Advertisement

वर्ल्ड हेपेटाइटिस डे 2018 : हेपेटाइटिस से जुड़ी झूठी बातें और उनका सच

क्या हेपेटाइटिस का उपचार केवल आयुर्वेदिक और हर्बल दवाओं से संभव है।

हेपेटाइटिस लीवर की बीमारी का एक प्रमुख कारण है। इसी के बारे में जागरूकता फैलाने के लिहाज से हर साल 28 जुलाई को विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाया जाता है। हम में से ज़्यादातर लोगों को हेपेटाइटिस के प्रकार और इसे रोकने के तरीकों के बारे में ही पता। लेकिन इस बीमारी से जुड़ी कई झूठी बातें और मिथक भी हैं जिन्हें लोग सच मान बैठते हैं।  जैसे बहुत से लोगों को लगता है कि पीलिया या जॉन्डिस हेपेटाइटिस का कारण है लेकिन सच तो यह है कि पीलिया हेपेटाइटिस का एक लक्षण भर है और इसका कारण नहीं है। हमने हेपेटाइटिस के बारे में ऐसे ही कुछ प्रचलित मिथकों के पीछे का सच जानने की कोशिश की।

मिथक 1: जॉन्डिस केवल पानी से उत्पन्न संक्रमण के कारण होता है।

सच: जॉन्डिस और क्रोनिक हेपेटाइटिस रक्त से उत्पन्न वायरस के कारण होते हैं। ये वायरस सिरोसिस का भी कारण बन सकता है जिसे लीवर की एक गंभीर बीमारी माना जाता है। हेपेटाइटिस बी एक ऐसा इंफेक्शन है जिसकी रोकथाम की जा सकती है। हेपेटाइटिस बी के लिए एक वैक्सिन भी है जो कि जन्म के बाद लगाया जाता है। जिन वयस्कों ने टीका नहीं लिया है, वे हेपेटाइटिस बी का टेस्ट कराने के बाद यह टीका ले सकते हैं।

Also Read

More News

मिथक 2: पीलिया से ठीक होने के लिए केवल सादा भोजन खाना चाहिए।

सच: पीलिया से पीड़ित लोगों के शरीर में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट के साथ अच्छी मात्रा में कैलोरी की भी ज़रूरत पड़ती है। कई दिनों तक केवल सादा और उबला हुआ खाना खाने से बीमारी के दौरान प्रोटीन और कैलोरी की कमी हो सकती है। इसलिए, जितनी भूख लगे उतना खाना खाएं और संतुलित मात्रा में स्वस्थ आहार खाने खाएं जिसमें फैट, प्रोचीन और अन्य ज़रूरी तत्व शामिल हों।

सच 3: आयुर्वेदिक और हर्बल दवाएं एकमात्र प्रभावी उपचार हैं।

तथ्य: सबसे बड़ा मिथक यही है कि इस बीमारी के लिए कोई इलाज नहीं है, केवल आयुर्वेदिक और हर्बल दवाएं ही काम कर सकती हैं और लोगों को ठीक कर सकती हैं। ज्यादातर लोग उपचार के लिए नकली डॉक्टरों और जालसालों के चक्कर में पड़ जाते हैं जो अलग-अलग तरीकों के नुस्खे आजमाने की सलाह देते हैं। लेकिन सच यह है कि हेपेटाइटिस का इलाज किया जाता है लेकिन तभी जब लोग सही चिकित्सकों के पास इलाज के लिए जाएं और इस बीमारी के लक्षणों का पता लगते ही समय पर उपचार की कोशिश करते हैं।

 चित्रस्रोत: Shutterstock.

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on