Advertisement

Tips to control blood sugar levels easily: खाना खाने के बाद हो जाता है ब्लड शुगर लेवल बेकाबू, तो रोज़ करें ये 10 काम, होगा फायदा

पीपी शुगर का तेज़ी से बढ़ना कई स्थितियों पर भी निर्भर करता है। इसीलिए, कुछ विशेष बातों का ध्यान रखकर आप पीपी शुगर को बढने से रोक सकते हैं। ऐसी ही कुछ ट्रिक्स के बारे में पढ़ें यहां। (Tips to control blood sugar levels easily)

Tips to control blood sugar levels easily: डायबिटीज में ब्लड शुगर लेवल की लगातार जांच करना (Regularly checking blood sugar levels in diabetes) और उसे अंडर कंट्रोल रखना सबसे महत्वपूर्ण है। क्योंकि, ब्लड शुगर लेवल का अनियंत्रित होने का अर्थ है कि डायबिटीज से जुड़ी अन्य बीमारियों और जटिलताओं (Complications in diabetes) को बढ़ावा देने का रिस्क लेना। डायबिटीज एक मेटाबॉलिक डिसॉर्डर (Metabolic disorder) है और इसकी वजह से लोगों को कई तरह की गम्भीर बीमारियां भी हो सकती हैं जैसे हार्ट डिज़िज़ेज़ (heart disease), डायबिटिक फूट (Diabetic Foot) और नर्व डैमेज (Nerve Damage) आदि। इसके अलावा हाई ब्लड शुगर लेवल से आंखों की रोशनी, किडनी (kidney) और लीवर (lever) जैसे अंगों पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

हाई ब्लड शुगर लेवल साबित हो सकता है सेहत के लिए हानिकारक

डायबिटीज में ब्लड शुगर कंट्रोल करने में डायट सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। क्योंकि, आप जो भी खाते हैं उसके आधार पर आपका ब्लड शुगर लेवल घटता या बढ़ता है।  भोजन के बाद ब्लड में ग्लूकोज़ लेवल में होने वाली बढ़ोतरी को पोस्ट-प्रैंडल ब्लड शुगर लेवल (postprandial) या आफ्टर मील हाइपरग्लाइसेमिया (after meal hyperglycemia) कहा जाता है। पीपी शुगर (PP Sugar) का तेज़ी से बढ़ना कई स्थितियों पर भी निर्भर करता है। इसीलिए, कुछ विशेष बातों का ध्यान रखकर आप पीपी शुगर को बढने से रोक सकते हैं। ऐसी ही कुछ ट्रिक्स के बारे में पढ़ें यहां। ( Tips to control blood sugar levels easily in Hindi)

Also Read

More News

संतुलित आहार लें

अपनी थाली में शामिल की जाने वाली सभी चीज़ों पर ध्यान दें। देखें कि आपकी थाली में मिठाइयां (sweets), व्हाइट ब्रेड (White bread) और अन्य ऐसे फूड्स ना हों जिनसे आपका ब्लड शुगर लेवल तेज़ी से बढ़ सकता है। अपना मील प्लान तैयार करते समय इस बात का पूरा ध्यान रखें कि आप जो खाने वाले हैं उसका असर आपके ब्लड शुगर लेवल पर किस तरह पड़ सकता है। (diet tips for diabetics)

6 मील प्लान है आपके ही के लिए

डायबिटीज मैनेजमेंट में यह भी एक महत्वपूर्ण नियम माना जाता है कि डायबिटिक व्यक्ति एक निश्चित अवधि के बाद कुछ ना कुछ ज़रूर खाए। इससे ब्लड शुगर लेवल को बहुत अधिक गिरने से रोका जा सकता है। वहीं, कई स्टडीज में ऐसा पाया गया है कि दिन में केवल ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर जैसे मुख्य मील्स के अलावा डायबिटिक्स को कम मात्रा में थोड़ा-थोड़ा भोजन करना चाहिए। एक्सपर्ट्स के अनुसार, डायबिटीज में हर 2 घंटें बाद कुछ हेल्दी स्नैक्स, फ्रूट्स और सलाद या नट्स जैसी चीज़ें खानी चाहिए। ये मुख्य भोजन से पहले लगने वाली भूख को भी शांत करेंगी और ब्लड शुगर लेवल्स में होने वाले उतार-चढ़ाव को भी नियंत्रित करेंगी।

इन बातों का भी रखें ध्यान

  • तनाव से बचें।
  • खूब पानी पीएं।
  • हेल्दी डायट के साथ एक्सरसाइज भी करें।
  • ग्लाइसेमिक इंडेक्स के आधार पर भोजन का चयन करें। हमेशा लो-जीआई फूड्स  (Low GI-Foods) को अपनी डायट में शामिल करें।
  • कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा भोजन में कम रखें।
  • भोजन के बाद कम से कम 20 मिनट वॉक करें।
  • सुबह खाली पेट चाय या कॉफी पीने से बचें।
  •  आंवला, मेथी, जीरा, कलौंजी और करेले जैसे नैचुरल फूड्स ब्लड शुगर लेवल्स को कम करते हैं। रोज़ाना इनमें से किसी एक चीज़ का सेवन करें।
  • जल्दी सोएं और जल्दी उठें। (Benefits of early sleeping and early rising)

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on