Sign In
  • हिंदी

क्या सच में DASH Diet से कम होता है हार्ट अटैक का खतरा, जानिए क्या है हृदय रोग विशेषज्ञ की सलाह

एक नई स्टडी में यह सामने आया है कि डाइट में बदलाव करने से हृदय रोगों या फिर ब्लड प्रेशर आदि में अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं जो बाकी लाइफस्टाइल के बदलावों से नहीं देखने को मिले थे।

Written by Atul Modi |Published : September 27, 2022 4:26 PM IST

हमारी डाइट हमारे स्वास्थ्य को प्रभावित करती है यह बात बिल्कुल सही है क्योंकि अगर हमारा खान पान हेल्दी है तो हमारा स्वास्थ्य भी हेल्दी रहेगा लेकिन अगर हम बाहर की चीजें आदि का ज्यादा सेवन करते हैं तो डायबिटीज, मोटापा और दिल के रोगों का रिस्क ज्यादा बढ़ जाता है। हमारी पूरी सेहत डाइट से प्रभावित होती है। इसलिए अगर आपको किसी भी बीमारी का रिस्क कम करना है और शरीर से भी फिट रहना है तो आपको हेल्दी डाइट का पालन करना चाहिए। आइए जानते हैं वैज्ञानिकों की रिपोर्ट में डाइट और हृदय रोगों के बीच क्या संबंध सामने आए हैं।

डाइट और हृदय रोगों के बीच संबंध

एक नई स्टडी जिसमें, लाइफस्टाइल की आदतों में बदलाव के नतीजे से भविष्य में हृदय रोगों में लाभ देखने को मिला है, ने केवल एक ही बदलाव को ज्यादातर सुझाया है और वह है दिल के लिए हेल्दी डाइट का चुनाव करना। ऐसा करना बाकी के बदलावों के मुकाबले ज्यादा हेल्दी है। अगर आप दिल के लिए लाभदायक डाइट (DASH Diet) का चुनाव करते हैं तो आपका ब्लड प्रेशर बाकी बदलावों जैसे वजन कम करना और शारीरिक एक्टिविटी आदि ज्यादा करना के मुकाबले ज्यादा अच्छे कंट्रोल में रह सकता है। ऐसा करना जवान और वृद्ध उम्र के लोगों में लाभदायक देखा गया है जिनमें हाइपरटेंशन की पहली स्टेज है और उसका उपचार शुरू नहीं करवाया गया है।

शोधकर्ताओं ने पिछले ट्रायल्स का डाटा प्रयोग किया जिसमें 2018 से 2027 के बीच के 35 से 64 साल के ब्लड प्रेशर के मरीजों का डेटा था। इन लाइफस्टाइल बदलावों में डाइट, फिजिकल एक्टिविटी, धूम्रपान करना बिल्कुल बंद करना, वजन कम करना और शराब का सेवन बंद करना आदि शामिल था। इस मॉडल में देखने को मिला कि इन लाइफस्टाइल में होने वाले बदलावों के कारण 2900 मौतों को होने से बचाया जा सकता था। इन मृत्यु का कारण स्ट्रोक और हार्ट से जुड़ी बीमारियां थी।

Also Read

More News

DASH Diet से कम होता है हार्ट अटैक का खतरा?

एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट, मुंबई के सीनियर कार्डियोलॉजिस्ट, डॉक्टर संतोष कुमार डोरा ने बीपी कंट्रोल करने में DASH (Dietary Approaches to Stop Hypertension) डाइट का कितना महत्त्व है, को समझाते हुए कहा है कि डाइट आपके ब्लड प्रेशर और हार्ट अटैक के रिस्क को कंट्रोल करने में बहुत लाभदायक है। दिल के लिए हेल्दी डाइट का सेवन करना हाइपर टेंशन को कंट्रोल करने की एक बेस्ट एप्रोच है। इस डाइट में आप फल, सब्जियों, होल ग्रेन, सीरियल्स, दाल, फलियां, लो फैट डेयरी प्रोडक्ट्स, लीन मीट, मछली और कम नमक वाली चीजों को शामिल कर सकते हैं। रोजाना आपको नमक की 2300 mg मात्रा का ही सेवन करना चाहिए।

हो सकता है बहुत से लोगों के पास यह सारी चीजें उपलब्ध न हो या फिर वह इन चीजों को अफोर्ड नहीं कर पा रहे हों और इसलिए ही इन चीजों का सेवन करने से वांछित रह जाते हो। अगर ऐसा है तो आप को कभी कभी इन हेल्दी चीजों का सेवन करना चाहिए लेकिन जंक फूड और ऑयली फूड का सेवन बिलकुल बंद कर देना चाहिए खास कर बाहर की चीजों का क्योंकि बाहर की चीजों में नमक और तेल की मात्रा बहुत ज्यादा पाई जाती है जो आपका ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ा सकती है जिस कारण आपका दिल की बीमारियों का रिस्क बहुत ज्यादा बढ़ सकता है।

निष्कर्ष

बिना तेल, चीनी और ज्यादा नमक से बने खाने का सेवन करने वाले स्वस्थ रहते हैं और उन्हें हृदय की बीमारियों का रिस्क भी बहुत कम रहता है इसलिए अगर आप दिल के मरीज हैं तो आप को अपनी डाइट पर काफी ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है ताकि लंबी और स्वस्थ उम्र को जिया जा सके। हफ्ते में या फिर महीने में एक बार आप बाहर का खाना खा सकते हैं और कुछ समय बाद उसे भी बंद कर दें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on