• हिंदी

पैरों की स्किन के रंग में बदलाव हो सकते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल के संकेत, जानिए इसके अन्य 5 लक्षण

पैरों की स्किन के रंग में बदलाव हो सकते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल के संकेत, जानिए इसके अन्य 5 लक्षण
Cholesterol Symptoms in Legs

Cholesterol Symptoms in Feet and Legs :  शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने से कई तरह के लक्षण नजर आते हैं। आइए जानते हैं इन लक्षणों के बारे में विस्तार से-

Written by Kishori Mishra |Published : November 30, 2023 9:19 AM IST

Cholesterol Symptoms in Feet and Legs :  दुनियाभर में कई तरह की बीमारियों का खतरा तेजी से बढ़ रहा है। मुख्य रूप से इन दिनों लोगों को लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियां काफी तेजी से हो रही हैं। इन बीमारियों में हाई ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल, यूरिक एसिड, कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याएं शामिल हैं। कोलेस्ट्रॉल एक ऐसी समस्या है, जिसकी वजह से कई तरह की समस्याएं जैसे- हार्ट अटैक, स्ट्रोक इत्यादि का खतरा बढ़ जाता है। कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर में मौजूद एक वैक्स की तरह चिपचिपा पदार्थ होता है, जो शरीर के लिए बेहद ही नुकसानदेह हो सकता है। इसलिए इसे कंट्रोल करना बहुत ही जरूरी है। शरीर में बढ़ते कोलेस्ट्रॉल के कई लक्षण अलग-अलग हिस्सों में नजर आते हैं, जिसमें कुछ लक्षण पैरों पर भी दिखते हैं। पैरों पर कोलेस्ट्रॉल के लक्षण निम्न हो सकते हैं। आइए विस्तार से जानते हैं इस बारे में-

पैरों की स्किन के रंग में बदलाव

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से पैरों के रंग में बदलाव देखे जा सकते हैं। दरअसल, जब हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है, तो ब्लड सर्कुलेशन सही से नहीं हो पाता है, जिसकी वजह से पैरों के में ऑक्सीजन का फ्लो कम हो जाता है। ऐसी स्थिति में पैरों की स्किन का रंग बैंगनी या नीला नजर आता है। 

पैरों में तेज दर्द होना 

शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर काफी तेजी से बढ़ने की वजह से पैरों में अक्सर दर्द की परेशानी होने लगती है। पैरों में दर्द होना कोलेस्ट्रॉल की ओर इशारा करता है। इस तरह के लक्षणों को नजरअंदाज करने से बचें। 

Also Read

More News

पैरों की सुन्नता

ब्लड में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने की वजह से पैरों पर इसका नेगेटिव असर पड़ता है। इसकी वजह से मुख्य रूप से पैरों में सुन्नता महसूस होती है। पैरों में सुन्नता होने पर चलने में भी परेशानी होने लगती है। इस स्थिति में आपको तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह की जरूरत होती है।

तलवों का ठंडा रहना

वैसे तो पैरों का ठंडा होना काफी कॉमल है, लेकिन हाई कोलेस्ट्रॉल की स्थिति में पैरों का तलवा अक्सर ठंडा रहता है। ऐसे में अगर आपके पैरों के तलवे लंबे समय से ठंडे हो रहे हैं, तो फौरन अपने हेल्थ एक्सपर्ट की सलाह लें। 

पैरों का घाव न भरना

कुछ स्थितियों में हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों के पैरों पर घाव बनने लगते हैं, जिसे भरने में काफी ज्यादा परेशानी होने लगती है। दरअसल, कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर ब्लड सर्कुलेशन सही नहीं होता है। ऐसे में इसका सीधा असर पैरों पर पड़ता है। इसकी वजह से घाव तेजी से नहीं भर पाता है। 

हाई कोलेस्ट्रॉल की स्थिति में शरीर में कई तरह के बदलाव देखे जा सकते हैं। ऐसी स्थिति में आपको थोड़ा सतर्क होने की जरूरत होती है। ताकि आपकी स्थिति गंभीर रूप धारण न कर सके।