Advertisement

Dyslexia: शब्‍दों को पहचानने से लेकर स्‍पेलिंग में गलती करने तक, उम्र के साथ ऐसे बदलते हैं बच्‍चों में डिस्लेक्सिया के लक्षण

Dyslexia Sign & Symptoms In Children: कई बार पेरेंट्स को लगता है कि बच्‍चा पढ़ने से आनाकानी कर रहा है या उसका मन नहीं है इसलिए वो जानबूझकर न पढ़ पाने का नाटक कर रहा है। पेरेंट्स को यह समझना चाहिए कि ये लक्षण डिस्‍लेक्सिया के हो सकते हैं।

डिस्लेक्सिया (Dyslexia) एक न्‍यूरोलॉलिकल डिसऑर्डर है जिसमें बच्‍चे को पढ़ने में दिक्‍कत आती है। डिस्लेक्सिया नामक लर्निंग डिसऑर्डर से जूझ रहे बच्‍चे स्‍पेलिंग पढ़ने, शब्‍दों का उच्‍चारण करने और अक्षरों को मिलाकर पढ़ पाने में असमर्थ होते हैं। डिस्लेक्सिया को हिंदी में अधिगम अक्षमता कहते हैं। क्‍योंकि डिस्‍लेक्सिया में पढ़ने, समझने और याद करने में दिक्‍कत आती है इसलिए ऐसे बच्‍चे अपनी उम्र के लोगों से पिछड़ जाते हैं। कई बार पेरेंट्स को लगता है कि बच्‍चा पढ़ने से आनाकानी कर रहा है या उसका मन नहीं है इसलिए वो जानबूझकर न पढ़ पाने का नाटक कर रहा है। पेरेंट्स को यह समझना चाहिए कि ये लक्षण डिस्‍लेक्सिया के हो सकते हैं। करीब 10 प्रतिशत बच्‍चों में ये लर्निग डिसऑर्डर देखा जाता है। हालांकि हर बच्‍चे में डिस्लेक्सिया के लक्षण अलग अलग हो सकते हैं और ये उम्र के साथ बदलते रहते हैं। आज हम आपको उम्र के हिसाब से बच्‍चों में डिस्‍लेक्सिया के लक्षण बता रहे हैं।

symptoms-of-dyslexia-in-hindi

7 साल की उम्र के बाद बच्‍चों में डिस्‍लेक्सिया का पता चलता है (Dyslexia Gets Diagnosed At The Age Of 7 Years)

डिस्‍लेक्सिया के लक्षण एक बच्‍चे से दूसरे बच्‍चे में अलग हो सकते हैं। इसमें बच्‍चों को शब्‍दों को मिलाकर पढ़ने में दिक्‍कत आती है कई बार आप बच्‍चों को पढ़ाई से संबंधित कुछ चीज बताएंगे तो वो जल्‍दी नहीं समझ पाएंगे। हालांकि कभी-कभी ऐसा भी होता है कि बच्‍चों को कुछ निश्चित शब्‍द या वाकया को पढ़ने में दिक्‍कत आती है। डिस्‍लेक्सिया से पीड़ित बच्‍च शारीरिक रूप से एकदम सही होते हैं लेकिन जब इन्‍हें स्‍कूल भेजा जाता है तब डिस्‍लेक्सिया के बारे में पता चलता है क्‍योंकि स्‍कूल में बच्‍चा पढ़ता है और नई चीजों को सीखता है। हालांकि डिस्‍लेक्सिया के बच्‍चे दूसरी एक्टिविटीज में जैसे कि पेंटिंग, कंप्‍यूटर, म्‍यूजिक, डांस और स्‍पोर्ट्स में बेहतर हो सकते हैं। बता दें कि 7 साल की उम्र में इसके बाद बच्‍चों में डिस्‍लेक्सिया का पता चलता है।

उम्र के हिसाब से बच्‍चों में डिस्‍लेक्सिया के लक्षण (Dyslexia Sign & Symptoms Age-wise)

प्रीस्‍कूल में बच्‍चों में डिस्‍लेक्सिया के लक्षण

  • किसी शब्‍द के पहले अक्षर को बोलने में दिक्‍कत आना
  • दो शब्‍दों की राइमिंग को न पहचान पाना
  • नए शब्‍दों को सीखने में मुश्किल होना
  • बार-बार सीखाने के बावजूद अक्षरों को न पहचान पाना
  • सिंपल शब्‍दों का भी गलत उच्‍चारण करना
  • सिंपल शब्‍दों में कही गई बातों का भी न समझ पाना

Kids

प्राइमरी स्‍कूल के बच्‍चों में डिस्‍लेक्सिया के लक्षण

  • किसी शब्‍द के बीच के अक्षर को बोलने या समझने में दिक्‍कत होना, या फिर उस शब्‍द को बोलते वक्‍त मुंह से अलग-अलग आवाजें आना जैसे कि श्‍याम, पेंस‍िल, Apple, School
  • सिंपल शब्‍दों को पढ़ने वक्‍त काफी ध्‍यान से देखना और बोलने में काफी जोर लगाना
  • जिस शब्‍दों को बच्‍चा सीख चुका है उन्‍हें जल्‍दी भूल जाना
  • गणित समझने में दिक्‍कत होना
  • बच्‍चे का रिडिंग या किताबों से दूर भागना

मिडिल ग्रेड (5वीं-7वीं कक्षा तक) के बच्‍चों में डिस्‍लेक्सिया के लक्षण

  • स्‍पेलिंग में काफी गलतियां करना
  • किसी वाकया या पैराग्राफ को बोलने से पहले बार-बार पढ़ना
  • जिस स्‍पीड से बच्‍चा बोलता है उस तरह पढ़ नहीं पाता
  • याद की हुई या समझी हुई किसी बात को थोड़ी देर बाद ही भूल जाना

Dyslexia-Disease-in-Children

हाई स्‍कूल ग्रेड के बच्‍चों में डिस्‍लेक्सिया के लक्षण

  • जोर जोर से रीडिंग करते वक्‍त छोटे शब्‍दों को छोड़ देना और जल्‍दी से आगे पढ़ना
  • हाई स्‍कूल लेवल के दूसरे बच्‍चे जिस तरह से पढ़ पाते हैं उस तरह से न पढ़ पाना
  • शॉर्ट आनसर या फिल इन द ब्‍लैक (Short Answer Or Fill-In-The-Blank) को करने के बजाय वैकल्पिक प्रश्‍नों (Multiple-Choice Questions) को चुनना

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on