Advertisement

HIV पॉजिटिव हैं? कैसे बचायेंगे अपने घरवालों को!

सेक्स न करने के अलावा क्या करने से संक्रमण फैलने का खतरा हो जाय कम!

एचआईवी हुआ है इसका मतलब ये नहीं कि वे परिवार के लोगों के साथ नहीं रह सकते हैं। यानि कहने का मतलब ये है कि परिवार के साथ रहने में कोई प्रॉबल्म नहीं है, कोई खतरे की बात नहीं है बशर्ते की एचआईवी के मरीज का किसी के साथ शारीरिक संबंध न हो। हां, छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखने पर परिवार को इस बीमारी से संक्रमित होने से बचाया जा सकता है। अगर आपको एचआईवी हुआ है तो इन बातों पर दे ध्यान!

  • सबसे पहले इस बात का ध्यान रखें कि रेजर, टूथब्रश या इयरिंग किसी के शेयर न करें। क्योंकि किसी भी तरह से घाव, कटने, छिलने पर एचआईवी के फैलने का डर रहता है।

Also Read

More News

  • अगर मरीज के रक्त या फ्लूइड के संपर्क में कोई आता है तो तुरन्त अपने हाथ साबुन या पानी से धोयें अगर आपने ग्लोब्स भी पहने हो तो।

  • अगर मां एचआईवी पॉजिटिव है तो प्रेगनेंसी के दौरान आपका ये वायरस शिशु तक भी जा सकता है। यहां तक कि ब्रेस्टफिडिंग के दौरान भी शिशु के संक्रमित होने का सबसे ज्यादा खतरा होता है। हां, बीमारी का अगर पहले से पता लग जाये तो उसका इलाज होने पर तुरन्त डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

  • एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि मरीज के सिरिंज का इस्तेमाल घर का कोई भी सदस्य न करें क्योंकि भारत के बहुत से प्रांत में अभी भी अनस्ट्रेलॉइज्ड सिरिंज का इस्तेमाल हो रहा है।

एचआईवी पॉजिटिव मरीज को फूड से होने वाले बीमारियों से बचना होगा साथ ही उसको कोल्ड, कफ, दस्त के मरीजों से भी दूरी बरतनी पड़ेगी। यहां तक कि पशु-पक्षियों के पिंजरे से भी दूर रहना बेहतर होगा।

Read this in English.

अनुवादक: Mousumi Dutta

चित्र स्रोत: Shutterstock 

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on