Advertisement

डायबिटीज और हार्ट की बीमारियां रहेंगी दूर, जीवन में आपनाएं ये रूल

यह अध्ययन 20 देशों के 29 करोड़ लोगों के आंकड़ों के विश्लेषण पर आधारित है।

आधुनिक जीवन शैली में जहां एक ओर इंसान प्रकृति से दूर होता जा रहा है वहीं वह तरह-तरह की बीमारियों के घेरे में भी आ रहा है। कई तरह की रिपोर्ट्स और शोध यह बताते हैं कि आधुनिक जीवनशैली की वजह से ही डायबिटीज की खतरा बढ़ रहा है। डायबिटीज के अलावा हार्ट की बीमारियां भी बढ़ रही हैं। यही सब कारण हैं कि आप जब भी किसी एक्सपर्ट के पास जाते हैं तो वह सक्रिय जीवनशैली को अपनाने की सलाह देते हैं।

हाल ही में हुए एक रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि जो लोग नेचर के पास ज्यादा रहते हैं और बाहर समय गुजारते हैं तो उनको टाइप-टू डायबिटीज, हार्ट की बीमारियां और अकाल मौत का खतरा कम होता है। इसके अलाव समय से पूर्व जन्म और डिप्रेशन और तनाव की समस्या भी कम होती है।

यह अध्ययन 20 देशों के 29 करोड़ लोगों के आंकड़ों के विश्लेषण पर आधारित है। अध्ययनकर्ताओं ने पाया कि जो लोग प्रकृति के आस-पास ज्यादा रहते हैं उनकी हेल्थ बेहतर रहती है। जो लोग नियमित तौर पर बाहर घूमने जाते हैं या प्राकृतिक पर्यटन स्थलों में घूमने जाते हैं उनके हेल्थ पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

Also Read

More News

शोधकर्ताओं में शामिल ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑाफ ईस्ट एंगलिया के काओम्हे तोहिग-बेनेट के अनुसार नेचर के आस-पास समय बिताने से निश्चित तौर पर लोगों के हेल्थ पर असर करता है। इसमें अभी लम्बें समय तक हेल्थ पर पड़ने वाले प्रभाव को ठीक से समझा नहीं गया था।

इस शोध में शोधकर्ताओं ने नेचर के आस-पास ज्यादा समय तक रहने वालों की तुलना ऐसे लोगों से की जो नेचर के आस-पास कम रहते हैं या जो लोग हरियाली दे दूर रहते हैं।

शोधकर्ता तोहिग-बेनेट बताते हैं कि हम अपने शोध में यह पाते हैं कि हरे-भरे जगहों पर या इसके आस-पास रहना हेल्थ के लिए बेहतर है। इसका सबसे बड़ा फायदा है कि टाइफ-टू डायबिटीज, हार्ट की बीमारियां, आकस्मिक मौत और समय पूर्व जन्म सहित अन्य खतरों को कम करने में यह सहायक है तथा यह भी देखा गया है कि बेहतर नींद की अवधि भी बढ़ती है।

चित्रस्रोत: Shutterstock.

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on