Advertisement

मांशपेशियों में रहता है दर्द, आराम मिलेगा जब अपनाएंगे ये आसान से टिप्स

दौड़कर या अधिक एक्सरसाइज करके आएं, तो चेरी का रस पीकर देखें। यह मांसपेशियों में होने वाले दर्द को दूर करने में सहायक होता है।

दिन-रात कड़ी मेहनत करने से शरीर की मांसपेशियों में दर्द होने लगता है। लगातार कुर्सी पर बैठे-बैठे काम करने से भी मसल्स, हड्डियों आदि में थकान महसूस होती है। बेहतर खानपान रोजमर्रा की थकान को दूर करने के लिए बेहत जरूरी है। खासकर, मांसपेशियों में थकान होने पर आपको अपने लाइफस्टाइल पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है।

कई बार मांसपेशियों में दर्द किसी चोट या दुर्घटना, मांसपेशियों के अत्याधिक उपयोग, या मांसपेशियों में तनाव या फिर किसी मेडिकल परिस्थितियों के कारण भी होता है। जरूरी नहीं कि हर दर्द को दवाओं के जरिए ही दूर किया जाए। मांसपेशियों के दर्द को प्राकृतिक तरीके या फिर खास व्यायाम और मालिश के जरिए भी आप दूर कर सकते हैं। इसके कोई साइड एफेक्ट भी नहीं होते हैं। अधिक व्यायाम करने से भी दर्द होता है, इसलिए किसी जिम एक्सपर्ट या योगाचार्य से सलाह लेने के बाद ही कोई भी एक्सरसाइज करें।

दो मुख्य रोग

Also Read

More News

योगाचार्य डॉ. शैलेन्द्र शेखर कहते हैं कि मांसपेशियों के दो प्रमुख रोग हैं- मायल्जिया यानी पेशियों की पीड़ा और मायस्थीनिया यानी पेशियों की दुर्बलता। यह एक भयानक रोग है। जब मांसपेशियों को अधिक परिश्रम करना पड़ता है, तो उनमें दर्द होना शुरू हो जाता है। चोट लगने से भी ऐसा होता है। मांसपेशियों की दुर्बलता दर्द और दुर्बलता शरीर के किसी भी अंग में हो सकती है। इन सब रोगों से बचने का सर्वोत्तम उपाय है- व्यायाम और योगासन। मांसपेशियों को स्वस्थ और मजबूत रखने का सबसे आसान उपाय है- सप्ताह में कम से कम एक बार मालिश। थकी हुई मांसपेशियों को मालिश से बहुत आराम मिलता है और इससे रक्तचाप भी ठीक रहता है। मालिश से मांसपेशियों को पोषण मिलता है और शरीर में आवश्यक गर्मी उत्पन्न होती है।

Fibromyalgia1

तेल से करें मालिश

तेल से मालिश करने से मांसपेशियों में रक्त परिसंचरण बढ़ता है, जिससे मांसपेशियों को गर्मी मिलती है। यह लैक्टिक एसिड को दूर करता है, जबकि तेल मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है। दर्द से राहत दिलाता है। विभिन्न प्रकार के तेल जैसे पाइन, लैवेंडर, अदरक और पिपरमेंट का तेल मांसपेशियों के दर्द को कम करने में सहायक होते हैं।

Fibromyalgia2

पिएं चेरी जूस

जब आप दौड़कर या अधिक एक्सरसाइज करके आएं, तो चेरी का रस पीकर देखें। यह मांसपेशियों में होने वाले दर्द को दूर करने में सहायक होता है। चेरी में एंथोक्यनिंस नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो जलन को कम करता है। दर्द और जलन को कम करने के लिए चेरी का खट्टा रस पिएं। इससे पैरों और हाथ की मांसपेशियों में होने वाले दर्द से आराम मिलेगा।

मैग्नीशियम सल्फेट से करें स्नान

मैग्नीशियम सल्फेट प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला खनिज है, जो मांसपेशियों के ऊतकों की सूजन को कम करता है। इससे मांसपेशियों में होने वाले दर्द से भी आराम पहुंचाता है। यदि आप काफी दिनों से फाइब्रोमाइल्जिया से पीड़ित हैं, तो इसमें भी मांसपेशियों के दर्द से आराम मिलता है। जब आप स्नान करने जाएं, तो पानी थोड़ा गुनगुना रखें। इस पानी में 1-2 कप ऐप्सम सॉल्ट मिलाएं और इसमें आधे घंटे के लिए आराम करें। ऐसा करने से मांसपेशियों के दर्द और ऐंठन से आराम मिलता है। शरीर को ऊर्जा महसूस होती है। तनाव कम होता है।

Fibromyalgia3

एक्यूप्रेशर भी है बेहतर

एक्यूप्रेशर एक वैज्ञानिक पद्धति है, जिसमें आराम पहुंचाने के लिए शरीर के विभिन्न एक्यूप्रेशर प्वॉइंट्स पर दबाव दिया जाता है। इससे ये उत्तेजित हो जाते हैं। यह मांसपेशियों को आराम पहुंचाने तथा उन्हें ठीक करने में सहायक होता है।

लेप से पाएं राहत

कुछ जडी बूटियों में एंटीइन्फ्लेमेटरी और आरामदायक गुण होते हैं, जबकि हर्बल लेप यानी जड़ी बूंटियों के अर्क का अर्द्ध ठोस रूप जिसे लोशन, जेल या बाम के रूप में इस्तेमाल होता है, त्वचा तथा ऊतकों में अंदर तक प्रवेश कर इन्हें आराम पहुंचाते हैं।

चित्रस्रोत: Shutterstock.

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on