• हिंदी

खड़े रहने में परेशानी के साथ 4 समस्याएं बताती हैं कमजोर हो रही है हड्डियां, जानें बोन डेंसिटी कम होने के लक्षण

खड़े रहने में परेशानी के साथ 4 समस्याएं बताती हैं कमजोर हो रही है हड्डियां, जानें बोन डेंसिटी कम होने के लक्षण

अगर आप भी अक्सर ये लक्षण नोटिस करते हैं, तो आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए और हड्डियां मजबूत बनाने के लिए सही जरूरी उपचार लेने चाहिए।

Written by Atul Modi |Published : December 1, 2023 3:34 PM IST

बढ़ती उम्र के साथ हड्डियों का कमजोर होना आम बात है, जिसके कारण बहुत से लोगों को जोड़ों में दर्द और बहुत लंबे समय तक खड़े रह पाने में परेशानी महसूस होती है। जब हमारी उम्र बढ़ने लगती है, तो हमारा शरीर कैल्शियम को अवशोषित करने की बजाए फॉस्फेट को अवशोषित करने लगता है। जबकि हड्डियों स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी पोषक तत्व है। कैल्शियम की कमी से हड्डियां कमजोर होने लगती हैं, साथ ही बोन डेंसिटी भीकम हो जाती है। इससे ऑस्टियोपोरोसिस जैसी गंभीर स्थितियों की चपेट में आने का खतरा बहुत बढ़ जाता है। इस स्थिति में आपकी हड्डियां भंगुर और काफी कमजोर हो जाती हैं, जिसके कारण हड्डियों में फ्रैक्चर बहुत जल्दी हो जाता है।

हालांकि, कई अन्य स्थितियां और जीवनशैली आदतें भी हैं, जो हड्डियों की डेंसिटी को प्रभावित करती हैं और उन्हें कमजोर बनाती हैं जैसे संतुलित आहार न लेना, शारीरिक रूप से एक्टिव न रहना, मोटापा और शरीर में पोषण की कमी आदि। लेकिन अक्सर लोग यह सवाल पूछते हैं कि अगर किसी व्यक्ति की बोन डेंसिटी कमजोर हो रही है, तो वह इसके बारे में कैसे जान सकते हैं। आपको बता दें कि बोन डेंसिटी कमजोर होने पर आपका शरीर कुछ संकेतों के माध्यम से यह बताने की कोशिश करता है, कि अब आपको अपनी हड्डियों के स्वास्थ्य पर ध्यान देने की जरूरत है। इस लेख में हम आपको ऐसे 5 लक्षण बता रहे हैं।

बोन डेंसिटी कमजोर होने के लक्षण-  Symptoms Of Low Bone Density

खड़े होने में परेशानी महसूस होना

यह सबसे आम लक्षण है, हड्डियों को कमजोर पर देखने को मिलता है। बोन डेंसिटी कमजोर होने पर लोगों को लंबे समय तक खड़े रहने पर बैचेनी महसूस होने लगती है। उनकी हड्डियों व जोड़ों में दर्द की समस्या भी हो जाती है। कई बार लोग अचानक गिर भी जाते हैं।

हड्डियों में फ्रैक्चर आसानी से हो जाता है

बोन डेंसिटी कमजोर होने की वजह से अक्सर हम देखते हैं कि कुछ लोगों को छोटी-मोटी चोट लगने पर भी हड्डी में फ्रैक्चर हो जाता है। महिलाओं में इस तरह की समस्या अधिक देखने को मिलती है। यह कूल्हे के हिस्से में फ्रैक्चर का कारण भी बनता है।

पीठ के निचले हिस्से में दर्द होता है

अगर आप कुछ समय से पीठ के निचले हिस्से में दर्द महसूस कर रहे हैं, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। क्योंकि ऐसा आमतौर पर हड्डियां कमजोर होने के कारण होता है। इस स्थिति को नजरअंदाज करने से गंभीर नुकसान हो सकता है।

शरीर झुकने लगता है

बढ़ती उम्र के साथ शरीर का झुकना आम बात है। बहुत से लोगों में यह भी देखने को मिलता है कि उनकी लंबाई घटने लगी है। अगर आप भी नोटिस नोटिस करते हैं, कि शरीर की ऊंचाई कम हो रही है, तो एक बार अपने डॉक्टर को जरूर दिखाएं। समय-समय पर अपनी लंबाई चेक भी करते रहें।

मेनोपॉज की शुरुआत

मेनोपॉज की शुरुआत से पहले महिलाओं के लिए शरीर में कई तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं। इस दौरान महिलाओं की बोन डेंसिटी बहुत कम हो जाती है, क्योंकि इस समय महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन पर्याप्त नहीं बनता है। जिससे उनकी हड्डियां बनने की बजाए, कमजोर होने लगती हैं।

हड्डियों को मजबूत कैसे बनाएं- How To Make Bones Stronger

  • सबसे पहले तो ध्यान रखें कि आप एक अच्छी डाइट को फॉलो करें
  • कैल्शियम से भरपूर फूड्स डाइट में शामिल करें
  • सुबह या शाम 10-15 मिनट  धूप में समय जरूर बिताएं, जिससे विटामिन डी मिलता है।
  • शारीरिक रूप से एक्टिव रहें
  • डॉक्टर की सलाह से विटामिन डी और कैल्शियम सप्लीमेंट्स लें।