Advertisement

ये हैं वो नेचुरल पेनकिलर्स जो हर दर्द को चुटकी में करते हैं दूर, जानें कैसे करें इनका सेवन

हींग में ऐसे इंफ्लेमेट्री ऑक्सीडेंट्स होते हैं, जोे पेट दर्द, उल्टी, गैस, अपच जैसी समस्याओं को दूर करते हैं।

जब भी शरीर में थोड़ा सा दर्द उठता नहीं कि लोग पेन किलर खाने लगते हैं। दवाओं का अधिक सेवन शरीर के लिए ठीक नहीं है। इससे कई तरह के साइड एफेक्ट भी हो सकते हैं। आपके किचन में ही कई ऐसी चीजें मौजूद हैं, जो हर तरह के दर्द को दूर करने के साथ ही कई रोगों को कंट्रोल में रखने के काम आती हैं। जानें, दर्द निवारक उन घरेलू चीजों के बारे में जिनके सेवन से आप दर्द के साथ ही कई रोगों से भी छुटकारा पा सकते हैं।

हल्दी

इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स और करक्यूमिन तत्व घाव को भरने के साथ-साथ दर्द में भी राहत देते हैं। वर्षों से हल्दी का इस्तेमाल घावों को भरने के लिए किया जाता रहा है। हल्दी दूध पिएं। इससे शारीरिक दर्द और थकान मिटती है। इम्युनिटी मजबूत होती है, जिससे आप किसी भी तरह के दर्द से परेशान नहीं रहेंगे।

Also Read

More News

वर्ल्ड हेल्थ डे 2019 : इस विश्व स्वास्थ्य दिवस पर दौड़ कर अपनी जिंदगी को बनाएं बेहतर

यूं करें इस्तेमाल

– कच्ची हल्दी को पीस लें। कच्ची हल्दी नहीं है, तो बाजार में मिलने वाले हल्दी के पाउडर को पीसकर घी में भून लें। इसमें चीनी मिलाएं। इससे डायबिटीज में लाभ होता है।

- गले में दर्द या सूजन हो, तो कच्ची हल्दी अदरक के साथ पीसकर गुड़ मिलाकर गर्म कर लें। इसका सेवन करें।

नींबू

नींबू में भी दर्द निवारक विशेषताएं मौजूद होती हैं, जिससे दर्द में तुरंत आराम मिलता है।

यूं करें इस्तेमाल

- गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाएं। इसमें एक कपड़ा डुबाकर दर्द वाली जगह पर रखें। पांच से सात मिनट तक ऐसा करने से दर्द में आराम मिल जाएगा।

– नींबू का रस ठंडे पानी में मिलाकर पीने से गर्मी के कारण उत्पन्न बेचैनी दूर होती है।

– एक गिलास ठंडे पानी में नींबू का रस मिलाकर सुबह पिएं। इससे कब्ज दूर होता है।

इन फलों को खाकर आप दिखेंगी हमेशा यंग, नहीं दिखेगा चेहरे पर बढ़ती उम्र का असर

[caption id="attachment_659688" align="alignnone" width="655"]Natural Painkillers ginger एंटीइंफ्लेमेट्री प्रॉपटीज से भरपूर अदरक पेटदर्द व पेट संबंधी विकारों को दूर करने में मदद करता है। © Shutterstock.[/caption]

अदरक

एंटीइंफ्लेमेट्री प्रॉपटीज से भरपूर अदरक पेट दर्द व पेट संबंधी विकारों को दूर करने में मदद करता है। बुखार और गले में दर्द होने पर अदरक का सेवन करने से तुरंत आराम मिलता है।

यूं करें इस्तेमाल

– अदरक का रस और शहद मिलाकर सेवन करने से बैठी हुई आवाज खुलती है।

– अदरक और प्याज का रस मिलाकर पीने से उल्टी बंद होती है।

– 4 ग्राम सोंठ का चूर्ण पानी के साथ सेवन करने से मसूड़ों की सूजन तथा दांतों का दर्द दूर होता है।

हींग

इसमें ऐसे इंफ्लेमेट्री ऑक्सीडेंट्स होते हैं, जोे पेट दर्द, उल्टी, गैस, अपच जैसी समस्याओं को दूर करते हैं। पेट दर्द होने पर हींग को पानी में घोलकर नाभि के आसपास लगाने से पेटदर्द और गैस में आराम मिलता है।

यूं करें इस्तेमाल

– हींग, कपूर और आम की गुठली समभाग में लेकर पुदीने के रस में पीसकर चने के बराबर गोलियां बना लें। चार-चार घंटे पर यह गोली देने से हैजे में फायदा होता है।

– हींग को पानी में उबालकर उस पानी से कुल्ले करने से दांत की पीड़ा दूर होती है। यदि दांत में पोल हो, तो पोल में हींग भरने से दंतकृमि मर जाते हैं और दांत की पीड़ा दूर हो जाती है।

मेथी

यह भी पेनकिलर का काम करती है। मेथी में ऐसे तत्व होते हैं, जो डायबिटीज को नियंत्रित करते हैं।

यूं करें इस्तेमाल

– पेट में जलन होने पर मेथी की सूखी पत्तियों और शहद को मिलाकर काढ़ा बनाएं। दिन में दो बार इसे पीने से पेट की जलन से राहत मिलती है।

– डिलीवरी के बाद महिलाओं को मेथी का लड्डू खाना चाहिए। इससे प्रेग्नेंसी के बाद शरीर मजबूत होता है और कमजोरी महसूस नहीं होती। ब्रेस्टफीड कराने वाली महिलाओं के लिए मेथी के पत्तों की सब्जी बहुत फायदेमंद होती है।

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on