Advertisement

हनी-लेमन वाला गुनगुना पानी है वेट लॉस का बेस्ट फॉर्मूला, पर क्या डायबिटिक्स इसका सेवन कर सकते है?

हनी-लेमन वाला गुनगुना पानी है वेट लॉस का बेस्ट फॉर्मूला, पर क्या डायबिटिक्स इसका सेवन कर सकते है?

अक्सर हाई ब्लड शुगर के लोगों के मन में डर होता है कि कहीं कोई मीठी चीज़ खाने से उनका ब्लड शुगर लेवल बढ़ ना जाए। जैसा कि, शहद मीठा होता है इसीलिए, डायबिटिक्स को इसके सेवन को लेकर हमेशा उलझन बनी रहती है।

Honey and Diabetes: क्या आपको डायबिटीज़ (Diabetes) है और आप जानना चाहते है कि क्या आपको गर्म पानी में शहद और नींबू मिलाकर पीना चाहिए? (Hot water with lemon-honey), शहद के साथ नींबू और गुनगुना पानी वेट लॉस (weight loss drink) और बॉडी डिटॉक्स के लिए एक पॉप्युलर ड्रिंक है। इससे, कोलोन की सफाई होती है, डायजेस्टिव सिस्टम बेहतर तरीके से काम करता है, बॉडी डिटॉक्स होता है और कॉन्स्टिपेशन (constipation home remedies) से आराम मिलता है। लेकिन, फिर भी कुछ स्थितियां ऐसी हैं जिनके चलते लोग इस ड्रिंक को पीने से बचते हैं। ऐसी ही एक समस्या है हाई ब्लड शुगर के लोगों के लिए शहद के सेवन से नुकसान का डर। जैसा कि, शहद मीठा होता है इसीलिए, डायबिटिक्स को इसके सेवन को लेकर हमेशा उलझन बनी रहती है। (Honey and Diabetes in hindi)

Weight Management during Lockdown: कम एक्सरसाइज़ और ओवर ईटिंग से बढ़ सकता है वज़न, लॉकडाउन में वेट लॉस होता रहेगा, बस अपनाएं ये 4 हेल्दी इटिंग टिप्स

क्या डायबिटिक्स शहद का सेवन कर सकते है? (Honey and Diabetes):

इस सवाल का सीधा-सीधा जवाब है हां, लेकिन, सीमित मात्रा में। डायबिटिक्स के लोगों के लगता है कि शक्कर की तरह हर मीठी चीज़ उनके लिए नुकसानदायक है। लेकिन, आपको अपनी डायट में जिस चीज़ पर ध्यान देना चाहिए, वह है कार्बोहाइड्रेट्स की मात्रा। अगर, आप बहुत कम मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स का सेवन करते हैं तो मीठा या शक्कर का सेवन सीमित मात्रा में कर सकते हैं। (tips for diabetes)

Also Read

More News

Weight Loss Tips: मेटाबॉलिक रेट हो अच्छी तो तेज़ी से होता है वेट लॉस, लॉकडाउन में घर में रहकर यूं बढ़ाएं मेटाबॉलिज़्म

कितना सेफ है डायबिटीज़ में शहद का सेवन:

क्लिनिकल स्टडीज़ में ऐसा कहा गया है कि, डायबिटिक्स (diabetics diet tips) के लिए शक्कर और बाकी स्वीटनर्स के मुकाबले शुद्ध शहद का सेवन ज़्यादा फायदेमंद होता है। अब अगर आपके मन में सवाल आ रहा है कि कैसे? तो जवाब यह रहा।  दरअसल, शहद का ग्लाइसेमिक इंडेक्स (glycaemic index) कम होता है। हालांकि, इसमें कैलोरी अधिक होती है और यह शक्कर की तुलना में अधिक मीठा होता है।

एक्सपर्ट्स के अनुसार, एक चम्मच शहद में 17 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। साथ ही, इसे शक्कर के मुकाबले कम इंसुलिन की ज़रूरत पड़ती है। इन सभी खूबियों के आधार पर कहा जा सकता है कि डायबिटिक्स कम और सीमित मात्रा में शहद का सेवन कर सकते हैं।

Covid and Ayurveda: कोविड-19 से सुरक्षा के लिए लें आयुर्वेद की मदद, जानें क्यों इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय ने दी यह हर्बल काढ़ा पीने की सलाह

हालांकि, अगर आपका ब्लड शुगर लेवल बहुत हाई है तो, शहद का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर या डायटिशन से इस बारे में बात करें। इसके साथ ही शहद का शुद्ध और ऑर्गेनिक होना भी आवश्यक है। बाज़ार में मिलने वाले पैकेज्ड हनी में शक्कर की मिलावट हो सकती है। (Honey and Diabetes)

Weight Loss Tip: लॉकडाउन में घर बैठने से बढ़ गया है वजन, तो वेट लॉस के लिए करें लहसुन का सेवन ऐसे

Immune Boosting Tips: कोविड-19 इंफेेक्शन से दूर रहने के लिए स्ट्रॉन्ग इम्यूनिटी है बेस्ट तरीका, घर में बनाएं ये 3 हर्बल टी़ जिन्हें पीने से बढ़ती है इम्यूनिटी

Weight Loss Healthy Food: चाहिए स्लीम फिगर और फ्लैट टमी, तो खाएं अलसी के बीज

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on