Advertisement

गले में इन्फेक्शन होने पर शरीर में दिखते हैं ये 7 लक्षण, आज ही जानें और नजरअंदाज ना करें

Throat infection in hindi: गले में इन्फेक्शन कई कारणों से हो सकत है। इसे होने पर गले में दर्द के अलावा शरीर में भी कई लक्षण भी नजर आते है। आइए जानते हैं विस्तार से।

गले में इंफेक्शन (Throat infection) बेहद ही आम समस्या है। ये कई कारणों जैसे कि बैक्टीरियल इंफेक्शन, वायरल इंफेक्शन और एलर्जी क कारण होता है। तो कई बार मौसम का बदल और फ्लू की वजह से भी गले में इंफेक्शन होता है। यह तीन तरीके से हो सकता है। जैसे कि मुंह के ठीक पीछे के क्षेत्र में। टोंसिलिटिस या कहें कि टॉन्सिल में और वॉइस बॉक्स में। लेकिन लोग अक्सर इसके उन्हीं लक्षणों पर ध्यान देते हैं जो कि गला से जुड़ा होता है। लेकिन कई लक्षण ऐसे भी होते हैं जो कि गले के अलावा शरीर के दूसरे अंगों में भी नजर आते हैं। आइए जानते हैं।

गले में इन्फेक्शन होने पर शरीर में दिखते हैं ये 7 लक्षण-Symptoms of throat infection in hindi

1. शरीर मैं दर्द (body pain)

जब आपके फेरिंग्क्स यानी गले के अंदर सूजन होती है तो इसे फैरिन्जाइटिस (pharyngitis) कहते हैं। इसमें गले में सूजन के साथ-साथ खराश और दर्द का सामना भी करना पड़ता है। ये एक प्रकार के बैक्टीरियल इंफेक्श के कारण होता है और बढ़ने पर इसके कारण सिरदर्द, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द और गर्दन में तेज दर्द महसूस होता है।

2. खांसी और कंजेशन (cough and congestion)

गले में इंफेक्श जो कि बैक्टीरिया या वायरस के कारण होता है तो कई बार ये खांसी जैसा भी महसूस होता है। इसमें पीला, हल्का भूरा या हरी बलगम वाली खांसी होती है। खास बात ये है कि इसमें फेफड़ों में ज्यादा कुछ महसूस नहीं होता है और ज्यादातर लक्षण गले में ही महसूस होता है।

Also Read

More News

3. बुखार और ठंड लगना (fever and chills)

स्ट्रेप थ्रोट स्ट्रेप्टोकोकल बैक्टीरिया (Streptococcal bacteria) के कारण होने वाले गले और टॉन्सिल का संक्रमण है जिसमें कि व्यक्ति को बुखार और ठंडे लगने जैसी चीजें महसूस होती हैं। इसमें कुछ विशिष्ट लक्षण नजर आते हैं जैसे कि गले में खराश, ठंड लगना, बुखार और गर्दन में सूजन लिम्फ नोड्स से जुड़ी समस्याएं। स्ट्रेप थ्रोट एंटीबायोटिक उपचार से ठीक हो जाता है। लेकिन अगर इसे नजरअंदाज किया जाए तो ये गंभीर हृदय और गुर्दे की जटिलताओं का कारण बन सकता है।

4. आवाज का बैठना (Hoarse Voice)

गले में इन्फेक्शन होने पर आपकी आवाज रह-रह कर बार बार बैठ सकती है। कई बार आपको लग सकता है कि आपके गले में कुछ अटका हुआ है जबकि ये गले में सूजन में इंफेक्शन के कारण होती है।

5. निगलने में कठिनाई (difficulty in swallowing)

इंफेक्शन होने पर कई बार निगलने में कठिनाई होती है। खास कर कि जब आपको बैक्टीरियल इंफेक्शन हुआ हो। दरअसल, इस दौरान होता ये है कि इंफेक्शन तेजी से फैल रहा होता है और आपके खाने-पीने के तरीके को प्रभावित करता है। फिर निगलने वाली मांसपेशियों में सूजन आ जाती है जिससे आपको निगलने में दिक्कतमहसूस हो सकती है।

6. टॉन्सिल या गले में सफेद दाने (rash in tonsils or throat)

टॉन्सिलिटिस एक सामान्य शब्द है जो टॉन्सिल के संक्रमण को संदर्भित करता है। यह संक्रमण आमतौर पर एस पाइोजेन्स के कारण होता है, लेकिन अन्य बैक्टीरिया या वायरस भी इसका कारण बन सकते हैं। जब आपके टॉन्सिल संक्रमण से लड़ने की कोशिश करते हैं, तो वे सूज जाते हैं और सफेद मवाद पैदा कर सकते हैं। ऐसे में कई बार टॉन्सिल या गले में सफेद दाने भी होते हैं।

7. गले का बार-बार सूखना (dryness in throat)

गले का बार-बार सूखना इंफेक्शन का संकेत हो सकता है। दरअसल, जब आपकी मांसपेशियों में संक्रमण के कारण सूजन होने लगती है तो गला लार नहीं बना पाता है और

रह-रह कर सूखने लगता है।

तो, गले में इंफेक्शन के ये लक्षण अगर आपको बार-बार नजर आए तो इसे नजरअंदाज ना करें। साथ ही घरेलू उपायों को करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें और इसका इलाज करवाएं।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on