प्रक्रियाओं से परिणाम के आधार पर रक्तवर्णकता का निदान होगा। उपचार के लिए अपने आहार में अपने शरीर, दवाओं, और परिवर्तन से रक्त (और लोहे) को हटाने में शामिल हैं।

हेमोचरोमाटोसिस क्या लक्षण होते हैं ?

जोड़ों का दर्द

पेट में दर्द

थकान

दुर्बलता

मधुमेह

सेक्स ड्राइव का नुकसान

नपुंसकता

ह्रदय का रुक जाना

लीवर फेलियर

सामान्य कारण

सी 282 वाई और एच 63 डी जीन में उत्परिवर्तन

गंभीर रक्ताल्पता के साथ रोगी में रक्त संक्रमण

लीवर की बीमारी

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on