Advertisement

Black Fungus Causes: कोविड-19 इलाज में इन ग़लतियों से बढ़ रहा है ब्लैक फंगस का ख़तरा, एक्सपर्ट ने बताया कहां हो रही है चूक

कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोविड-19 के इलाज के दौरान होनेवाली कुछ ग़लतियों के कारण ब्लैक फंगल इंफेक्शन की आशंका बढ़ती है। यहां पढ़ें म्यूकोरमाइकोसिस या ब्लैक फंगल इंफेक्शन के कुछ ऐसे ही संभावित कारणों के बारे में।

Black Fungus Causes: कोरोना वायरस संक्रमण से पीड़ित लोगों के लिए समय पर उपचार और पर्याप्त मात्रा में मेडिकल सुविधाएं नहीं मिल पाने के कारण उनकी स्थिति गम्भीर होने का खतरा लगातार बना हुआ है। वहीं, जिन मरीज़ों को इलाज मिल रहा है, उनमें से कई लोगों में रिकवरी के बाद ब्लैक फंगल इंफेक्शन की समस्या देखने को मिली है। ब्लैक फंगल इंफेक्शन के लगातार बढ़ते मामलों से लोगों के मन में डर भी बढ़ता जा रहा है। ब्लैक फंगस से बचाव के लिए जहां डॉक्टर मरीज़ों को जागरूक बनाने के कोशिश कर रहे हैं। वहीं, कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोविड-19 के इलाज के दौरान होनेवाली कुछ ग़लतियों के कारण ब्लैक फंगल इंफेक्शन की आशंका बढ़ती है। यहां पढ़ें म्यूकोरमाइकोसिस (Mucormycosis )या ब्लैक फंगल इंफेक्शन के कुछ ऐसे ही संभावित कारणों के बारे में।

क्या है म्यूकोरमाइकोसिस?

म्यूकोरमाइकोसिस एक दुर्लभ प्रकार का फंगल इंफेक्शन है। (What is Mucormycosis )इसे ब्लैक फंगस भी कहा जाता है। यह पुरानी बीमारी है  लेकिन कोविड-19 महामारी से पहले बहुत कम लोगों में ब्लैक फंगस संक्रमण पाया गया था।  कोविड-19 रिकवरी के बाद देश के कई अस्पतालों में ब्लैक फंगल इंफेक्शन के मामले पाए गए। जिसके बाद राज्य सरकारों ने इसे एक महामारी घोषित किया और इसके इलाज और रोकथाम के लिए त्वरीत प्रयासों पर ज़ोर दिया।

ब्लैक फंगस क्यों है जानलेवा?

इस संक्रमण को जानलेवा इसलिए माना जा रहा है क्योंकि, एक्सपर्ट्स के अनुसार, ब्लैक फंगस आमतौर पर उन लोगों में अधिक पाया जाता है जिनकी इम्यूनिटी किसी बीमारी या दवाइयों के सेवन से कमज़ोर हो जाती है। ऐसे लोगों का शरीर बैक्टेरिया और इंफेक्शन से लड़ने से सक्षम ना हो पाने के कारण इंफेक्शन को फैलने और गम्भीर होने से रोक नहीं पाता। आंकड़ों के अनुसार, ब्लैक फंगस में पीड़ित व्यक्ति की मृत्यु की आशंका 50-80 प्रतिशत तक होती है। पीड़ित व्यक्ति में फंगस हवा के माध्यम से फेफड़ों तक पहुंचता है और उन्हें कमज़ोर करने लगता है। ब्लैक फंगल इंफेक्शन की शुरूआत में आमतौर पर ये लक्षण (Black Fungus Symptoms) दिखायी देते हैं-

Also Read

More News

  • साइनस
  • नाक की त्वचा का रंग काला पड़ना
  • आंखों में दर्द
  • नज़र कमज़ोर होना या साफ-साफ दिखायी ना देना

क्या इलाज से जुड़ी किसी ग़लती से फैल रहा है ब्लैक फंगस?

ब्लैक फंगस के बाद अब व्हाइट फंगस और येलो फंगस के मामले भी सामने आ रहे हैं। इस प्रकार के फंगल इंफेक्शन के फैलने के पीछे कोविड-19 संक्रमण के इलाज से जुड़ी कुछ ग़लतियों को भी वजह माना जा रहा है। (Mistakes that cause black fungus) जैसे-

डायबिटीज में स्टेरॉइड का अधिक इस्तेमाल

कुछ दिनों पहले एम्स प्रमुख डॉ.रणदीप गुलेरिया ने डायबिटीज से पीड़ित कोविड-19 मरीज़ों में स्टेरॉइड के अधिक इस्तेमाल को ब्लैक फंगस की एक वजह बताया था। वहीं, एक्सपर्ट्स की यह भी राय है कि आईसीयू में बहुत दिनों तक रखे गए जिन मरीज़ों को स्टेरॉइड दिया गया है। उनमें, ब्लैक फंगस का अनुपात बाकी मरीज़ों की तुलना में अधिक रहा। (Black Fungus Causes)

गंदे ऑक्सीजन सिलेंडर

ऑक्सीजन सैचुरेशन कम होने पर जहां ऑक्सीजन सिलेंडरों की मदद से मरीज़ों की जान बचायी गयी । वहीं, ऐसा भी कहा जा रहा है कि, सप्लाई और डिमांड की आपाधापी में इंडस्ट्रीयल ऑक्सीजन के सिलेंडर की सफाई ठीक तरीके से नहीं हो सकी है। ऐसे में गंदें सिलेंडरों में ही ऑक्सीजन अस्पतालों और फिर मरीजों तक पहुंचायी गयी है। सिलेंडरों की साफ-सफाई की इस कमी को भी ब्लैक फंगस से जोड़कर देखा जा रहा है। तो इन स्थितियों को भी इंफेक्शन के फैलने की वजह माना जा रहा है-

  • सिलेंडरों में उपलब्ध करायी जा रही ऑक्सीजन की अशुद्धता या ख़राब क्वालिटी
  • कोविड केयर सेंटर्स में ऑक्सीजन सप्लाई करने वाले जम्बो सिलेंडर्स में जमा फंगस या गंदगी
  • ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली पाइपों की गंदगी
  • कंटेनर में अशुद्ध पानी का इस्तेमाल

Stay Tuned to TheHealthSite for the latest scoop updates

Join us on