Advertisement

आलू खाने से नहीं बढ़ता ब्लड शुगर लेवल, जानें एक्सपर्ट्स ने किस आधार पर किया ये दावा

एक हालिया रिसर्च में वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि कड़े परीक्षण और क्लिनिकल ट्रायल्स के दौरान यह पाया गया है कि, डायबिटीज के मरीज़ों को आलू खाने (Eating Potato in Diabetes) से परहेज करने की आवश्यकता नहीं हैं।

Potato in Diabetes:  डायबिटीज के मरीज़ों को आलू (Potato diet) खाने से मना किया जाता है। क्योॆकि,ऐसा कहा जाता है कि आलू खाने से ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) तेज़ी से बढ़ता है। लेकिन, एक हालिया रिसर्च में इस बात को झूठला दिया गया है।  वैज्ञानिकों का दावा है कि कड़े परीक्षण और क्लिनिकल ट्रायल्स के दौरान यह पाया गया है कि, डायबिटीज के मरीज़ों को आलू खाने (Eating Potato in Diabetes) से परहेज करने की आवश्यकता नहीं हैं।

क्या डायबिटीज में आलू खाना चाहिए?

आलू (Potato Diet) को हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स  फूड माना जाता है इसीलिए, इससे ब्लड शुगर लेवल में तेज़ी से इज़ाफा होने का डर बना रहता है।  खासकर, टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) में लोगों को आलू खाने से मना किया जाता है। इसे एक हाई ग्लाइसेमिक फूड होने के वजह से ब्लड शुगर कंट्रोल (Blood Sugar Control) के लिए हानिकारक माना जाता है। यही नहीं रात के खाने (डिनर में)  आलू खाने से ब्लड ग्लूकोज़ लेवल के बहुत अधिक बढ़ जाने की संभावना बतायी जाती है। जिसे,  कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों  (cardiovascular disease) और endothelial dysfunction के खतरे के साथ जोड़कर देखा जाता है।  (Eating Potatoes in Diabetes)

लेकिन, इस स्टडी के मुताबिक शरीर में ग्लाइसेमिक रिस्पॉन्स (Glycemic Response) के लिए केवल भोजन का ग्लाइसेमिक इंडेक्स ही एकमात्र पैमाना नहीं है। इस स्टडी के परिणाम दर्शाते हैं कि, आलू खाने (Potato Based Diet) के तरीके के आधार पर ग्लाइसेमिक रिस्पॉन्स में बदलाव आते हैं। जैसे, जब बासमती चावल (Basmati Rice) जैसे लो जीआई फूड (और कार्बोहाइड्रेट) के साथ आलू खाए जाते हैं, तो ग्लाइसेमिक रिस्पॉन्स कम होता है।  जर्नल क्लिनिकल न्यूट्रिशन (Clinical Nutrition) में इस स्टडी को प्रकाशित किया गया।

Also Read

More News

[caption id="attachment_775353" align="aligncenter" width="620"]Eating Potatoes in Diabetes आलू (Potato Diet) को हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स  फूड माना जाता है इसीलिए, इससे ब्लड शुगर लेवल में तेज़ी से इज़ाफा होने का डर बना रहता है।[/caption]

डायबिटीज में आलू खाने से क्या होता है ?

स्टडी के दौरान प्रतिभागियों को एक ही तरह का नाश्ता और लंच दिया गया। लेकिन, डिनर के लिए 4 अलग-अलग ऑप्शन्स दिए गए। जिसमें, छिलका रहित आलू को 3 अलग-अलग तरीकों से पकाया गया। जैसे, उबले हुए आलू, भूने हुए आलू और उबले हुए आलूओं को दोबारा पकाकर परोसा गया। वहीं, कुछ लोगों को बासमती राइस खाने के लिए कहा गया। इस स्टडी के दौरान 9 दिनों तक ऐसा किया गया और उसके बाद ब्लड सैम्पल्स की जांच की गयी। जिसमें पाया गया कि,

  • आलू खाने के बाद लोगों के ब्लड शुगर लेवल में कोई बदलाव नहीं देखा गया।
  • कुछ प्रतिभागियों के ग्लूकोज़ रिस्पॉन्स बेहतर पाए गए।
  • शाम को बासमती राइस खाने वाले लोगों की तुलना में आलू खाने वाले लोगों का जीआर बेहतर था।

रिसर्च के परिणामों के आधार पर इससे जुड़े शोधकर्ताओं का कहना है कि टाइप टू डायबिटीज के मरीज़ों के लिए आलू (Diabetic Diet Tips) एक अच्छा फूड हो सकता है क्योंकि, उबले हुए आलूओं में कम कैलोरी होती है और इससे कई प्रकार के पोषक तत्व (Nutrition) प्राप्त होते हैं। (Potato in Diabetes)

डायबिटीज़ का रिस्क कम करता है स्टीम बाथ, जानें स्टीम बाथ लेने के कुछ और फायदे

डायबिटीज की वजह से बर्बाद हो सकती है आपकी सेक्स लाइफ, हाई ब्लड शुगर से होती हैं ये 5 सेक्सुअल प्रॉब्लम्स

ब्लड शुगर लेवल रखें नियंत्रित, नहीं होगा कोविड-19 इंफेक्शन, जानें हाई ब्लड शुगर के लक्षण और कुछ उपाय

कोविड-19 से बचने और डायबिटीज़ मैनेजमेंट के लिए ये हेल्दी आदते आएंगी काम, जिन्हें लोग करते हैं दुनियाभर में फॉलो

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on