Sign In
  • हिंदी

Eye Twitching : बार-बार फड़कती है आंख, ये हैं 6 कारण

Eye Twitching : बार-बार फड़कती है आंख, ये हैं 6 कारण।

आपने ध्यान दिया होगा कई बार आपकी एक आंख अजीब तरह से करने लगती है। इसे आंखों का फड़कना कहते हैं। इसमें आंख के आसपास की मांसपेशियां अपने आप संकुचित होती हैं, जिससे यह समस्या होती है। जानें, आंखें किन कारणों से फड़कती (Causes of Eye Twitching) हैं...

Written by Anshumala |Published : May 11, 2020 8:37 AM IST

Eye Twitching : आपने ध्यान दिया होगा कई बार आपकी एक आंख अजीब तरह से करने लगती है। इसे आंखों का फड़कना कहते हैं। एक एक आम बात है। इसमें आंख के आसपास की मांसपेशियां अपने आप संकुचित होती हैं, जिससे यह समस्या होती है। हालांकि, आंखों के फकड़ने से कोई नुकसान नहीं होता है। कुछ देर बाद यह अपने आप ही बंद भी हो जाती है, लेकिन किसी-किसी को यह कई दिनों या महीनों तक होता रहता है, जिसे नजरअंदाज करना ठीक नहीं है। आमतौर पर एक आंख की निचली पलक में ऐसा होता है, लेकिन ऊपरी पलक में भी ऐसा हो सकता है। जानें, आंखें किन कारणों से फड़कती (Causes of Eye Twitching) हैं...

तनाव

जब आप तनाव में होते हैं, तो आपका शरीर भी अलग-अलग तरह से प्रतिक्रिया देता है। आंखों का फड़कना तनाव (aankh phadakna ke karan) का ही एक संकेत हो सकता है खासकर तब, जब आपको आंखों में तनाव जैसी कोई दृष्टि संबंधी समस्या होती है।

एलर्जी

जिन लोगों को आंखों की एलर्जी होती हैं, उन्हें आंखों में खुजली, पानी आना और फड़कना जैसी समस्या हो सकती है। इससे निपटने के लिए डॉक्टर किसी ड्रॉप या दवा की सलाह दे सकता है।

Also Read

More News

आंखों में तनाव

दृष्टि संबंधी परेशानी होने पर चश्मा लगाने या चश्मा बदलने की जरूरत पड़ती है। इससे आंखों में तनाव होता है। मामूली आंखों की समस्या से भी आंखें फड़क सकती हैं। कंप्यूटर का अधिक इस्तेमाल, ऐन्टीडिप्रेसेंट दवाएं लेने, कॉन्टैक्ट लेंस पहनने वालों को ड्राई आई का अधिक खतरा होता है। आंख की सतह के लिए नमी को बनाए रखने से ऐंठन को रोकने और फड़कने के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है।

लॉकडाउन में इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स देखते-देखते आंखों को होती है कई समस्याएं, डायट में शामिल करें ये फूड्स

पोषक तत्वों की कमी

खाने में मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्वों की कमी के कारण भी पलक की ऐंठन को गति मिल सकती है, इसलिए अपने भोजन में मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें।

कैफीन

अधिक मात्रा में कैफीन के सेवन से भी आंखें फड़कने लगती हैं, इसलिए कॉफी, चाय और चॉकलेट आदि का कम सेवन करना चाहिए। कम से कम एक या दो हफ्ते तक इन चीजों का सेवन नहीं करने से आंखें फड़कना बंद हो जाता है।

थकान

तनाव या किसी अन्य वजह से जब आपकी नींद पूरी नहीं हो पाती है, तो ऐसे में आपकी आंख फड़फड़ा सकती है। एक अच्छी नींद लेने से आपको इसे रोकने में मदद मिल सकती है।

ये है गर्मी में होने वाली आंखों और त्वचा की समस्याओं का एक्सपर्ट समाधान

Tips for Eye Care: लंबे समय तक स्क्रीन देखने से आंखों की बढ़ रही हैं समस्याएं, फॉलो करें ये टिप्स

Eye Exercises : तीन एक्सरसाइज, जों आंखों की सेहत के लिए हैं बेस्ट

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on