Sign In
  • हिंदी

दांतों में होती है झनझनाहट, आजमाएं ये घरेलू नुस्खे

दांतों में झनझनाहट के कारण और उपचार। © Shutterstock.

सरसों का तेल दांतों में झुनझुनी दूर करने का बेहतर और आसान उपाय है।

Written by Anshumala |Published : March 6, 2019 10:47 AM IST

अगर आपके दांत मजबूत और हेल्‍दी हैं तो ये मुस्‍कान सदा बनी रहेगी, लेकिन कभी-कभी कई वजहों से दांतों में दर्द और झनझनाहट जैसी समस्‍या होने लगती है। कुछ विशिष्ट खाद्य पदार्थ होते हैं, जो बहुत गर्म या ठंडे होते हैं। उनके संपर्क में आने पर दांतों में दर्द या झुनझुनी और सुन्नता होने लगती है। यह बहुत जरूरी है कि आप दांतों में झुनझुनी के कारणों का पता लगाएं और उसका समाधान पाएं।

दांत-मसूड़े नहीं होंगे स्वस्थ, तो मां बनने में होगी परेशानी

दांतों में झनझनाहट के कारण

Also Read

More News

दांतों में झनझनाहट पल्पिपिटिस का संकेत है। इस स्थिति में आपके दांत के तंत्रिका और रक्त वाहिका हिस्से की सूजन या दंत पल्प शामिल है। जब इंफ्लेम्ड ब्लड वेसेल को पल्प में तंत्रिकाओं पर दबाया जाता है, तो दांतों में झुनझुनी या दर्द हो सकता है। दांतों में झनझनाहट का मुख्‍य कारण है, दांतों के कैविटी, दांतों या मसूड़ों का आघात, प्रभावित दांत, जबड़ा से संदर्भित दर्द, पल्पिपिटिस आदि।

इसे भी पढ़ें: दांतों का रखें ख्याल वरना हो सकता है आपका दिल बीमार

झनझनाहट के उपचार

- सरसों का तेल दांतों में झुनझुनी दूर करने का बेहतर और आसान उपाय है। एक चम्मच सरसों के तेल में एक छोटा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं। इससे मसूड़ों की हल्की मसाज करें। 5 मिनट के बाद गुनगुने पानी से अच्छी तरह कुल्ला कर लें। इससे दांतों में झुनझुनी लगना बंद हो जाएगा।

- दांतों में झुनझुनी के लिए आप एक चम्मच तिल का तेल, एक चम्मच नारियल तेल और एक चम्मच सरसों का तेल लेकर अच्छी तरह मिलाएं। अब इस तेल से दांतों और मसूड़ों की अच्छी तरह से मालिश करें। दिन में 2-3 बार ऐसा करने से झनझनाहट दूर होगी।

मसूड़ों की समस्या से हैं परेशान, ये 5 घरेलू नुस्खे दूर करेंगे आपकी यह समस्या

- दांतों की झनझनाहट को ठीक करने के लिए काले तिल भी गुणकारी होते हैं। काले तिल के बीज में अन्य किस्मों की तुलना में अधिक तीव्र स्वाद और सुगंध है। इसके लिए दिन में 2 बार 1-1 चम्मच काले तिल को अच्छी तरह चबाएं।

- डायट में कैल्शियम और विटामिन डी वाले खाद्य पदार्थ जैसे दूध, पनीर, दही, अंडे और मछली को शामिल करें। इसके अलावा आप नींबू, संतरे, इमली आदि जैसे अम्लीय खाद्य पदार्थों से परहेज करें।

Total Wellness is now just a click away.

Follow us on