Advertisement

Inguinal Hernia in hindi : शरीर में दिखाई दें ये बदलाव तो समझ लीजिए हो गई हर्निया की शिकायत! पुरुषों में इंफर्टिलिटी का कारण बन सकता है ये हर्निया

शरीर में दिखाई दें ये बदलाव तो समझ लीजिए हो गई हर्निया की शिकायत! पुरुषों में इंफर्टिलिटी का कारण बन सकता है ये हर्निया

Inguinal Hernia In Hindi: इनगुइनल हर्निया (Inguinal Hernia) आमतौर पर पेट के ग्रोइन एरिया (Groin Hernia) में होता है। दर्द के साथ इसके कई लक्षण होते हैं।

Inguinal Hernia in hindi  : इनगुइनल हर्निया (Inguinal Hernia) को वंक्षण हर्निया भी कहते हैं। यह आमतौर पर पेट के निचले हिस्‍से या ग्रोइन एरिया (Groin Hernia) में होता है। इनगुइनल हर्निया तब होता है जब कमजोर या नर्म सेल्‍स कमज़ोर रास्‍ते से होते हुए पेट की निचली मांसपेशियों, पेट और जांघों के बीच में जाकर बाहर फ़ैल जाते हैं। अगर आसान भाषा में समझें तो यह स्थिति तब होती है जब टिशू पेट की मांसपेशियों के आगे निकल जाते हैं और ग्रोइन एरिया को प्रभावित करने लगते हैं।

वैसे तो इस तरह का हर्निया किसी को भी हो सकता है लेकिन यह महिलाओं से ज्‍यादा पुरुषों में आम होता है। इनगुइनल हर्निया खतरनाक नहीं है और न ही जानलेवा है। लेकिन हां इसके जब शरीर में इसके लक्षण दिखने शुरू होते हैं तो यह आपको जरूर परेशान कर सकता है। यदि इसके लक्षणों को समय रहते पहचानकर इलाज शुरू कर दिया जाए तो यह कंट्रोल हो सकता है, हालांकि ऐसा बहुत कम होता है क्‍योंकि हर्निया का इलाज सर्जरी से ही कामयाब होता है। अच्‍छी बात यह है कि इसकी सर्जरी बहुत सामान्‍यहोती है, जिसमें आपको किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है।

इनगुइनल हर्निया के लक्षण (Symptoms Of Inguinal Hernia)

  • झुकते वक्‍त, खांसत वक्‍त या एक्‍सरसाइज करते वक्‍त शरीर में दर्द होना
  • छाती में जलन महसूस होना
  • जोड़ों में दर्द होना
  • पेट और जांघ के बीच वाले हिस्‍से में दर्द होना
  • अंडकोष में सूजन आना, आदि

इनगुइनल हर्निया के कारण (Causes Of Inguinal Hernia)

  • यह रोग जेनेटिक भी हो सकता है
  • पुरुषों में यह रोग होना आम है
  • प्रीमेच्‍योर यानि कि समय से पहले जन्म होना
  • अधिक वजन या ओबेसिटी
  • सिस्टिक फाइब्रोसिस
  • पुरानी खांसी
  • पुराना कब्ज, आदि

सर्जरी के बाद इन चीजों का रखें खास ख्‍याल

इनगुइनल हर्निया की सर्जरी बहुत सामान्‍य होती है और इसमें ऑपरेशन के बाद मरीज को घर भेज दिया जाता है। लेकिन अगर मरीज की तबीयत सही न हो या वह अच्‍छा महसूस नहीं कर रहा है तो डॉक्टर मरीज को अस्‍पताल में भर्ती होने की सलाह देते हैं। सर्जरी के बाद मरीज को मूत्र त्‍याग करने में दिक्‍कत हो सकती है। इसलिए मूत्राशय में एक कैथेटर लगाया जा सकता है। पुरुषों में सर्जरी के कुछ घंटों तक मूत्र त्याग करने में दर्द, जलन और खुजली जैसी दिक्‍कतें हो सकती हैं। सर्जरी के बाद भारी भरकम काम करने से बचना चाहिए। सर्जरी के कम से कम 3 सप्‍ताह बाद पुरुष संभोग कर सकते हैं।

क्‍या पुरुषों में इनफर्टिलिटी का कारण बन सकता है इनगुइनल हर्निया?

ऐसा बहुत देखा जाता है कि इनगुइनल हर्निया पुरुषों में इनफर्टिलिटी का कारण बन रहा है। हालांकि यह पूरी तरह से असंभव भी नहीं है। यदि लंबे समय पर इनगुइनल हर्निया का इलाज न किया जाए तो यह पुरषों के शुक्राणुओं को प्रभावित कर सकता है जिससे उन्‍हें पिता बनने में दिक्‍कतों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए यदि आपको उपरोक्‍त बताए गए इनगुइनल हर्निया के लक्षणों में से कुछ महसूस हों तो तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें। यदि डॉक्‍टर सर्जरी कराने की सलाह देते हैं तो तुरंत हामी भरें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on