Advertisement

खतरनाक हो सकता है बरसात में फंगल इंफेक्शन, यूं रहें सुरक्षित

बारिश में त्वचा को अनदेखा करने से यही छोटी सी असावधानी कई बार फंगस से संक्रमित होने का कारण बन जाती है।

मॉनसून न केवल भीषण गर्मी बल्कि गर्मी से होने वाली बहुत सी बीमारियों से भी हमें राहत दिलाता है, लेकिन बारिश का यह मौसम अपने साथ कई स्वास्थ्य व त्वचा से जुड़ी समस्याएं भी लेकर आता है। त्वचा पर लाल चकत्ते, मुंहासे, उलझे चिपचिपे बाल जैसी दिक्कतों के साथ एक दिक्कत और आती है और वह है 'फंगल संक्रमण'। मानसून की शुरुआत के बाद फंगल संक्रमण के मरीजों की संख्या बढ़ जाती है। फंगस पैदा करने वाले जीवाणु आमतौर पर मानसून के दौरान कई गुना तेजी से फैलते हैं। यह सामान्य तौर पर शरीर के नजरअंदाज किए गए अंगों जैसे की पैर की उंगलियों के पोरों पर, उनके बीच के स्थानों पर या उन जगहों पर जहां जीवाणु या कवक का संक्रमण बहुत अधिक तेजी से होता है, वहां फैलते हैं।

यह भी पढ़ें- मानसून में जरा सी भी लापरवाही, सेहत पर पड़ सकती है भारी

1 अक्सर मॉनसून के दौरान लोग हल्की बूंदा-बांदी में भीगने के बाद अपनी त्वचा को अनदेखा कर देते हैं, लेकिन यही छोटी सी असावधानी कई बार फंगस से संक्रमित होने का कारण बन जाती है। फंगल संक्रमण से बचने के लिए यह बहुत आवश्यक है कि आप इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि त्वचा ज्यादा देर तक गीली नहीं रहे।

Also Read

More News

2 यह समस्या जुलाई और अगस्त के महीने के दौरान काफी बढ़ जाती है।

3 स्कैल्प में होने वाले फंगल संक्रमण के लक्षण सामान्य फंगल संक्रमण से अलग होते हैं । सामान्यतौर पर यह स्कैल्प पर छोट-छोटे फोड़ों, दानों या चिपचिपी परत के रूप में दिखाई देता है। आपको ऐसा कोई लक्षण नजर आए तो फौरन ही विशेषज्ञ की मदद लें अन्यथा समय पर इलाज नहीं करने पर यह आपके बाल झड़ने का बड़ा कारण बन सकता है।

यह भी पढ़ें- मानसून का खुलकर लेना है मजा, तो रखना होगा इन बातों का ध्यान

4 सर गंगाराम अस्पताल के त्वचा विशेषज्ञ डॉ. रोहित बत्रा का कहना है, "इस समस्या से बचने के लिए खुद को साफ और सूखा रखना आवश्यक है। इसके साथ ही एंटीबैक्टीरियल साबुन के प्रयोग से भी आप खुद को फंगस से संक्रमित होने से बचा सकते हैं। इसके अलावा अपने कपड़ों को नियमित रूप से धोएं। बरसात में अगर आपके कपड़ों में कीचड़ आदि लग जाए तो उसे फौरन धो लें। इससे फंगल संक्रमण से बचाव में मदद मिलेगी।"

5 रोहित बात्रा का कहना है कि पिछले एक महीने में फंगल संक्रमण के बहुत से मामले देखने को मिले हैं। ऐसे में आपका सतर्क रहना बहुत ही जरूरी है। अगर आपको आपकी त्वचा में कुछ भी अजीब नजर आए तो फौरन किसी अच्छे त्वचा विशेषज्ञ से संपर्क करें, क्योंकि मॉनसून के दौरान त्वचा से संबंधित बहुत सी समस्याओं का जन्म होता है। विशेषज्ञ की राय लें, जिससे फंगल संक्रमण से आप पूरी तरह से मुक्त हो सकें।

स्रोत:IANS Hindi.

चित्रस्रोत:Shutterstock

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on