Sign In
  • हिंदी

Depression Types: 6 प्रकार का होता है डिप्रेशन (अवसाद), जानिए आप किस Depression के हैं शिकार

डिप्रेशन के लक्षण दिखाई देने पर तुरंत मानसिक रोग विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए।

आमतौर पर किसी भी बात की चिंता डिप्रेशन की वजह नहीं बनती लेकिन किसी विषय में रात-दिन, सोते-जागते सोचते रहने से या चिंता करने से स्थिति खराब हो सकती है और बेहद खतरनाक भी हो सकती है।

Written by Atul Modi |Published : March 12, 2021 9:50 PM IST

दुनिया भर में अवसाद या डिप्रेशन (Depression) एक आम बीमारी है, जिसके 264 मिलियन (26 करोड़ 40 लाख) से अधिक लोग प्रभावित हैं। असल में डिप्रेशन सामान्य मनोदशा के उतार-चढ़ाव और मूड स्विंग से अलग है। यही कारण है कि, हर साल लाखों लोग आत्‍महत्‍या या सुसाइड कर लेते हैं। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, हर साल लगभग 800000 लोग आत्महत्या करते हैं। जो कि 15-29 वर्षीय बच्चों में मृत्यु का दूसरा प्रमुख कारण है। यही नहीं आंकड़ों के अनुसार, पुरुषों की तुलना में महिलाएं अवसाद से ज्‍यादा प्रभावित होती हैं।

दरअसल, आजकल के दौर में हर कोई अपनी भागदौड़ भरी जिन्दगी से परेशान है। हर कोई किसी ना किसी तनाव या स्ट्रेस से जूझ रहा है। जिसका असर सीधा हमारे दिमाग पर पड़ता है। जिससे इंसान के दिमाग में कई तरह के विकार भी पनपने लगते है। मन हमेशा अशांत और अस्थिर रहता है। तनाव धीरे-धीरे इंसान को खोखला करता चला जाता है।

डिप्रेशन या अवसाद क्या होता है - Depression Kya Hota Hai In Hindi

डिप्रेशन एक मानसिक बीमारी है। डिप्रेशन की तुलना में क्लिनिकल डिप्रेशन एक गंभीर अवस्‍था है। अगर आप कभी-कभी खुद को बेहद अकेला, उदास या खुद को किसी से कम महसूस करते हैं, तो आप डिप्रेशन का शिकार हो सकते हैं। डिप्रेशन के निदान के लिए इससे जुड़े लक्षणों को पहचानना बेहद जरूरी है। वरना धीरे-धीरे आप ऐसी स्थिति में चले जाएंगे जिससे निकल पाना बेहद मुश्किल हो सकता है।

Also Read

More News

डिप्रेशन या अवसाद कितने प्रकार का होता है - Types Of Depression In Hindi

आमतौर पर अधिकांश लोग डिप्रेशन के प्रकारों से अनजान होते हैं। तो जानिए डिप्रेशन के कितने प्रकार होते हैं?

1. मेजर डिप्रेशन - Major Depression

इस तरह के डिप्रेशन के शुरूआती दौर में आपको काम करने की क्षमता, नींद, पढ़ाई, भोजन या किसी भी पार्टी में शामिल होने में बाधा डाल सकता है। हर किसी के जीवन में एक बार ऐसा दौर जरुर आता है जब वो मेजर डिप्रेशन से गुजरता है।

2. बाइपोलर डिप्रेशन - Bipolar Depression

एक अन्य प्रकार का डिप्रेशन बाइपोलर या मैनिक-डिप्रेसिव विकार है। यह पुरुषों और महिलाओं में समान रूप से होता है, जबकि 83 प्रतिशत मामलों को गंभीर माना जाता है।

3. लगातार तनाव में रहना - Sadness

अगर आपको किसी भी तरह का तनाव या चिंता एक साल से ज्यादा से है तो, ये डिप्रेशन का काफी गम्भीर चरण होता है, जिसमें संभलना बेहद जरूरी है।

4. गर्भावस्था से जुड़ा तनाव - Pregnancy Depression

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को उनके प्रसव को लेकर कई चिंता सताती है, जिससे तनाव होना आम है। ऐसे समय में महिला के साथ परिवार का सपोर्ट होना आवश्‍यक है।

5. सीजनल अफेक्टिव डिसऑर्डर - Seasonal Affective Disorder

इस तरह का डिप्रेशन सीजन यानि की मौसम के साथ होता है। आम तौर पर इस तरह का डिप्रेशन सर्दियों के मौसम के साथ शुरू होता है और वसंत और गर्मियों के मौसम आने तक खत्म भी हो जाते हैं।

6. साइकोटिक डिप्रेशन - Psychotic Depression

इस तरह का डिप्रेशन काफी गम्भीर होता है। इससे इंसान को गलत भ्रम रहता है। आप अक्सर उन्हीं चीजों को देखते हैं, जिससे आपका तनाव बढ़ता है।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on