• हिंदी

क्या HIV positive मां अपने बच्चे को ब्रेस्टफीड करा सकती है?

क्या HIV positive मां अपने बच्चे को ब्रेस्टफीड करा सकती है?

अगर आप एचआईवी पॉजिटिव हैं और जल्द ही मां बनने वाली हैं, तो आपको इस आर्टिकल को पढ़ना चाहिए!

Written by Editorial Team |Published : December 11, 2017 5:38 PM IST

ऐसा माना जाता है कि एचआईवी से पीड़ित मां से बच्चे को यह इन्फेक्शन प्रेगनेंसी लेबर, डिलीवरी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ट्रांसमिशन हो सकता है। साल 2009 में डब्लूएचओ ने महिलाओं को एक साल तक एंटीरेट्रोवाइरल दवाएं लेने की सलाह दी ताकि बच्चों में इन्फेक्शन होने का बहुत कम जोखिम रहे। हालांकि कई अध्ययनों के अनुसार, मां के दूध से एचआईवी वायरस के खतरे को खत्म करने में मदद मिलती है।

जर्नल पेडियेट्रिक ड्रग्स में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, बेशक फार्मूला फीड से बच्चे को कई अन्य समस्याओं का खतरा होता है लेकिन एचआईवी ट्रांसमिशन का जोखिम कम होता है। दूसरी तरफ एंटीरेट्रोवाइरल ड्रग्स से प्रेगनेंसी और डिलीवरी के दौरान एचआईवी ट्रांसमिशन को कम कर सकता है लेकिन ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इसका असर कम देखा गया।

कई अध्ययन के अनुसार, अगर मां हाइली एक्टिव एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपी (एचएएटीटी) ले रही है, तो प्रेगनेंसी के दौरान एचआईवी ट्रांसमिशन का खतरा कम हो सकता है। कई टेस्ट में यह पाया गया है कि एंटीरिट्रोवाइरल के साथ उपचार करने से छह सप्ताह के बाद ट्रांसमिशन रेट को 1.2 फीसदी तक कम किया जा सकता है। हालांकि यह देखा गया है कि जो मां एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपी लेती है ब्रेस्टफीडिंग के दौरान उसके बच्चे को वायरस फैलना का खतरा कम होता है।

Also Read

More News

यही कारण है कि डब्ल्यूएचओ सलाह दी है कि सभी महिलाएं चाहे वो एचआईवी से पीड़ित हों, उन्हें शुरूआती छह महीनों तक बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग करानी चाहिए।

मुंबई स्थित जेन हॉस्पिटल में कंसल्टेंट गाइनोकोलोजिस्ट डॉक्टर गौरी गोर के अनुसार, देश में एचआईवी पॉजिटिव महिलाओं और ब्रेस्टफीडिंग को लेकर विभिन्न धारणाएं हैं। अधिकतर कपल्स इस मामले में खुलकर सामने नहीं आते हैं। ऐसे कई कपल्स को हमारी यह सलाह रहती है कि डिलीवरी के बाद छह महीने तक वो फीडिंग कराने से बचे। ब्लड टेस्ट होने के बाद और मां में वायरल लोड चेक करने के बाद ही यह फैसला लिया जाता है कि वो फीडिंग करा सकती हैं या नहीं।

Read this in English

अनुवादक – Usman Khan

चित्र स्रोत - Shutterstock

सन्दर्भ- 1: Slater M, Stringer EM, Stringer JS. Breastfeeding in HIV-positive women: What can be recommended? Paediatr Drugs. 2010;12(1):1-9. doi: 10.2165/11316130-000000000-00000. PubMed PMID: 20034337.