Sign In
  • हिंदी

Earwax से जुड़े 10 आम सवाल और उनके जवाब

अक्सर सफाई से इयरवैक्स भी जल्दी-जल्दी बनता है और कान की नलिकाओं में खुजली होने लगती है।

Written by Editorial Team |Updated : January 5, 2017 8:41 AM IST

कान का मैल या इयरवैक्स का बनना क्या एक साधारण बात है? — जब हम अपने या बच्चों के कान में इयरवैक्स बनता देखते हैं तो यही सबसे पहला और आम सवाल है जो पूछा जाता है। आपको कितनी बार और कब-कब इयरवैक्स की सफाई करानी चाहिए? क्या यह किसी बीमारी का संकेत है? क्या इयरवैक्स बनते ही मुझे डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए? आपके मन में भी इनमें से कोई न कोई सवाल तो ज़रूर आया होगा। इसलिए आपकी मदद के लिए हमने बात की डॉ. अशिम देसाई से जो अपोलो स्पेक्ट्रा हॉस्पिटल्स, मुंबई में सीनियर कंसल्टेंट( इएनटी) हैं। डॉ. देसाई ने हमें बताया इयरवैक्स से जुड़े 10 आम सवालों के उत्तर जो लोग अक्सर उनसे पूछते हैं।

1. कानों की सफाई कब-कब करनी चाहिए?

लोगों को अपने कान की सफाई तब करानी चाहिए जब कान में बहुत अधिक वैक्स बन जाए। अगर कोई अपने कानों को अक्सर ( हर दिन या सप्ताह में 2-3 बार) तो इससे कान की नलियों में बहुत अधिक रुखापन और खुजली होने लगती है।

Also Read

More News

2. इयरवैक्स की सफाई का सही तरीका क्या है?

कान की सफाई का सबसे अच्छा तरीका है गीले कपड़े से कान के बाहरी हिस्से को पोंछना। साथ ही आप बेबी ऑयल, मिनरल ऑयल या बाज़ार में मिलनेवाले इयर ड्रॉप से कान की सफाई कर सकते हैं।

3. वैक्स बनना कब समस्या का कारण बनता है?

अगर आपको कान में बहुत अधिक खुजली, दर्द या तकलीफ महसूस हो, सुनने में परेशानी या बहरापन महसूस हो, कान में भिनभिनाहट सुनाई पड़े तो इएनटी स्पेशलिस्ट से सम्पर्क करें।

4. क्या इयरवैक्स का बनना एक साधारण बात है?

जी हां, इयरवैक्स का बनना पूरी तरह साधारण बात है और थोड़ी मात्रा में वैक्स बनना स्वस्थ भी क्योंकि यह कानों की सफाई का प्राकृतिक तरीका है। साथ ही इयरवैक्स में लुब्रिकेशन और एंटीबैक्टेरियल गुण भी होते हैं।

5. इयरवैक्स कैसे साफ नहीं करना चाहिए?

सबसे बेकार लेकिन सबसे आम तरीका जिससे लोग कान साफ करने की कोशिश करते हैं वह है कान में लकड़ी, पेंसिल या कागज या माचिस की तीली डालना। पेन और चाभी जैसी नुकीली चीज़ें कान में डालने से कान के परदे या इयर ड्रम में छेद हो सकता है। इसी तरह रूई या कॉटन स्वैब से इयरवैक्स कान में और गहरे चला जाता है जिससे ब्लॉकेज हो सकता है। अगर रूई का फाहा सही तरीके से इस्तेमाल नहीं किया जाता तो इससे सुनने की शक्ति कमज़ोर होने लगती है।

6.क्या इयरवैक्स किसी बीमारी का संकेत है?

जी नहीं, इयरवैक्स किसी बीमारी का लक्षण नहीं है बल्कि यह कान के स्वस्थ होने और सही तरीके से काम करने का प्रमाण देते हैं। लेकिन अगर आपको बार-बार कान में ब्लॉकेज या रुकावट महसूस हो जो किसी ड्रॉप या तेल से भी ठीक नहीं हो रहा हो तो सही कारण पता लगाने के लिए डॉक्टर से सम्पर्क करें।

7. कान में अतिरिक्त वैक्स बनने से कैसे रोका जा सकता है?

आप इयरवैक्स बनने से नहीं रोक सकते। अक्सर सफाई से इयरवैक्स भी जल्दी-जल्दी बनता है और कान की नलिकाओं में खुजली होने लगती है। इसीलिए अतिरिक्त वैक्स जमा होने से बचने के लिए एक निश्चित अवधि के बाद कानों की सफाई करें लेकिन जल्दी-जल्दी नहीं।

8. क्या ग़लत तरीके से इयरवैक्स की सफाई से बीमारियां होती हैं?

ग़लत तरीकों से वैक्स की सफाई से कान की नलियों को नुकसान पहुंचता है। अचानक से कान में दर्द, सूजन, सुनने में परेशानी या इयर ड्रम में छेद जैसी तकलीफें हो सकती हैं जिनसे आगे चलकर बहरेपन का खतरा बनता है।

9. क्या इयरकैंडल से कानों की सफाई सुरक्षित तरीका है?

कई लोगों का मानना है कि इयर कैंडल के इस्तेमाल से कानों की अच्छी सफाई होती है। लेकिन यह तरीका सुरक्षित नहीं है क्योंकि इससे सुनने की शक्ति कम हो सकती है।

10. क्या इयरवैक्स को पूरी तरह से साफ कर देना चाहिए?

ज़रूरी नहीं, क्योंकि कान की सफाई की अपनी एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। केवल बहुत अधिक वैक्स बनने की स्थिति में कान की सफाई की जाती सकती है। अतिरिक्त वैक्स बाज़ार में मिलनेवाले इयरवैक्स पिघलाने वाले ड्रॉप्स की मदद से साफ किया जा सकता है।

Read this in English.

अनुवादक -Sadhna Tiwari

चित्र स्रोत- Shutterstock

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on