Sign In
  • हिंदी

क्या आपको पता है सप्ताह में चार अंडे खाने से टाइप-2 डाइबीटिज का खतरा कम होता है?

अंड – शिळे अंड खाणे हे आरोग्यासाठी अपायकारक आहे. जर तुम्ही सुटी अंडी विकत घेत असाल तर सावध रहा. कारण यामुळे तुम्हाला अंड्यांची वैधता समजत नाही.म्हणूनच अंडी घेतल्यानंतर ती फार काळ ठेवू नका.

अंडा सिर्फ पेट की चर्बी ही कम नहीं करता है बल्कि टाइप-2 मधुमेह का खतरा भी कम करता है।

Written by Mousumi Dutta |Updated : April 19, 2017 6:41 PM IST

कहते हैं संडे हो या मंडे रोज खायें अंडे, लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि हफ़्ते में सिर्फ चार अंडे खाने से टाइप-2 डाइबीटिज होने का खतरा कम हो जाता है। वैसे तो अंडे खाने के बहुत से फायदे है, जैसे- देखने की शक्ति उन्नत होती है, त्वचा में निखार आता है साथ ही त्वचा संबंधी अनेक समस्याएं कम होती है, और आजकल की सबसे बड़ी तमन्ना वज़न कम करने और पेट की चर्बी कम करने में भी यह कार्यकारी रूप से काम करता है। टाइप-2 मधुमेह दुनिया में बहुत तेजी से बढ़ रहा है।

इस क्षेत्र में  'अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन' में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि जिन पुरुषों ने प्रति सप्ताह चार अंडे खाए, उनमें टाइप-2 मुधमेह होने का खतरा, सप्ताह में केवल एक अंडा खाने वाले पुरुषों की अपेक्षा 37 फीसदी कम था। पूर्वी फिनलैंड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने वर्ष 1984 से 1989 के बीच 42-से 60 साल तक की आयुवर्ग के 2,332 पुरुषों की खान-पान की आदतों का मूल्यांकन किया। इसके बाद 19 साल इनके फॉलोअप के दौरान 432 पुरुषों को टाइप-2 मधुमेह होने का पता चला।

अंडा खाने से टाइप-2 मधुमेह  को कैसे लाभ पहुँचता है? 

Also Read

More News

अध्ययन में पाया गया कि अंडे के सेवन से टाइप-2 मधुमेह का खतरा और रक्त में ग्लूकोज स्तर कम हुआ। इस दौरान शारीरिक गतिविधि, शारीरिक मास इंडेक्स, धूम्रपान और फल तथा सब्जियों के सेवन जैसे संभव कारकों को भी ध्यान में रखा गया। सप्ताह में चार से ज्यादा अंडे खाने का कोई अतिरिक्त लाभ नहीं हैं। इसके अतिरिक्त कोलेस्ट्राल, अंडों में लाभकारी पोषक तत्व होते है, जो प्रभावी हो सकते हैं। उदाहरण के यह लिए ये ग्लूकोज चयापचय और निम्न-स्तर की सूजन पर प्रभावी हो सकते हैं, जिससे टाइप-2 मधुमेह का खतरा कम होता है।

स्रोत: IANS Hindi

चित्र स्रोत:  Getty images


हिन्दी के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिए हमारा हिन्दी सेक्शन देखिए।लेटेस्ट अप्डेट्स के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो कीजिए।स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के लिए न्यूजलेटर पर साइन-अप कीजिए।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on