Sign In
  • हिंदी

असुरक्षित सेक्स के अलावा और किन चीजों से फ़ैल सकता है एचआईवी?

क्या आप जानते हैं की अगर प्रेगनेंट महिला पहले से HIV संक्रमित है तो breast milk के कारण बच्चा भी इसका शिकार हो सकता है!

Written by Editorial Team |Updated : January 5, 2017 8:43 AM IST

मैं एक 28 साल का पुरुष हूँ और मैं सेक्सुअली बहुत एक्टिव हूँ। मैंने अब तक कई पार्टनर के साथ सेक्स कर चुका  हूँ। मैं जानना चाहता हूँ कि शरीर से निकलने वाले कौन-कौन से लिक्विड के कारण एचआईवी का खतरा रहता है।

इस बारे में हमने दिल्ली स्थित प्राइमस सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल की सीनियर कंसलटेंट गायनकोलोजिस्ट डॉ. शेली सिंह से बात की। उन्होंने बताया कि एचआईवी (HIV) वायरस संक्रमित खून और सेक्स के दौरान निकलने वाले लिक्विड के कारण सबसे आसानी से फैलता है। कोई भी इंसान तब एचआईवी की चपेट में आता है जब यह वायरस शरीर में एकदम अंदर प्रवेश कर जाता है। अधिकतर मामलों में यह वायरस सीमेन के जरिये या ब्रेस्ट मिल्क या वैजाइनल फ्लूइडके जरिये शरीर में प्रवेश करता है। वास्तव में देखा जाए तो ओरल सेक्स करते समय या किसिंग के दौरान अगर एक बूँद भी इन्फेक्टेड ब्लड आपके मुंह में चला जाता है तो इससे भी एचआईवी संक्रमित होने का खतरा रहता है। शरीर से निकलने वाले ये सब लिक्विड पेनिस से या वैजाइना से या शरीर में कहीं चोट लगी हो तो उस कटी हुई जगह पर खून के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। यहाँ तक की अगर आप किसी को स्मूच कर रहे हैं और आपका पार्टनर एचआईवी संक्रमित है और उसके मसूड़ों या दांतों में से खून रिस रहा है तो ऐसे में लार के साथ खून की कुछ मात्रा आपके मुंह में भी जा सकती है। जिससे आगे चलकर आप भी एचआईवी संक्रमित हो सकते हैं।

अधिकतर लोग सिर्फ यही जानते हैं की सिर्फ असुरक्षित यौन संबंध बनाने से या संक्रमित इंजेक्शन का इस्तेमाल करने से ही कोई एचआईवी संक्रमित हो सकता है। जबकि इसके अलावा और भी कई कारण है जिससे आप इस बीमारी की चपेट में आ सकते हैं। इसलिए इससे जुड़ी जागरूकता बहुत ज़रूरी है। अगर प्रेगनेंट महिला या बच्चे को जन्म दी हुई महिला पहले से ही एचआईवी संक्रमित है तो ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान ब्रेस्ट मिल्क के कारण भी संक्रमण माँ से बच्चे में फ़ैल सकता है। कुछ मामलों में संक्रमित ब्लड प्रोडक्ट्स और ऑर्गन ट्रांसप्लांट के कारण भी आप इस गंभीर बीमारी के शिकार हो सकते हैं। हेल्थकेयर के पेशे से जुड़े लोग और पैथोलॉजी में काम करने वाले डॉक्टर को भी इस बात की चेतावनी दी जाती है की जब वे एचआईवी संक्रमित मरीज का ब्लड टेस्ट करें या चेकअप करें तो खुद को उसके इन्फेक्टेड ब्लड के संपर्क से दूर रखें। सबसे खास बात यह जान लें की एचआईवी कभी भी किसी कीड़े या मच्छर के काटने, पानी, पसीने, आंसू के संपर्क में आने या किसी के साथ टॉयलेट शेयर करने, हाथ मिलाने और गले मिलाने से नहीं फैलता है। इसलिए सही जानकारी पर ध्यान दें और अफवाहों से खुद को दूर रखें।

Also Read

More News

Read this in English

अनुवादक: Anoop Singh

चित्र स्रोत: Shutterstock

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on