Sign In
  • हिंदी

Seasonal Diseases: बदलते मौसम में हो सकती हैं ये बीमारियां, जान लें फ्लू और कोरोना फीवर में फर्क

48 दिनों के भीतर ही COVID-19 के दो अलग-अलग वेरिएंट से संक्रमित हुआ मरीज, जानें कब होता है ऐसा

मौसम बदल रहा है। कभी भीषण गर्मी तो कभी बारिश, ऐसे में सर्दी-जुकाम और बुखार होने का खतरा बढ़ जाता है। कोरोना का भी प्रकोप लगातार बढ़ रहा है और इसमें भी खांसी-सर्दी, बुखार जैसे लक्षण नजर आते हैं। ऐसे में कोरोना फीवर और सामान्य बुखार में फर्क और लक्षणों को समझना होगा।

Written by Anshumala |Updated : June 7, 2020 12:32 PM IST

Flu & Corona fever difference: मौसम बदल रहा है। कभी भीषण गर्मी तो कभी बारिश। दिन में गर्मी तो रात में सोते समय हल्की ठंड लगती है। ऐसे में सर्दी-जुकाम, खांसी, बुखार से लोग बीमार पड़ सकते हैं। अभी कोरोनावायरस का भी प्रकोप लगातार बढ़ ही रहा है, ऐसे में खुद की सेहत का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। इस बदलते मौसम में खास सावधानी बरतने की जरूरत है। बदलता हुआ मौसम (Seasonal Diseases) खासकर बच्चों के लिए नुकसानदायक हो सकता है। आजकल सर्दी, खांसी, बुखार, सिर दर्द, थकान होने को लोग कोरोना के लक्षण भी समझ लेते हैं, लेकिन दोनों के लक्षणों में फर्क है। कोरोना संक्रमित (Corona infection) होने पर बुखार बहुत तेज (Flu & Corona fever difference) होता है। सूखी खांसी होती है। मौसम में उतार-चढ़ाव होने से मौसमी बीमारियों के होने का खतरा (Risk of Seasonal diseases) बढ़ जाता है।

बढ़ रहा है मौसमी बीमारियों का खतरा

इन दिनों बारिश होने से मच्छरों की संख्या भी बढ़ जाती है। मच्छर जनित रोगों जैसे मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया के साथ ही फ्लू, वायरल बुखार, खांसी, सर्दी-जुकाम, गले में खराश आदि होने का रिस्क बढ़ दाता है। इसके साथ ही बारिश के कारण बाहर खाने से फूड प्वॉइजनिंग, डायरिया जैसी भी समस्याएं होती हैं। ये समस्याएं होने पर आपको कोरोना का भी टेस्ट करवाना पड़ सकता है।

बच्चों की करें खास देखभाल

इन दिनों सभी पेरेंट्स को अपने बच्चों और घर के बुजुर्गों की सेहत का खास ख्याल रखना होगा। जिन लोगों को दिल से संबंधित रोग, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, सांस से संबंधित समस्याएं हैं, फेफड़े की बीमारी है, तो ऐसे लोगों के लिए यह मौसम नुकसान पहुंचा सकता है। सर्दी-जुकाम होने से बच्चों में कफ की समस्या से सीने, नाक, गले में कंजेशन की समस्या हो सकती है। उन्हें बारिश में भीगने ना दें। शाम में खेलने के बाद नहाने से मना करें। बच्चों और बुजुर्गों को सांस से संबंधित रोग है, तो उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इन दिनों कोशिश करें खुद को मौसमी बीमारियों से बचाने की ताकि आपको हॉस्पिटल कम से कम जाना पड़े।

Also Read

More News

सामान्य बुखार और कोरोना में फर्क (Flu & Corona fever difference) 

कोरोनावायरस के आम लक्षण (Common Symptoms Of Corona)

तेज बुखार, सांस लेने में परेशानी

बहती नाक या स्टफी नाक

कफ, सूखी खांसी (Symptoms of Corona & Flu)

गले में खराश, सिर और मांसपेशियों में दर्द

मिडिल ईयर इंफेक्शन होने पर कान दर्द

Symptoms of Corona and Flu: कोरोनावायरस के लक्षण और फ्लू के लक्षणों में यूं करें फर्क

फ्लू (इन्फ्लूएंजा) Flu (Influenza) के लक्षण

बुखार

छींक आना, नाक बहना

बदन और मांसपेशियों में दर्द

खांसी

सिर दर्द

थकान

उल्टी, मिचली

गले में खराश

दस्त आदि।

ऐसे बरतें सावधानी (Tips to avoid  Seasonal diseases) 

-अधिक ठंडी चीजें ना खाएं।

- फ्रिज का ठंडा पानी बहुत ज्यादा ना पिएं।

- बासी भोजन की बजाय ताजा भोजन करें।

- शरीर को ढंक कर रखें।

- हर समय एसी में ना रहें।

- कूलर का पानी बदलते रहें।

- गर्म चीजें पिएं जैसे हल्दी-दूध या फिर काढ़ा।

- गले में खराश हो तो गर्म पानी से गार्गल करें, भाप लें।

- गुनगुना पानी पिएं।

- बारिश में बच्चों को ना भीगने दें।

इम्यूनिटी बूस्ट करने के खाएं लहसुन और प्याज

बरसात के मौसम में इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए ऐसी डायट लेनी चाहिए, जो एंटीवायरल प्रॉपर्टी वाली हो। इसके लिए आप लहसुन, प्याज, अदरक, हल्दी का सेवन करें। ये सभी इम्यून सिस्टम को मजबूत करने वाले हर्ब्स और फूड्स हैं।

सर्दी-खांसी और अन्य बारिश की बीमारियों से बचाती है यह औषधि

Cough & Cold : सर्दी-खांसी की समस्या नहीं करेगी परेशान, करें उज्जायी प्राणायाम

Cold and Cough Remedies: सर्दी-ज़ुकाम से राहत पाने के लिए आज़माएं ये 3 चीज़ें

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on